Chanakya Niti: ये 3 गुणों वाली स्त्री ही बनेगी आपके सुख-दुख की साथी, वरना जीवन भर रहेंगे परेशान

आज के समय में सभी के लिए आचार्य चाणक्य प्रेरणादायक है। आचार्य की नीतियां सभी को जीवनयापन में मदद करती है। आचार्य एक नीतिकार, सलाहकार और अर्थशास्त्री थे। इनके मार्गदर्शन से ही राजा महाराजा अपने प्रजा को संभाला करते थे।

 
वायरल न्यूज़

Chanakya Niti: आज के समय में सभी के लिए आचार्य चाणक्य प्रेरणादायक है। आचार्य की नीतियां सभी को जीवनयापन में मदद करती है। आचार्य एक नीतिकार, सलाहकार और अर्थशास्त्री थे। इनके मार्गदर्शन से ही राजा महाराजा अपने प्रजा को संभाला करते थे।


आचार्य चाणक्य महिला एवं पुरुष के चरित्र को दर्शाए हुए हैं। आचार्य दांपत्य जीवन एवं पति-पत्नी के स्वभाव की व्याख्या अपनी नीति में किए हैं। इसी के साथ आचार्य ने बताया है कि कभी भी विवाह इन 3 गुणों वाली महिला के साथ ही करनी चाहिए।


1. जिन महिलाओं का मन साफ हो
आचार्य कहते हैं जीवन ऐसी पत्नी के साथ व्यतीत करनी चाहिए जिस महिला का मन साफ हो। आदर्श गुण और मन वाली महिलाओं का आचरण बहुत अच्छा होता है। ये घर परिवार को जोड़कर रखने का कार्य करती है। ऐसी पत्नियों को सर्वश्रेष्ठ का दर्जा दिया गया है।


2. सुंदर वचन वाली महिलाएं
आचार्य चाणक्य कहते हैं जिस महिला का वचन बहुत अच्छा होता है। जिसके मुंह से सिर्फ मीठा वचन की निकलता है वो महिलाएं हमेशा अपने जीवन में आगे बढ़ती हैं।
ये महिलाएं घर परिवार को जोड़कर रखती हैं। इनसे घर का माहौल खुशनुमा रहता है। ये महिलाएं प्रेम और सत्य से सबका दिल जीत लेती हैं।


3. अच्छे कर्म वाली महिलाएं
कर्म तो सभी व्यक्ति का देखा जाता है। व्यक्ति सम्मान और प्रतिष्ठा का पात्र तभी होता है जब उसके सुंदर और अच्छे कर्म हो। मगर आचार्य कहते हैं, विवाह उसी महिला से करनी चाहिए जिस महिला के कर्म और आचरण बेहतर हो। अच्छे कर्म वाली महिलाएं घर परिवार को जोड़कर रखती हैं।


इनसे घर में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होती है। जो महिलाएं संस्कारी होती है उनका आचरण और कर्म भी बहुत बेहतर रहता है। इससे इनके घर में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आती है। ये सर्वश्रेष्ठ पत्नी कहलाती हैं।


इस नीति से क्या निकलता निष्कर्ष
आचार्य चाणक्य कहते हैं पत्नी मां लक्ष्मी की स्वरूप होती है। जीवनसाथी के साथ व्यक्ति को पूरा जीवन व्यतीत करना होता है। इसलिए कहते हैं इन 3 गुणों वाली महिलाओं के साथ ही व्यक्ति को विवाह के बंधन में बंधना चाहिए।
वरना व्यक्ति की जिंदगी खराब हो जाती है। ऐसी महिलाएं घर को जोडकर रखने का कार्य करती है। जिस महिला में ये गुण नहीं होते हैं उन्हें जीवन जीने में बेहद कठिनाई का सामना करना पड़ता है।