बीच पर था कपल, आई लहर और डूब गई पत्नी फिर आया वॉइस मैसेज- मत ढूंढो रवि के साथ खुश हूं

वॉइस मैसेज में महिला ने कहा, "मैं जिंदा हूँ और रवि (प्रेमी) के साथ ठीक हूं. हम दोनों लंबे समय से एक दूसरे से प्रेम करते हैं, शादी कर ली हूं, हमारी चिंता न करें, ढूंढने की कोशिश न करें, मैं भाग-भाग कर थक गई हूं"

 
बीच पर था कपल, आई लहर और डूब गई पत्नी फिर आया वॉइस मैसेज- मत ढूंढो रवि के साथ खुश हूं

स्थित समुद्र तट से एक शादीशुदा महिला लापता हो गई थी, लेकिन घबराने की बात नहीं है क्योंकि इसमें अब एक फिल्मी ट्विस्ट सामने आया है और वो बेंगलुरू में अपने प्रेमी के साथ ‘सुरक्षित’ है. साई प्रिया अपने शादी के सालगिरह पर अपने पति श्रीनिवास के साथ सोमवार शाम को ‘आरके बीच’ पर सैर करने पहुंची थी, फिर अचानक लापाता हो गई. पति श्रीनिवास को लगा कि वो समुद्र की लहरों के साथ पानी में बह गई और वो डूब गई होगी.

श्रीनिवास ने पत्नी के पानी में डूबने की शिकायत दर्ज करवाई थी. उसका कहना था कि दोनों थोड़ी देर के लिए अलग हुए थे और उसकी पत्नी साई प्रिया समंदर की तरफ पैर धोने गई थी लेकिन लौटकर वापस नहीं आई. शिकायत दर्ज कराने के बाद पुलिस, शहर के प्रशासन नौसेना का हेलीकॉप्टर और विशेष तैराक समुद्र में साई प्रिया को दो दिनों तक ढूंढने की कोशिश की लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद उन्हें कुछ हासिल नहीं हुआ.

महिला ने कहा – प्रशासन से मांगना चाहती हूं माफी
शहर के थ्री टाउन पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर रामाराव ने कहा कि बुधवार को साई प्रिया के परिजनों को व्हाट्सऐप पर साई प्रिया का वॉइस मैसेज आया, जिसमें वो कह रही है कि “मैं साई प्रिया बोल रही हूं, मैं जिंदा हूँ और रवि (प्रेमी) के साथ ठीक हूं. हम दोनों लंबे समय से एक दूसरे से प्रेम करते हैं, शादी कर ली हूं, हमारी चिंता न करें, ढूंढने की कोशिश न करें, मैं भाग-भाग कर थक गई हूं, अगर ज्यादा दबाव डालोगे तो कुछ कर लुंगी. पुलिस और प्रशासन से माफी मांगना चाहती हूं. रवि के परिजनों को परेशान मत करना, इसमें उनका कोई दोष नहीं है.”

मोबाइल डेटा से बेंगलुरू में होने के संकेत
पुलिस को उसका मोबाइल कॉल डेटा संकेत दे रहा है कि वो अपने प्रेमी के साथ बेंगलुरु में है. श्रीनिवास और प्रिया की शादी दो साल पहले हुई थी, प्रिया कंप्यूटर कोचिंग के नाम पर विशाखापट्टनम में रहती थी. वो दोनों एक दूसरे से खुश नहीं रहते थे, क्योंकि साई प्रिया रवि से प्रेम करती थी. हालांकि सूत्रों का कहना है कि इस तलासी अभियान ऑपरेशन में प्रशासन ने करीब 1 करोड़ रुपये खर्च कर दिए.