एसएचओ और कॉन्स्टेबल के बीच थे समलैंगिक संबंध, फिर 'वो' करने लगा ब्लैकमेल और वीडियो हो गया वायरल
 
I

राजस्थान में एक एसएचओ और एक कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है. दोनों के समलैंगिक संबंधों को दर्शाने वाली वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विभाग ने ये कदम उठाया. पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी. नागौर एसपी द्वारा निलंबित किए गए पुलिसकर्मियों को नागौर जिले के डेगाना थाने में तैनात किया गया था. पुलिस के मुताबिक, निलंबित एसएचओ गोपाल कृष्ण चौधरी ने खिनस्वर थाने में प्राथमिकी दर्ज कर आरोप लगाया था कि कांस्टेबल प्रदीप चौधरी वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसे पैसे के लिए ब्लैकमेल कर रहा है.

नागौर के एसपी, राम मूर्ति जोशी ने कहा कि एफआईआर में गोपाल चौधरी ने प्रदीप चौधरी पर 2.5 लाख रुपये की जबरन वसूली का आरोप लगाया. शुरूआत में, गोपाल चौधरी ने सभी जबरन वसूली की मांगों पर ध्यान नहीं दिया. हालांकि, जब प्रदीप चौधरी ने 5 लाख रुपये और एक वाहन मांगा, तो उन्होंने पुलिस से संपर्क किया और एक लिखित शिकायत दी. एसएचओ और कांस्टेबल की पहली मुलाकात कुछ महीने पहले सोशल मीडिया पर हुई थी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह सामने आया कि दोनों के बीच शारीरिक संबंध थे.

चूंकि उनके कृत्यों ने राजस्थान पुलिस की छवि पर सेंध लगाई है, इसलिए दोनों को अगले आदेश तक के लिए निलंबित कर दिया गया है. अधिकारी ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और आरोपी कांस्टेबल को आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है.