Vladimir Putin :रूसी राष्ट्रपति को कैंसर! मीटिंग के दौरान पुतिन ने पकड़ ली कुर्सी, थपथपाने लगे अपने पैर
रिपोर्ट में कहा गया है कि जब पुतिन क्यूबा के राष्ट्रपति डियाज़-कैनल से मुलाकात कर रहे थे तो उस दौरान उन्होंने अपनी कुर्सी को काफी मजबूती से पकड़ रखा था. यही नहीं वो बार-बार पैरों को इधर-उधर कर रहे थे.
 
 
Vladimir Putin

Vladimir Putin :जंगी मैदान में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पलटन के पैर उखड़ रहे हैं तो पुतिन और उनकी सेहत को लेकर जो खबर आई है. जो तस्वीर आई है. वो पूरे रूस को बहुत परेशान करने वाली है. पुतिन ने एक बैठक के दौरान कुर्सी को जोर से पकड़ लिया था. अचानक पुतिन पैरों को थपथपाने लगे. कभी बाएं. तो कभी दाएं पैर को हिलाने लगे. और ये सब बंद कमरे में नहीं हुआ बल्कि कैमरे के सामने, मीटिंग के दौरान हुआ.


मीडिया रिपोर्ट में जो दावे हैं वो और भी गंभीर हैं. क्योंकि इस रिपोर्ट के साथ ना सिर्फ दावे हैं, बल्कि पुतिन की मीटिंग का वीडियो भी जारी किया गया है. जिसका एक-एक सेकेंड चौंकाने वाला है. रिपोर्ट में कहा गया है कि जब पुतिन क्यूबा के राष्ट्रपति डियाज़-कैनल से मुलाकात कर रहे थे तो उस दौरान उन्होंने अपनी कुर्सी को काफी मजबूती से पकड़ रखा था. यही नहीं वो बार-बार पैरों को इधर-उधर कर रहे थे. पैरों को हिला रहे थे. पैर थपथपा रहे थे.

कुर्सी को जोरों से पकड़े हुए थे पुतिन
रिपोर्ट की मानें तो फुटेज में रूसी राष्ट्रपति अपनी कुर्सी पर भी अजीब तरह से भी बैठे हुए दिखे. तस्वीरों के आधार पर रिपोर्ट में लिखा गया है कि मॉस्को में एक संगमरमर की चिमनी के सामने डियाज़-कैनल के साथ बात करते समय फूले हुए चेहरे वाले पुतिन को अजीब तरह से मुस्कुराते हुए भी देखा गया. वहीं उनका बायां हाथ सफेद कुर्सी की बांह के चारों ओर कसकर लिपटा हुआ दिखाई दे रहा था. जिस पर वे बैठे हैं. मानो पुतिन खुद को स्थिर करने की कोशिश कर रहे हों. पुतिन का दाहिना हाथ भी अजीबोगरीब तरीके से हरकत कर रहा है.

इन वीडियो और तस्वीरों को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि वो किसी न किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं. हालांकि सच क्या है ये कहना मुश्किल है. ऐसी रिपोर्ट्स पहली बार नहीं आई हैं. पुतिन की सेहत को लेकर इस तरह के दावे, कई रिपोर्ट यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद तेजी से आई हैं. जिनमें दावा किया गया कि रूसी राष्ट्रपति पुतिन बीमार दिख रहे हैं. उनके हाथ पैर कांप रहे हैं. चेहरे पर सूजन है. इस दौरान सवाल ये भी पूछा गया कि क्या रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को कैंसर है?

हाथ पर काले रंग के निशान!
यूक्रेन वॉर के साथ ही दुनिया में पुतिन की सेहत की चर्चा चरम पर है. 10 दिन पहले ही पुतिन की एक तस्वीर सामने आई है, उनके हाथ पर अजीब तरह के काले रंग के निशान दिख रहे हैं. पुतिन की इन तस्वीरों को लेकर दावा किया गया कि ये मार्क, नसों में लगी ड्रिप के निशान हैं..ये दावा किया गया कि ये निशान बताने के लिए काफी हैं कि वो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं.

पुतिन को कैंसर है, इसका ऐलान भी इसी वीडियो के आधार पर किया जाने लगा. विदेशी मीडिया ने उस रूसी इंटेलिजेंस के सोर्स के हवाले से रिपोर्ट तक छापी, जो क्रेमलिन के करीब है।हालांकि क्रेमलिन ने ऐसी खबरों को अफवाह बताया. वर्ल्ड मीडिया का तर्क है कि यूक्रेन युद्ध के दौरान पुतिन जब भी सामने आए हैं, वो परेशानी और तकलीफ में ही दिखे हैं.

पहले भी आईं ऐसी खबरें
कई मौकों पर पुतिन को सांस लेने में दिक्कत होती नजर आई. उन्हें बोलने में तकलीफ हुई. वो थके हुए दिखे. चेहरे फूले हुए नजर आए. एक और वीडियो में हाथ मिलाने के दौरान कांपते हुए दिखे. जब बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको से मिल रहे थे. पुतिन कंपकंपी को रोकने के लिए अपने हाथ को सीने पर लगाते दिखे. इससे पहले एक और वीडियो ने पुतिन की सेहत की खबर को सातनें आसमान पर पहुंचा दिया. 12 मिनट के एक वीडियो में पुतिन रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु से मुलाकात के दौरान टेबल का एक कोना पकड़कर बैठे दिखे. इस दौरान उनके दाहिने हाथ का अंगूठा और पांव हिलता रहा. यही नहीं पुतिन का चेहरा सूजा हुआ दिखा. बोलते वक्त उनकी आवाज लड़खड़ा रही थी. पुतिन की सेहत को लेकर अफवाहें कई बार उठी. कई बार तस्वीरें आई. लेकिन सच ये है कि अभी तक ये खबरें साबित नहीं हो सकी हैं.