Chanakya Niti: दुश्मन के सामने ना करें ये 4 गलतिया नहीं तो आप पर पड़ सकता है भारी
आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में मनुष्य के जीवन से संबंधित कई बातों का उल्लेख किया है. कुछ ऐसी गलतियों का जिक्र भी किया है जो दुश्मन के सामने नहीं करनी चाहिए. इससे आपका दुश्मन आपका फायदा उठा सकता है. आइए जानें कौन सी वो गलतियां.
 
दुश्मन के सामने ना करें ये 4 गलतिया नहीं तो आप पर पड़ सकता है भारी 
Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य की नीतियों का पालन करके मनुष्य अपने जीवन को सफल बना सकता है. आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में शिक्षा, रिश्तों और व्यापार से संबंधित कई बातों का उल्लेख किया है.  आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में कुछ ऐसी गलतियों का जिक्र भी किया है जो आपको कभी भी अपने दुश्मन के समाने नहीं करनी चाहिए. 


कमजोरी - कमजोरी हर व्यक्ति में होती है. व्यक्ति को कभी अपनी कमजोरी दूसरों को नहीं बतानी चाहिए. अपने दुश्मन को भूलकर भी अपनी कमजोरी के बारे में न बताएं. इससे आपको बहुत ही बुरे परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं. इसलिए कभी अपनी कमजोरी अपने दुश्मन के सामने न जाहिर न होने दें. 
 

हार न मानें - दुश्मन से हारने के बाद कभी भी धैर्य नहीं खोना चाहिए. ऐसा न सोचे कि आप बहुत कमजोर हैं. हार के बाद भी शांत रहें. धैर्य से काम लें. जीत के लिए हमेशा प्रयास करते रहें. कभी भी प्रयास करने से न डरें. अपना हौसला खोने न दें. 


दुश्मन को न समझे कमजोर - व्यक्ति को कभी भी अपने दुश्मन को कमजोर नहीं समझना चाहिए. कई बार व्यक्ति अपने आप को बहुत तकातवर समझ लेता है और गलत कदम उठा लेता है. इसी चीज का फायदा कई बार आपका दुश्मन उठा लेता है. इसलिए इस बात का ध्यान रखें. 

समझदारी से लें फैसला - व्यक्ति को अगर अपना लक्ष्य प्राप्त करना है तो उसे कोई भी फैसला सोच समझकर लेना चाहिए. कई बार गुस्से में लिया गया फैसला न केवल आपको नुकसान पहुंचा सकता है बल्कि आपके दुश्मन के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है.