हमारे देश के सबसे प्रसिद्ध नारे जिसे पढ़कर आप के शरीर में जोश आ जाएगा, देखे एक बार लिस्ट

गणतंत्र दिवस हमारे देश में साल बहुत धूमधाम से मनाया जाता है. 26 January 2023 को देश में 74वा गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा. हमारे देश का संविधान 26 January 1950 को लागू किया गया था. इसी वजह से देश में हर वर्ष 26 January को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है.
 
हमारे देश के सबसे प्रसिद्ध नारे जिसे पढ़कर आप के शरीर में जोश आ जाएगा, देखे एक बार लिस्ट

गणतंत्र दिवस हमारे देश में साल बहुत धूमधाम से मनाया जाता है. 26 January 2023 को देश में 74वा गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा. हमारे देश का संविधान 26 January 1950 को लागू किया गया था. इसी वजह से देश में हर वर्ष 26 January को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है. हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी इस अवसर को बड़े अच्छे ढंग से मनाया जाएगा. इस वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर लाल किले (Red Fort) पर होने वाले परेड (Pred) में इजिप्ट के राष्ट्रपति अब्दल फतहा अल सिसी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने वाले हैं.

देश को आजादी दिलाने के सिलसिले में कई पुरुषों ने अपनी जान तक की बाजी लगा दी थी. कई देश पहुंचा नहीं देश को आजाद कराने के लिए अपने सीने को अंग्रेजो की गोलियों से छलनी करा लिया था. तब जाकर इस महान देश आजादी मिल सकी. हम उन तमाम तंत्र सेनानियों के योगदान के कर्ज को मरते दम तक नहीं कर सकेंगे. जिनके कारण से आज हमें आजाद भारत में सांस लेने का मौका मिल रहा है. आज भी हमारे देश में स्वतंत्र सेनानियों को याद किया जाता है. जब भी देश में लोग सरकार के समक्ष अपनी मांग रखते हैं. अथवा न्याय के खिलाफ प्रदर्शन करते हैं. तो देश के अमर सेनानी के द्वारा दिए गए नारो जय जयकार करते हैं. उन नारो से मन के भीतर ऊर्जा का संचार होता है. और कुछ कर गुजरने का उत्साह उत्पन्न होता है.

आज आपको उन तमाम स्वतंत्रता सेनानियों के द्वारा दिए गए कुछ प्रसिद्ध नारों से रूबरू कराएंगे. साथ ही बताएंगे कि यह नारा किसने दिया था.

महात्मा गांधी
अंग्रेजों भारत छोड़ो

महात्मा गांधी
 भारत माता की

महात्मा गांधी
 करो या मरो

मोहम्मद इकबाल
 इंकलाब जिंदाबाद

श्याम लाल गुप्ता 
विजई विश्व तिरंगा प्यारा

जवाहरलाल नेहरू
पुरन स्वराज 

लाल बहादुर शास्त्री
जय जवान जय किसान

दयानंद सरस्वती
  वेदों की ओर वापस लौट

सुभाष चंद्र बोस
 तुम मुझे khun दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा

सुभाष चंद्रबोस
 जय हिंद
 बोस दिल्ली चलो

मोहम्मद इकबाल
 सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा

रविंद्र नाथ टैगोर
जन गण मन अधिनायक जय हो

भगत सिंह
 साम्राज्यवाद का नाश हो

बाल गंगाधर तिलक
 स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है


चंद्रशेखर आजाद
 दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगे आजाद ही रहे हैं आजाद ही रहेंगे.