Weather News: हरियाणा में इस दिन होगी प्री मानसून की बारिश, विभाग ने जारी किया अलर्ट
 
haryana news, haryana weather, mausam update, mausam ki jankari, rain in haryana,  haryana news today live, haryana news live today in hindi, haryana news in hindi, haryana news today, haryana news today in hindi, Haryana Samachar, top haryana news, latest haryana news, Haribhoomi News, हरियाणा न्यूज़, हरियाणा समाचार, हरियाणा समाचार हिंदी में, हरिभूमि समाचार, हरियाणा मौसम अपडेट, हरियाणा का मौसम, हरियाणा में बारिश, मौसम की जानकारी

Hisar जिसके कारण नौतपा में भी लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिल रही है। राजकीय महाविद्यालय नारनौल के पर्यावरण क्लब के नोडल अधिकारी डॉ चंद्रमोहन ने बताया कि हरियाणा व एनसीआर दिल्ली में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से लगातार मौसम गतिशील और परिवर्तनशील बना हुआ है और सम्पूर्ण इलाके में तेज़ गति से हवाएं और आंधी अंधड़ के साथ हल्की बारिश की गतिविधियां देखने को मिल रही हैं।

 आने वाले एक दो दिनों के बाद उत्तरी मैदानी राज्यों पंजाब, राजस्थान, हरियाणा व एनसीआर दिल्ली में एक बार फिर तापमान में बढ़ोतरी दर्ज होगी और जून के प्रथम सप्ताहांत तक फिर से भीषण गर्मी और प्रचण्ड हीट बेव लू चलने की संभावना बन रही है।

इसके अलावा दक्षिण-पश्चिमी मानसून आज आखिरकार भारत की मुख्यभूमि पर केरल में तीन दिन पहले ही पहुंच गया है। हालांकि इस बार मानसून के आने की संभावना 27 मई को व्यक्त की गई थी। 

मगर कमजोर परिस्थितियों के कारण 2 दिन की देरी हुई, फिर भी समय से पहले मनसून केरल में पहुंच गया है। मानसून ने बीते 24 घण्टों में आगे बढ़ते हुए सम्पूर्ण लक्ष्यद्वीप, केरल, दक्षिण तमिलनाडु, श्रीलंका के कई इलाकों औऱ बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों को कवर किया है। 

अगले 3-4 दिनों में मानसून के अरब सागर के कई अन्य हिस्सों, सम्पूर्ण केरल, तमिलनाडु के कई इलाकों, दक्षिण कर्नाटक, बंगाल की खाड़ी के कई इलाकों, त्रिपुरा, मिज़ोरम, नागालैंड, मणीपुर, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय व असम में दस्तक देने के लिए अनुकूल परिस्थितियां बनी हुई है।

  जून के पहले सप्ताह के बाद मानसून कमजोर पड़ने की संभावना बन रही है इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि इस बार कमजोर नौतपा रहा है। जिससे मानसून की चाल कुछ दिनों के लिए रुक जाएगी। 

जून के दूसरे हफ्ते के अंत में मानसून फिर गति पकड़ सकता है क्योंकि एक बार फिर से उत्तरी मैदानी राज्यों में तापमान में बढ़ोतरी दर्ज होगी और भीषण गर्मी और प्रचण्ड हीट बेव लू अपने तीखे तेवरों से आगाज करेंगी और मानसून गतिविधियों में तेजी आएगी।

उत्तर मैदानी राज्यों में 31 मई के बाद बढ़ेगी गर्मी

वहीं उत्तर मैदानी राज्यों में पंजाब, चंडीगढ़, उत्तर हरियाणा, एनसीआर दिल्ली में आज व कल भी प्री मानसून गतिविधियों जिसमें तेज़ गति से हवाएं और आंधी अंधड़ चलने के साथ हल्की बारिश की गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं। 

राजस्थान, दक्षिण पंजाब, पश्चिमी हरियाणा, एनसीआर दिल्ली में मंगलवार से मौसम लगभग साफ औऱ गर्म रहेगा। दोपहर के समय हल्की-फुल्की बादलवाही देखने को मिल सकती है, दोपहर बाद कहीं-2 हल्की बारिश/बूंदाबांदी भी हो सकती है। 

31 मई के बाद सम्पूर्ण उत्तर भारत में बारिश की गतिविधियां 10 दिनों के लिए गायब हो जाएंगी। जून के शुरुआती दो हफ़्तों में उत्तर भारत में तेज गर्मी का प्रकोप देखने को मिलेगा। अधिकतम तापमान फिर से 47.0 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जाएगा। 

क्योंकि इस दौरान किसी भी कमजोर या सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के अलावा किसी अन्य मौसम प्रणाली की आने की संभावना नहीं है। हालांकि पहाड़ी राज्यों में बारिश की गतिविधियां रुक-रुक कर कभी कहीं कभी कहीं देखने को मिल सकती हैं। 

लेकिन मैदानी इलाकों में मौसम लगभग साफ, शुष्क और बेहद गर्म रहेगा। जो मानसून गतिविधियों को तीव्र सक्रिय करने में अग्रणी भूमिका निभाएंगा और मैदानी राज्यों में विशेषकर हरियाणा व एनसीआर दिल्ली में मानसून गतिविधियां ठिक तरीके और समय से होंगी।

शनिवार को हरियाणा के अनेक स्थानों पर प्री मानसून की गतिविधियां 60-70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने और अंधड़ आंधी चलने के साथ हल्की बारिश दर्ज की गई, जिसमें पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल व कैथल के साथ महेंद्रगढ़ में नारनौल और अटेली आदि स्थानों पर और रविवार को भी पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने की वजह से हरियाणा के पश्चिमी और उत्तरी के साथ मध्य और पूर्वी दक्षिणी जिलों में फिर से बादलों का फूटाव हुआ और अनेक स्थानों पर हल्की बारिश के साथ तेज आंधी चली। 

रविवार को हरियाणा एनसीआर दिल्ली के अधिकतर स्थानों पर अधिकतम तापमान 37.0 डिग्री से 43.0 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 23.0 डिग्री से 30.0 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।