Shikhar Dhawan: न्यूजीलैंड को चित करने के लिए कप्तान धवन ने बनाया ये तगड़ा प्लान, मैच से पहले किया खुलासा

India vs New Zealand: न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले ही कप्तान शिखर धवन ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने युवा प्लेयर्स को मौका दिए जाने के बारे में बात की. टीम इंडिया को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज खेलनी है.  
 
 
<iframe width="711" height="360" src="https://www.youtube.com/embed/NDlW5ihu3js" title="NZ v IND 3rd T20I on Prime Video India: Key Moments" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; clipboard-write; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>

Shikhar Dhawan On Indian Team: भारत अब अगले साल वनडे विश्व कप के लिए अपनी टीम को अंतिम रूप देने की राह पर है. न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में सेलेक्टर्स ने टीम इंडिया में कई युवा प्लेयर्स को मौका दिया है. टीम इंडिया की कमान शिखर धवन के हाथों में है. धवन ने मैच से पहले ही बड़ा बयान दिया है. उन्होंने टीम इंडिया की रणनीति के बारे में बात की है. 

शिखर धवन ने दिया ये बयान 

यह पूछे जाने पर कि वह सैमसन जैसे खिलाड़ियों को लेकर क्या सोचते हैं, तब कार्यवाहक कप्तान शिखर धवन ने कहा, 'ज्यादातर, हर खिलाड़ी इस चरण से गुजरता है. टीम के लिए यह अच्छा है कि टीम में बहुत सारे अच्छे खिलाड़ी हैं. ऐसे मामलों में बातचीत ही बेहतर विकल्प है, चाहे वह कोच से हो या कप्तान से हो.'

संवाद से मिलती है मदद 

शिखर धवन ने आगे बताया कि कैसे संवाद और स्पष्टता होने से बेंच पर खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन से बाहर होने से निपटने में मदद मिल सकती है. 'अगर बातचीत होती है, तो खिलाड़ी को इस बारे में स्पष्टता मिलती है कि वह क्यों नहीं खेल रहे हैं और इसके पीछे क्या कारण है, क्योंकि इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं.' न्यूजीलैंड सीरीज में सभी प्लेयर्स अच्छा प्रदर्शन कर टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करना चाहेंगे. 

उन्होंने कहा, 'तो जब वह स्पष्टता और पारदर्शिता होती है, तब भी जब कोई व्यक्ति उदास महसूस करता है, जो कि बहुत स्वाभाविक है, टीम के बड़े लाभ के लिए यह एक बड़ा कारण हो सकता है.'


धवन को लंबे समय बाद मिला मौका 

शिखर धवन ने कहा, 'कभी-कभी मैं उन्हें अपना उदाहरण देता हूं (भारतीय टीम में खुद को स्थापित करने के लिए उन्हें कितनी मेहनत करनी पड़ी), कभी-कभी मैं नहीं बताता हूं. यह इस बात पर निर्भर करता है कि लड़के पूछते हैं, तो मैं उन्हें बताता हूं.'  

करना पड़ा लंबा इंतजार 

भारतीय टीम में जगह का इंतजार करना एक ऐसी चीज है जिसे शिखर धवन अच्छी तरह से जानते हैं. 2004 के अंडर19 विश्व कप में तीन शतकों सहित 84.16 की औसत से 505 रन बनाने के लिए उन्हें प्लेयर आफ द टूर्नामेंट चुना गया था. लेकिन उन्हें अपनी भारत कैप हासिल करने के लिए 2010 तक इंतजार करना पड़ा और 2013 से, वह सभी प्रारूपों में खुद को एक मुख्य आधार के रूप में स्थापित करने में सफल रहे.