Hardeep Singh Puri On Fuel Price: बजट से पहले पेट्रोल डीजल होगा सस्ता? पेट्रोलियम मंत्री ने कही ये बात, जानें पूरी खबर

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार को तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) से पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में कटौती करने को कहा है।
 
बजट से पहले पेट्रोल डीजल होगा सस्ता?


Hardeep Singh Puri On Fuel Price: केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार को तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) से पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में कटौती करने को कहा है।  इसी के साथ उन्होंने राज्य सरकारों पर वैट  कम नहीं करने को लेकर भी निशाना साधा है।  

कंपनियों को हुआ 21,200 करोड़ रुपये का घाटा 

उन्होंने कहा, 'तेल विपणन कंपनियों को एक बार अंतरराष्ट्रीय कीमतों में स्थिरता आने पर कीमतों में कटौती करनी चाहिए और वे अंडर रिकवरी हासिल करने में कामयाब हो गई हैं। आम आदमी की बोलचाल में, अंडर-रिकवरी का मतलब लागत मूल्य से नीचे ईंधन बेचना है। लागत मूल्य से कम कीमत पर पेट्रोल और डीजल बेचने से तेल विपणन कंपनियों को 21,200 करोड़ रुपये का घाटा हुआ।

पेट्रोल और डीजल की कीमतें नियंत्रण में

हरदीप सिंह पुरी ने यह भी दावा किया कि भारतीय कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव के बावजूद पेट्रोल और डीजल की कीमतें नियंत्रण में हैं। पुरी ने कहा, "पेट्रोल और डीजल की कीमतों को नियंत्रण में रखने का एक कारण करों में कमी है।

केंद्र सरकार ने नवंबर 2021 और मई 2022 के बीच दो बार करों में संशोधन किया। 22 मई, 2022 के बाद से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में संशोधन नहीं किया गया है।" जब वित्त मंत्रालय ने केंद्रीय उत्पाद शुल्क में कटौती की और उसके बाद कई राज्यों ने बिक्री कर में कमी की।"

इस वजह से नहीं घाट रहे पेट्रोल डीजल के दाम 

"हालांकि, इस अवधि के दौरान, एक तरफ, ब्रेंट क्रूड की कीमतें मार्च में 139 डॉलर प्रति बैरल से घटकर अब 88 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई हैं, दूसरी ओर, भारत रूस से आयात बढ़ा रहा है। इन दोनों में एक है समग्र ईंधन आयात बिल पर संयुक्त प्रभाव, लेकिन घाटा अभी भी बना हुआ है, यही कारण है कि तेल विपणन कंपनियां कीमतों में कटौती करने में सक्षम नहीं हैं।"