Chanakya Niti: पुरुष इस तरह की महिलाओं से सदा बनाकर रखें दूरी, नहीं तों जिंदगी हो जाएगी बर्बाद
भारत में स्त्रियों को देवी का दर्जा दिया जाता है. लेकिन आचार्य  चाणक्य के अनुसार महिलाओं को समझना बेहद कठिन है. एक महिला का चरित्र उसके साथ जुड़े लोगों को भी प्रभावित करता है. दरअसल आचार्य चाणक्य प्राचीनकाल के प्रसिद्ध विद्वान, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ तथा ज्ञानी पुरुष थे.
 
इस तरह की महिलाओं से सदा बनाकर रखें  दूरी, नहीं तों जिंदगी हो जाएगी बर्बाद
Chanakya Niti: भारत में स्त्रियों को देवी का दर्जा दिया जाता है. लेकिन आचार्य  चाणक्य के अनुसार महिलाओं को समझना बेहद कठिन है. एक महिला का चरित्र उसके साथ जुड़े लोगों को भी प्रभावित करता है. दरअसल आचार्य चाणक्य प्राचीनकाल के प्रसिद्ध विद्वान, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ तथा ज्ञानी पुरुष थे. जिन्होंने अपने अपार ज्ञान के सागर को चाणक्य नीति में संग्रहीत किया.
इस चाणक्य नीति में व्यक्ति के जीवन से जुड़े हर एक पहलू का उल्लेख मिलता है.

यही कारण है कि यह नीति समाज में आज भी लोगों द्वारा मानी जाती है. पुरुषों तथा महिलाओं के विशेष गुणों को बताने के साथ ही चाणक्य नीति महिलाओं के विषय में भी पृथक रूप से बहुत कुछ बताती है.इस चाणक्य नीति में व्यक्ति के जीवन से जुड़े हर एक पहलू का उल्लेख मिलता है. यही कारण है कि यह नीति समाज में आज भी लोगों द्वारा मानी जाती है. पुरुषों तथा महिलाओं के विशेष गुणों को बताने के साथ ही चाणक्य नीति  महिलाओं के विषय में भी पृथक रूप से बहुत कुछ बताती है.
आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति में कुछ ऐसी महिलाओं के बारे में बताया है जिनसे व्यक्ति को हमेशा दूर रहना चाहिए. इन अवगुणों से युक्त महिलाएं अपने परिवार और अपने जीवनसाथी के लिए भी घातक सिद्ध हो जाती हैं.

अशिक्षित महिला समाज के लिए है हानिकारक

चाणक्य के अनुसार, शिक्षा हर किसी के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. शिक्षा के माध्यम से ही कोई भी व्यक्ति समाज में बदलाव ला सकता है. एक महिला अपने बच्चों की पहली शिक्षिका होती है. ऐसे में यदि वह शिक्षित और बुद्धिमान होती है तो वह अपने बच्चों को उसी दिशा में आगे बढ़ाती है. इसके अतिरिक्त एक अशिक्षित महिला समाज के लिए घातक सिद्ध हो सकती है. क्योंकि शिक्षा के अभाव में उत्पन्न अवगुण बेहद खतरनाक होते हैं.

लालची महिलाओं से बनाएं रखें दूरी

यदि किसी महिला के अंदर लालच का अवगुण है तो वह अपने साथ साथ अपने परिवार व समाज के लिए भी घातक साबित होती है. लालची महिलाएं अच्छा या बुरा नहीं देखती हैं. ऐसी महिलाएं अपने लालची स्वभाव से किसी को भी नुक़सान पहुंचा सकती हैं. ऐसी महिलाओ से दूरी बनाकर रखनी चाहिए.

झूठी औरत नहीं होती किसी की अपनी

आचार्य चाणक्य के अनुसार झूठी महिलाएं समाज व परिवार को नुकसान पहुंचाने से पहले जरा भी नहीं सोचती हैं. अपनी बात को सही साबित करने के लिए ये कितने भी झूठ बोल सकती हैं. ऐसी महिलाओं के साथ रहने से आप अपने जीवन को भी खतरे में डाल सकते हैं.

अंहकार में डूबी महिला से रहे हमेशा दूर

आचार्य चाणक्य के अनुसार अहंकारी स्वभाव की महिलाएं अपने रिश्तों के लिए विनाशकारी होती है. ऐसी महिलाएं अपने अहंकार में अपने परिवार को भी नहीं रखती हैं. ये महिलाएं अपने यश, वैभव, सुंदरता या किसी भी अहंकार में अपनी बुद्धि का प्रयोग नहीं कर पाती हैं. ये किसी को भी नीचा दिखाने से पहले एक बार भी नहीं सोचती हैं.