अजीबों गरीब मामला: स्कूल जा रही छात्रा ने बच्चे को दिया जन्म, दंग रह गया परिवार, जानिए क्या है पूरा मामला
 
student

ब्रिटेन में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। यह मामला ब्रिटेन का है जहां पर 19 साल की एक लड़की का वीडियो इंटरनेट पर खूब चर्चा में है जिसमें उसने 15 साल की उम्र में एक बच्चे को जन्म देने का खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि उसे बिलकुल भी अंदाजा नहीं था कि वो प्रेग्नेंट है और उन्होंने अपने घर के लिविंग रूम में एक स्वस्थ बेटे को जन्म दिया.

ब्रिटेन की एलेक्सिस क्वीन अब 19 साल की हैं. एल्क्सिस ने एक टिकटॉक वीडियो में लोगों को बताया कि वो इस बात से पूरी तरह बेखबर थीं कि वो गर्भवती हैं क्योंकि उनके पीरियड्स सामान्य थे और प्रेग्नेनेंसी टेस्ट भी नेगेटिव थे. इसके अलावा पूरी प्रेग्नेंसी के दौरान उनका पेट भी बाहर नहीं निकला.

उसने बताया,  ''एक सुबह अचानक मुझे पेट में बहुत तेज दर्द हुआ और जब मैंने ये बात अपने माता-पिता से कही तो उन्हें लगा मैं स्कूल ना जाने का बहाना बना रही हूं. मैं दरवाजे के पास खड़ी थी और जैसे ही मैंने एक कदम बढ़ाया, मुझे लेबर पेन शुरू हो गया. मेरी हालत खराब होने लगी. मेरी मां उस वक्त हैरान रह गई जब उन्होंने मेरे अंदर से एक बच्चे का सिर बाहर आते देखा.''

एलेक्सिस कहती हैं कि डिलीवरी से पहले मैं अक्सर अपने सीने में जलन महसूस करती थी और उस दिन स्कूल की छुट्टी ले लेती थी. मेरी मां ने बताया कि जब वो मुझे जन्म देने वाली थीं, तब उन्हें भी सीने में जलन होती थी. 

एलेक्सिस ने अपने टिकटॉक विडियो में कहा, ''मुझे प्रेग्नेंसी के कोई लक्षण नहीं थे और मेरे पीरियड्स भी सामान्य हो रहे थे. यहां तक कि प्रेग्नेंसी टेस्ट भी नेगेटिव था. इसलिए मैं स्कूल जा रही थी और बिलकुल ठीक थी. लेकिन एक रात मुझे सोने से पहले अचानक बहुत दर्द हो रहा था तो मैंने दर्द की दवा ली.

लेकिन मुझे लगातार दर्द होता रहा और मैं पूरी रात सो नहीं पाई. मैंने सुबह छह बजे अपने पैरेंट्स को बताया कि मुझे दर्द हो रहा है और मुझे स्कूल से छुट्टी लेनी है.'' 

स्कूल जाने से ठीक पहले हो गया बच्चे का जन्म

अपनी डिलीवरी के पलों को याद करते हुए एलेक्सिस ने कहा, ''मैंने स्कूल यूनिफॉर्म पहन रखी थी और स्कूल जाने के लिए पूरी तरह तैयार थी लेकिन अचानक मैं टॉयलेट की तरफ भागी. इसके बाद मैंने चीखते हुए अपनी मां को आवाज दी और उनसे कहा कि मैं शायद बच्चे को जन्म देने वाली हूं.

मेरी मां मुझ पर चिल्लाईं और मुझे नीचे आने को कहने लगीं. उसके बाद जब उन्होंने मेरे पास आकर चेक किया तो उन्होंने बच्चे का सिर देखा. इसके बाद मेरे पिता प्रेग्नेंसी टेस्ट लेने बाहर भागे.''

जब मैंने असहनीय दर्द का अनुभव किया

अचानक हुई इस डिलीवरी के दौरान मुझे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था जो बर्दाश्त के बाहर था. मैं अपने लिविंग रूम के फ्लोर पर दर्द से तड़प रही थी. मेरे माता-पिता बहुत पैनिक में थे लेकिन मेरी आंटी ने हालात को समझते हुए तुरंत एम्बुलेंस को फोन किया. मेरी आंटी ने भी बच्चे के सिर को देखा जिसके बाद वो मेरी मां पर चिल्ला पड़ी कि तुमने इस पर भरोसा क्यों नहीं किया.

बिना डॉक्टर और मेडिकल फैसिलिटी के दिया बच्चे को जन्म

अचानक हुई इस डिलीवरी की वजह से एलेक्सिस ने बिना किसी मेडिकल फैसिलिटी के अपने बच्चे को जन्म दिया. उन्होंने बताया, ''फोन पर हॉस्पिटिल के ऑपरेटर ने मेरी आंटी को कहा कि आपको ही डिलीवरी करानी होगी. मैं बुरी तरह चीख रही थी.

जब मेरे पिता वापस आए तो उन्होंने मेरा हाथ थाम लिया. मैं लगातार कोशिश करती रही और जब मेडिकल टीम मेरे घर के गेट पर पहुँची तब तक मैं एक छोटे से बेटे को जन्म दे चुकी थी. मुझे उस वक्त एक-साथ कई तरह की भावनाएं महसूस हुईं.''

क्या है क्रिप्टिक प्रेग्नेंसी

आपने कई बार ऐसा सुना होगा कि अचानक किसी महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया और उसे पता भी नहीं था कि वो प्रेग्नेंट है. इस तरह की स्थिति को क्रिप्टिक और स्टील्थ प्रेग्नेंसी कहते हैं. क्रिप्टिक प्रेग्नेंसी (Cryptic Pregnancy) एक ऐसी स्थिति है जिसमें महिला को गर्भावस्‍था के आखिरी हफ्तों या कभी-कभी डिलीवरी तक पता नहीं चलता कि वो प्रेगनेंट है.

इसमें आम प्रेग्नेंसी की तरह कोई लक्षण नहीं दिखते हैं. ना पीरियड्स बंद होते हैं और न ही बेबी बंप आता है. कभी-कभी थकान या उल्टी होती भी है तो लोग उसे सामान्य पेट की परेशानी ही समझते हैं. इसीलिए इसे क्रिप्टिक प्रेग्नेंसी कहा जाता है और ये अपने नाम की तरह ही पूरी तरह सीक्रेट होती है.
 
इन वजहों से हो सकती है क्रिप्टिक प्रेग्नेंसी

आमतौर पर ये उन महिलाओं में होती है जिनमें हार्मोनल असंतुलन होता है. इसके साथ ही अगर कोई महिला हाल ही में गर्भवती हुई हो तो उसके हार्मोनल साइकल को वापस ठीक होने में समय लग सकता है. ऐसी स्थिति में अगर वो फिर से गर्भधारण करती है तो उसके क्रिप्टिक प्रेग्नेंसी के चांस बढ़ जाते हैं. 

अगर महिला ब्रेस्टफीड पर है तो उसमें ओव्यूलेशन दोबारा शुरू हो जाता है जिसके परिणामस्वरूप क्रिप्टिक प्रेग्नेंसी हो सकती है. इसके अलावा PCOS (पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम) से ग्रस्‍त होना, स्‍ट्रेस लेना, एल्‍कोहल या धूम्रपान का सेवन, बर्थ कंट्रोल मेथड, हॉर्मोन में गड़बड़ी भी क्रिप्टिक प्रेग्नेंसी का कारण बन सकती है.