मेरी कहानी: मैंने अपने पति के फोन में अपनी दोस्त का एक मैसेज देखा, जिसके बाद मेरे होश उड़ गए

मेरी कहानी: मैंने अपने पति के फोन में अपनी दोस्त का एक मैसेज देखा, जिसके बाद मेरे होश उड़ गए

 
mhali ki khani
मैं एक विवाहित महिला हूं। मेरी शादी को कुछ ही साल हुए हैं। मेरी शादीशुदा जिंदगी में सब कुछ अच्छा चल रहा था, लेकिन अब मैं हर दिन बुरी-बुरी भावनाओं से गुजर रही हूं। दरअसल, बात कुछ ऐसी है कि जब लॉकडाउन लगा, तो मेरी बचपन की दोस्‍त मेरे साथ मेरे घर पर रहने आ गई थी। ऐसा इसलिए क्योंकि काम के सिलसिले में ज्यादातर उसका पति विदेश में ही रहता था।

सवाल: मैं एक विवाहित महिला हूं। मेरी शादी को कुछ ही साल हुए हैं। मेरी शादीशुदा जिंदगी में सब कुछ अच्छा चल रहा था, लेकिन अब मैं हर दिन बुरी-बुरी भावनाओं से गुजर रही हूं। दरअसल, बात कुछ ऐसी है कि जब लॉकडाउन लगा, तो मेरी बचपन की दोस्‍त मेरे साथ मेरे घर पर रहने आ गई थी। ऐसा इसलिए क्योंकि काम के सिलसिले में ज्यादातर उसका पति विदेश में ही रहता था।

  • वह लॉकडाउन के समय यहां अपने बेटे के साथ बिल्कुल अकेली थी। यही एक वजह भी है कि इतने मुश्किल समय में उसे अपने घर पर देख मुझे काफी खुशी हुई। उसके रहने से मेरे पति को भी कोई आपत्ति नहीं थी। शुरूआत में सबकुछ अच्छा रहा। हम सभी एक साथ काफी खुश थे। हम सभी फैमिली फ्रेंड्स की तरह एक-दूसरे के साथ खूब टाइम बिताया करते थे। लेकिन इस दौरान मैं नहीं जानती थी वह मेरे पति के साथ अटैच हो जाएगी। यह सब तब तक अच्‍छा था, जब तक कि मैंने अपने पति के फोन में उसका मैसेज नहीं देखा था।

    मेरे पति के फोन पर मेरी दोस्त ने एक मैसेज भेजा था, जिसमें लिखा था, 'तुम आज यहां क्यों नहीं आ जाते? इस मैसेज को देख मैं पूरी तरह हैरान रह गई। हालांकि, इस बारे में मैंने अपने पति से कोई सवाल नहीं किया, लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा कि मैं क्या करूं? मुझे नहीं पता उनके बीच क्या चल रहा है, लेकिन यह बात मुझे बहुत ही ज्यादा परेशान कर रही है।

कहती हैं कि मैं समझती हूं कि आप एक बहुत ही कठिन परिस्थिति से गुजर रही हैं, लेकिन इसके बाद भी मैं आपसे यही कहना चाहूंगी कि बिना सबूत के किसी निर्णय तक पहुंच जाना गलत होगा। मैं जानती हूं कि अपने पति के फोन में अपनी दोस्त का मैसेज देख आप काफी परेशान हैं, लेकिन आप अभी भी पूरी तरह से नहीं जानती हैं कि उनके बीच आखिरकार चल क्या रहा है?

जैसा कि आपने बताया कि आपकी दोस्त जब आपके घर पर रहने आई, तो आप बेहद खुश थीं। आप न केवल उसकी मदद करना चाहती थीं बल्कि उसे किसी बात की परेशानी भी न हो, इस बात का भी आप पूरा ख्याल रख रही थीं। हालांकि, एक मैसेज को देखकर आपको ऐसा लग रहा है कि आपकी दोस्त और पति के बीच संबंध हैं। ऐसे में मैं आपसे यही कहना चाहती हूं कि इस मामले में सबसे पहले अपनी दोस्त से बात करें।

अपने पति से बात करें

मेरा यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि एक मैसेज ने आपकी दोस्‍त और पति के साथ आपके रिश्ते को दांव पर लाकर खड़ा कर दिया है। ऐसे में मैं आपको यही सलाह देना चाहती हूं कि आप सबसे पहले अपने पति से बात करें। अपनी दोस्त का उनको यूं मैसेज करने का कारण जानें। यही नहीं, इस दौरान उन्हें यह भी बताएं कि इस एक मैसेज की वजह से आपके दिमाग में क्या कुछ चल रहा है।

मैं आपसे ऐसा करने के लिए इसलिए भी कह रही हूं अगर उन दोनों के बीच कुछ नहीं होगा, तो वह आपकी बातों को समझने की कोशिश करेंगे। वहीं अगर वह दोनों एक रिश्ते में हैं, तो वह आपके सामने बहाने बनाना शुरू कर देंगे। 

जल्दबाजी में कोई भी फैसला लेना गलत

आपकी सभी बातों को ध्यान में रखते हुए मैं केवल इतना कहना चाहती हूं कि इस मुद्दे पर कोई भी प्रतिक्रिया देने के बजाए पूरी स्थिति को समझने की कोशिश करें। सब कुछ जानने के बाद ही कोई फैसला लें। ऐसा इसलिए क्योंकि निष्पक्ष रूप से बोलना हमेशा ही बेहतर होता है।

ऐसा करके न केवल आप दोनों के साथ अपना रिश्ता बचा सकती हैं बल्कि उन्हें भी आपकी बातों का बुरा नहीं लगेगा। एक मैसेज इस बात का प्रमाण बिल्कुल भी नहीं है कि आपकी दोस्‍त और आपके पति के बीच कुछ चल रहा है। ​​​