सेक्स में वियाग्रा टैबलेट का उपयोग कैसे करें ?
 
I

वियाग्रा का नाम आपने कहीं न कहीं सुना ही होगा । किसी के मुंह से , किसी किताब में या किसी मेडिकल से संबन्धित वार्ता या सेक्स से जुड़ी बात पर इस नाम का जिक्र अक्सर किया ही जाता है । यह एक तरह की टेबलेट का नाम है।  वियाग्रा टेबलेट  को हिन्दी में वायग्रा या  वियाग्रा के नाम से ही जाना जाता है । लोग इसको सेक्स टेबलेट के नाम से भी जानते हैं । वियाग्रा टेबलेट महिलाओं और पुरूषो दोनो के अलग-अलग होती है यह मेडिकल स्टोर पर आसानी से उपलब्ध रहती है लेकिन इसका सेवन डाक्टर की सलाह पर करना चाहिए |

 

क्या है वियाग्रा टेबलेट ? 

 

वियाग्रा एक दवा का नाम है । यह चिकित्सा क्षेत्र के इतिहास में सबसे ज्यादा विवादास्पद दवा का नाम है । वियाग्रा नीले रंग की हीरे के आकार की एक दवा है । जिसे शुरू में हाई ब्लड प्रेशर और एनज़ाइना पेक्टोरिस के इलाज के लिए बनाया गया था। पर अब यह दवा इरेक्टाइल डिसफंक्शन की परेशानी को दूर करने इस्तेमाल की जाती है । यह नपुंसकता की परेशानी का इलाज़ करने के लिए काम में ली जाती है । वियाग्रा का इस्तेमाल दुनियाभर में  पुरुषों के द्वारा सबसे अधिक किया जाता है । वियाग्रा कुछ नहीं सिल्डेनाफिल साइट्रेट (Sildenafil Citrate) ही है। इसे देसी वायग्रा के नाम से जाना जाता है। सिल्डेनाफिल साइट्रेट टेबलेट्स को हिन्दी में देशी वियाग्रा के नाम से  ज्यादा जाना जाता है । 

 

क्या काम आती है वियाग्रा ?

 

वियाग्रा को बनाने वाला ब्रांड Pfizer है। इसमें सिलडेनाफिल (sildenafil) ड्रग का इस्तेमाल किया जाता है जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन या इम्पोटेंस जैसी समस्याओं का उपचार करता है । ज़्यादातर लोग इसका इस्तेमाल यौन शक्ति को बढ़ाने , ज्यादा देर तक यौन संबंध बनाने , शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए

काम में लेते हैं । 

 

किस तरह से काम में ली जाती है वियाग्रा ? 

 

वियाग्रा को खाना खाने से आधा घंटे पहले या फिर खाना खाने के 2 घंटों के बाद ही लिया जाता है । इसका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से ही किया जाना चाहिए । वियाग्रा का असर करीब 4-5 घंटे कर शरीर में बना रहता है । वियाग्रा का इस्तेमाल सिर्फ पुरुषों को ही करना चाहिए । हालांकि महिलाओं के लिए भी इस तरह की दवाएं बाजार में उपलब्ध हैं । पर वियाग्रा पुरुषों के लिए ही होती है । महिलाओं में इरेक्टाइल डिसफंक्शन या नपुसंकता जैसी परेशानियाँ नहीं होती है इसलिए यह पूरी तरह से पुरुषों के इस्तेमाल के लिए ही बनी हुई है । 

 

महिलाओ के वियाग्रा टेबलेट ?

 

महिलाओं के लिए वियाग्रा की अलग टेबलेट आती है जो पुरूषो की दवा के मुताबिक अलग होती है। इस दवा को फिल्बैनसेरिस पिल कहते है। इस दवा का सेवन डाक्टर की सलाह पर करना चाहिए यह दवा उन महिलाओं के लिए बेहतर साबित होती है जिनके काम्चेछा में कमी आ रही हो और सेक्स के प्रति रूची या उत्तेज्जना कम हो रही हो लेकिन इन सभी को बढाने के लिए इसका अधिक सेवन करना सेहत के हानिकारक साबित हो सकता है। महिलाओं के वियाग्रा टेबलेट न्यूरोट्रांसमिटर में प्रवेश करके उत्तजेना को बढा देती है जिससे महिलाओं की सेक्स के प्रति रूची बढने लगती है। इस दवा को डाक्टर की सलाह पर रात को सोने से पहले खानी चाहिए।  

वियाग्रा किस तरह से शरीर में काम करती है ? 

 

वियाग्रा में सिल्डेनाफ़िल नाम का सक्रिय तत्व शरीर की रक्त वाहिकाओं में माँसपेशियों को आराम देता है, जिससे शरीर के कुछ क्षेत्रों जैसे लिंग में रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।यह बेहतर रक्त प्रवाह इरेक्टाइल डिस्फंक्शन से पीड़ित पुरुषों को स्वस्थ और लंबे समय तक सेक्स के दौरान बनाए रखने में मदद करता है, जिससे सेक्स की क्षमता बढ़ती है।पर यह गोली तभी काम करती है, जब उपयोगकर्ता पहले से ही यौन उत्तेजित हो।

 

वियाग्रा टेबलेट के साइड इफेक्ट ?

वियाग्रा टेबलेट के फायदों के साथ कुछ साइड इफेक्ट भी है क्योंकि कुछ व्यक्तियों में इस दवा का बुरा असर होने लगता है जिससे कुछ समस्या या परेशानी होने लगती है इसलिए डाक्टर की सलाह पर ही वियाग्रा टेबलेट का सेवन करना चाहिए। वियाग्रा टेबलेट के साइड इफेक्ट निम्नलिखित है 

 

1. सिर में दर्द होना

 

2. चक्कर आना

 

3. आँखो की द्रष्टि का कम होना

 

4. अधिक गर्मी लगना औऱ पसीना आना

 

क्या हैं वियाग्रा के फायदे :- 

 

यादाश्त बढ़ाने में मदद :- कई सारे शोध में यह पता चला है की वियाग्रा का सेवन पुरुषों में यादाश्त बढ़ाने का काम करता है । यह डेमेंशिया की परेशानी को शुरुआत में ही रोकने का कम करती है । लंदन की सेंट जॉर्ज यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अपने एक शोध के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला है कि वियाग्रा का सेवन करने से दिमाग से जुड़े रोग ठीक किए जा सकते हैं । 

 

पल्मोनरी हाइपरटेंशन :- पल्मोनरी हाइपरटेंशन यह उच्च रक्तचाप का ही एक प्रकार है, इसको दूर करने के लिए भी वियाग्रा का इस्तेमाल किया जाता है।  यह फेफड़ों में धमनियों को और दिल की दायनी ओर को प्रभावित करता है, पल्मोनरी हाइपरटेंशन तब शुरू होता है, जब फेफड़ों में छोटी धमनियां (जिसे पल्मोनरी धमनियों कहा जाता है, ) संकुचित, अवरुद्ध या नष्ट हो जाती हैं।  यह फेफड़ों के माध्यम से होने वाले रक्त के बहाव को अवरुद्ध करने लगती है , जिससे आपके फेफड़ों के भीतर दबाव बढ़ता है।  जब दबाव बढ़ता है, तब दिल के निचले सीधे कक्ष को फेफड़ों के माध्यम से ब्लड पंप करने के लिए ज्यादा काम करना पड़ता है, जिसके कारण हृदय की मांसपेशियों कमजोर और अंत में विफल हो जाती हैं । यह एक गंभीर प्रकार का रोग है । 

 

नपुंसकता :- इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष (जिसको आम भाषा में नपुंसकता के नाम से जाना जाता है )पुरुषों द्वारा यौन संबंध बनाने के लिए लिंग में उत्तेजना पाने या उत्तेजना बनाएं रखने में असमर्थता होने की समस्या को दूर करने में वियाग्रा फायदेमंद होती है । 

पीरियड्स:- पीरियड्स के दौरान महिलाओं को होने वाले असहनीय  दर्द को कम करने में भी यह दवा काम आती है । 

 

पेड़ पौधों को हरा रखने :- यदि पेड़ पौधे सुख रहे हैं उनका ध्यान रखने पर भी वह सुख जाते हैं तो पौधो की मिट्टी  में वियाग्रा  मिला देने से उनमे हरा भरापन वापस आ जाता है ।

 

बेली फेट कम करने में :- वियाग्रा खाने से सेक्स पवार बढ़ती है , और सेक्स से कई ज्यादा केलोरीज़ बर्न होती है यह बात कई शोध में साबित हो चुकी है । ऐसे में वियाग्रा जल्दी बेली फेट कम करने में भी मददगार साबित होती है । 

 

सेक्स पावर टेबलेट्स जिनको हिन्दी में यौवन शक्ति वर्धक दवाओं के नाम से जाना जाता है वह कौन कौन सी  दवाएं है ? सेक्स के लिए जो टेबलेट्स उपलब्ध है उनमे से कुछ टेबलेट्स  :- हिमालिया tentex forte , वियाग्रा 100 एमजी , वियाग्रा 50 एमजी , vigora 50 mg , menforce , amorous जैसी कई सेक्स पावर टेबलेट्स बाज़ारों में उपलब्ध है । पर यह सभी दवाएं सिर्फ डॉक्टर्स के प्रिस्क्रिप्शन पर ही उपलब्ध होती है । इनको बिना प्रिस्क्रिप्शन और डॉक्टर की सलाह के ना खरीदें ना सेवन करें ।