IMD Alert : समय से पूर्व दस्तक देगा मानसून, 16 मई से कई राज्यों में बदलेगा मौसम, इन राज्य में हीटवेव का अलर्ट, 10 में बारिश की चेतावनी
 
IMD Alert

देश में आए चक्रवाती तूफान असानी (Cyclone Asani) का असर उड़ीसा, आंध्र सहित बंगाल और झारखंड के कुछ ऐसे में देखने को मिला है। हालांकि अब यह तूफान कमजोर पड़ चुका है। वहीं IMD Alert की माने तो इस बार देश में मानसून (early monsoon 2022) समय से पूर्व प्रवेश करेगा। हालांकि शुक्रवार से राजधानी दिल्ली सहित गुजरात राजस्थान और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में ही हीटवेव की चेतावनी (heatwave alert) जारी की गई है। शुक्रवार से लेकर 3 दिन तक इन राज्यों में हीटवेव का कहर कायम रहेगा।

राजधानी Delhi की बात करें तो कुछ ऐसे में कल तापमान (temperature) 44 से 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। हालांकि पुरवइया हवा चलने की वजह से गर्म और पछुआ हवा में कमी देखी जा रही है। गुरुवार को दिल्ली के कुछ हिस्से में हीटवेव और लू का अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही पुरवइया हवा चलने से गर्म और शुष्क पछुआ हवा मैं दबाव की स्थिति देखने को मिल रही है। हालांकि सफदरजंग शाला में अधिकतम तापमान बढ़कर 42 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। वहीं नजफगढ, मुंगेशपुर और पीतमपुरा में भी तापमान सामान्य से 5 डिग्री अधिक रिकॉर्ड किया गया है।

शुक्रवार शनिवार और रविवार को आईएमडी ने दिल्ली सहित राजस्थान मध्य प्रदेश में येलो अलर्ट जारी किया है। दरअसल इन दिनों में लू की चेतावनी जारी की गई है। वहीं लोगों को भी Heatwave से सावधान रहने का भी अलर्ट जारी किया गया है। आईएमडी का कहना है कि तापमान 46 से 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

इधर राजस्थान गुजरात ने विभीषण लू की स्थिति जारी की गई है। सुरेंद्रनगर में तापमान अधिकतम 46 डिग्री सेल्सियस पहुंच चुका है गर्म हवा के थपेड़े जारी है। मौसम साफ बना हुआ है। गुजरात और सौराष्ट्र के कई हिस्सों में शुक्रवार से 3 दिन तक हीटवेव का अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं मौसम विभाग ने 16 मई तक देश के 10 राज्यों में हल्की बारिश और मध्यम बारिश की संभावना जाहिर की है।

इसके साथ ही 8 राज्यों में हीटवेव का अलर्ट जारी किया गया है। इस बार मानसून (monsoon 2022) के जल्दी देश में प्रवेश करने के कारण मौसम में बदलाव की स्थिति दिखेगी। मंगलवार के बाद राजधानी दिल्ली सहित अन्य राज्यों में भी मौसम बदलता नजर आएगा। साथ ही जल्द एक पश्चिमी विक्षोभ (western disturbance) एक्टिव होने के कारण भी मौसम में बदलाव के साथ तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी।

वही पूर्वोत्तर राज्यों की बात करें असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम और नगालैंड में बारिश (rain alert) का दौर जारी है। मध्यम और हल्की बूंदाबांदी से मौसम सुहावना बना हुआ है। साथ ही तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट भी रिकॉर्ड की गई है जबकि पर्वतीय राज्य में तापमान बढ़ने का सिलसिला जारी है। उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश में तापमान में एक से दो फीसद की वृद्धि रिकॉर्ड की गई है जबकि जम्मू लद्दाख में भी मौसम तेज है। आसमान साफ रहने की वजह से तापमान में लगातार वृद्धि रिकॉर्ड की जा रही है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की दक्षिण पश्चिम मानसून के दक्षिण अंडमान सागर से सटे दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी में 15 मई तक प्रवेश करने की संभावना जताई गई है। दरअसल आईएमडी ने संभावना जताई है कि मानसून इस बार 15 मई तक बंगाल की खाड़ी में दस्तक दे सकता है। मानसून के प्रभाव के कारण अगले 5 दिनों तक अंडमान निकोबार दीप समूह में व्यापक रूप से मध्यम वर्षा की संभावना जताई गई। दरअसल 16 मई तक इन क्षेत्रों में छिटपुट बारिश का जारी किया गया है।

इसके अलावा केरल कर्नाटक तमिलनाडु महाराष्ट्र के कुछ ऐसे सहित गोवा के कुछ जगह पर हल्की बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है। हालांकि महाराष्ट्र और गोवा में तापमान में एक से दो फीसद की बढ़ोतरी भी रिकॉर्ड की जा सकती है।इधर चक्रवात तूफान Asani के कमजोर पड़ने के कारण आंध्र और उड़ीसा के कुछ हिस्से में हल्की बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है।

रायलसीमा सहित आंध्र के अलग-अलग इलाकों में बहुत भारी बारिश कभी अलर्ट जारी किया गया। वहीं अगले 12 घंटे में चक्रवाती तूफान के और कमजोर होने की संभावना जताई गई है। अगले 24 घंटे में आंध्र प्रदेश उड़ीसा पश्चिम बंगाल सहित पश्चिम बंगाल की खाड़ी में 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की भी आशंका जताई गई है।