आपबीती कहानी: पति के मात्र वंश बढ़ाने की ज़िद्द के आगे, दूसरों में खोजना पड़ा यौन सुख
मेरे पति से मुझे कभी प्‍यार नहीं मिला। उनके लिए मैं केवल उनका वंश आगे बढ़ाने का साधन रही। एक बार जब उन्‍हाेंने मुझे ओपन रिलेशनशिप में रहने का सुझाव दिया, तो मैंने स्‍वीकार कर लिया।
 
मेरी कहानी: पति ने केवल मुझे वंश बढ़ाने का साधन समझा, जिसके बाद मैंने अपना सुख दूसरे मर्दों मे खोजना शुरू कर दिया

My story: मेरे पति से मुझे कभी प्‍यार नहीं मिला। उनके लिए मैं केवल उनका वंश आगे बढ़ाने का साधन रही। एक बार जब उन्‍हाेंने मुझे ओपन रिलेशनशिप में रहने का सुझाव दिया, तो मैंने स्‍वीकार कर लिया। कुछ लोगों से मिलने के बाद मेरे चेहरे की चमक देखने लायक थी, जिसे मेरे पति ने भी नोटिस किया। अब वह मेरे करीब आ गए हैं। हमारी बिना प्‍यार वाली शादी अब खुशहाल हो गई है।
 

इस बात को बिल्कुल भी झुठलाया नहीं जा सकता कि भारतीय समाज में नैतिकता-परपंरा और सिद्धांत बहुत ज्यादा मायने रखते हैं। हम सभी को अपने सिद्धांतों पर बहुत ही गर्व है। लेकिन यह भी सच है कि कभी-कभार इनसे घुटन भी होने लगती है। ऐसा तब ज्यादा होता है, जब खुश न होते हुए भी हमें दुनिया को दिखाने के लिए खुश रहना पड़ता है। मैं भी अपनी दम घुटने शादी को बचाने के लिए यही सब कर रही थी। दरअसल, मेरे पति को मुझसे बिल्कुल भी लगाव नहीं था। उनके लिए मैं केवल उनका वंश आगे बढ़ाने का एक साधन थी। यही एक वजह भी है कि मेरे पास उनसे तलाक लेने के अलावा कोई चारा नहीं था।


मैं अपने पति से अलग होने का विचार कर ही चुकी थी कि तभी मेरी लाइफ में ऐसा मोड़ आया, जिसने मेरी पूरी जिंदगी बदलकर ही रख दी। हालांकि, मैं वो सब कभी नहीं करना चाहती थी। न ही हमारा समाज शादीशुदा औरतों को ऐसा करने की इजाजत देता है। लेकिन वो कहते हैं न कि जो होता है, अच्‍छे के लिए ही होता है, तो मैंने भी यही मानकर ओपन रिलेशनशिप की तरफ अपने कदम बढ़ा दिए। मैं अपनी जिंदगी के सबसे अच्छे पल जी ही रही थी कि तभी कुछ ऐसा हुआ, जिसने मेरे वैवाहिक जीवन को फिर से गुलजार बना दिया

मुझे प्‍यार चाहिए था

sdcc
इस बात में कोई दोराय नहीं कि अपने साथी को किसी दूसरे इंसान के साथ होने के बारे में सोचना ही बहुत डरावना होता है। मैंने पहले बिल्कुल यही सोचा था, लेकिन बाद मेरे यह विचार पूरी तरह से बदल गए। ऐसा इसलिए क्योंकि मेरे पति हमेशा अपने काम में व्‍यस्‍त रहते थे। उन्‍होंने मुझे कभी भी प्राथमिकता नहीं दी थी।

हालांकि, हम एक-दूसरे का बहुत सम्मान करते थे। लेकिन इसके बाद भी मुझे प्‍यार की कमी हमेशा खली। शादी के शुरूआती दिन तो सही से बीत गए, लेकिन मेरी जिंदगी में एक समय ऐसा भी आया, जब बिना शर्त प्यार करने वाले इंसान को पाने की तड़प मेरी बढ़ती चली गई।

पति ने दिया ओपन रिलेशनशिप का सुझाव
xzx

अपनी शादी में मैं हर दिन खुश रहने के लिए जद्दोजहत कर रही थी। मैं इस रिश्ते को निभाना चाहती थी, लेकिन मेरे पति के व्यवहार ने मुझे इस रिश्ते से बाहर निकलने पर मजबूर कर दिया। हालांकि, मैं अपने पति को धोखा नहीं देना चाहती थी, जिसके लिए मैंने सबसे पहले उनसे बात करने की कोशिश की। मैंने अपने विचारों के बारे में उनसे बात करते हुए कहा कि 'हम दोनों जानते थे कि हम अब एक-दूसरे से प्यार नहीं कर सकते हैं, चाहे कुछ भी क्यों न हो जाए। लेकिन हम चाहे तो हमेशा एक सम्मानजनक शादी में रह सकते हैं, जहां हम दोनों एक-दूसरे के साथी हों।'

मेरी बातों को सुनकर मेरे पति एकदम से हैरान रह गए। उन्होंने मुझे ओपन रिलेशनशिप में रहने की सलाह दी। अपनी बात को रखते हुए उन्‍होंने मुझसे कहा कि 'मैं दिनभर में चाहे जो कुछ भी करूं, लेकिन दिन के अंत में हमारी शादी और बच्चों को प्राथमिकता देनी होगी। वह मुझे अपनी पत्‍नी बनाए रखना चाहते हैं। लेकिन अब उन्‍हाेंने मुझे दूसरे मर्दों के साथ भी मौज मस्‍ती करने की स्‍वतंत्रता दी थी। मैंने अलग-अलग लोगों से मिलना शुरू किया। मुझे ऐसे बहुत से लोग मिले, जिन्होंने मुझे यौन रूप से स्‍पेशल फील कराया।

मेरे पति मुझ पर ध्‍यान देने लगे थे
sxs

ओपन रिलेशनशिप में आने के बाद मेरे चेहरे की चमक देखने लायक थी। मैं अपनी जिंदगी के सबसे अच्छे पल जी रही थी। इस दौरान मैंने देखा कि मेरे पति भी मुझे नोटिस करने लगे हैं। जैसे-जैसे मैं ओपन रिलेशनशिप में आगे बढ़ती गई, मेरे पति की मुझमे दिलचस्‍पी उतनी बढ़ती चली गई। वह मेरे दिन के बारे में मुझसे पूछते रहते थे। भले ही किसी और के साथ सेक्स करने का विचार उन्‍हें अभी भी परेशान नहीं करता था, लेकिन अब वह मेरे बारे में ज्यादा से ज्यादा जानने की कोशिश करने लगे थे।
उनकी आंखों में अलग चमक थी
dc
मुझे भी अपने पति का यह नया बदलाव अच्छा लगने लगा था। मेरे पति धीरे-धीरे बदलने लगे थे। एक दिन, जब मैं काम से घर वापस आई, तो मैंने उनकी आंखों में एक अलग सी चमक देखी। उन्‍होंने मुझे गोदी में उठाकर कसकर पकड़ लिया। वह मुझे किस करने लगे थे। मैं भी उनकी बाहों में सिमटे बिना रह नहीं सकी।

उस रात हमने पहली बार अपनी शादीशुदा जिंदगी का सबसे अच्छा पल जिया। उन्‍हाेंने पहली बार मुझे अपने प्‍यार का अहसास कराया। इस दौरान उन्होंने मुझे बताया कि दूसरे लोगों के साथ मुझे देखकर उन्हें जलन होने लगी थी। इसका मतलब यह था कि उनके मन में अब मेरे लिए फीलिंग आने लगी थीं। अब वह मुझसे प्‍यार करने लगे थे।

मेरी शादी खुशहाल हो गई

sf
मैं इस बात को अच्छे से जानती हूं कि एक औरत के लिए अपने पति के अलावा किस दूसरे मर्द के करीब जाना बिल्कुल भी आसान नहीं होता है। लेकिन पति के इस फैसले ने न केवल मुझे कुछ पल की आजादी दी बल्कि मेरी बिना प्‍यार वाली शादी को भी बदलकर रख दिया। मेरे पति मुझे चाहने लगे हैं।

मैं हमेशा से यही चाहती थी। अब मैंने दूसरे लोगों से मिलना बंद कर दिया है। हालांकि, यह तरीका थोड़ा टेढ़ा था लेकिन सच कहूं तो इसने मेरी शादी को बचा लिया। मैं अपने पति के साथ बहुत ज्यादा खुश हूं।