Uddhav Thackeray News: पद से नहीं दिया इस्तीफा लेकिन छोड़ा CM आवास... वर्षा टू मातोश्री में छिपा है उद्धव ठाकरे की 'हार' का राज

महाराष्ट्र संकट के बीच सीएम उद्धव ठाकरे सरकारी आवास वर्षा छोड़कर अपने निजी आवास मातोश्री के लिए निकल गए हैं। सूत्रों के मुताबिक, उद्धव अब मातोश्री से ही कामकाज संभालेंगे। इससे पहले उन्होंने फेसबुक लाइव पर भावुक होते हुए कहा था कि उन्हें सीएम पद की लालसा नहीं है और वह इस्तीफा देने को तैयार हैं।

 
I

मुंबई:महाराष्ट्र सियासी संकट के बीच सीएम उद्धव ठाकरे परिवार समेत सरकारी आवास वर्षा से निजी आवास मातोश्री शिफ्ट हो गए हैं। सूत्रों के मुताबिक, उद्धव अब मातोश्री से ही कामकाज संभालेंगे। उद्धव के इस स्टैंड को इमोशनल कार्ड के रूप में देखा जा रहा है। इससे पहले उन्होंने फेसबुक लाइव पर भावुक होते हुए कहा था कि उन्हें सीएम पद की लालसा नहीं है और वह इस्तीफा देने को तैयार हैं। हालांकि शाम होते-होते शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि उद्धव पद नहीं छोड़ेंगे।

उद्धव ठाकरे पत्नी रश्मि और दोनों बेटे आदित्य व तेजस के साथ मातोश्री रवाना हुए। यह ठाकरे परिवार का निजी आवास है। वर्षा से बाहर निकलते वक्त समर्थकों के हुजूम ने उद्धव ठाकरे की गाड़ी को घेर लिया। वहीं मातोश्री के बाहर भी बड़ी संख्या में उनके समर्थक इकट्ठा हुए। मातोश्री के बाहर नारे लगाए गए, 'उद्धव तुम आगे बढ़ो, हम तुम्हारे साथ हैं।'

सीएम आवास खाली करके क्या संदेश दे रहे उद्धव?

सरकारी आवास खाली करके उद्धव ठाकरे अपने समर्थकों और विधायकों को सांकेतिक इशारा दे रहे हैं कि उन्हें मुख्यमंत्री पद की लालसा नहीं है। शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद महाराष्ट्र सरकार पर लगातार संकट के बादल मंडरा रहे हैं। एकनाथ शिंदे ने सरकार पर सवाल उठाते हुए चिट्ठी लिखी जिसमें 34 विधायकों के हस्ताक्षर भी हैं।

इसके बाद उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव कर महाराष्ट्र की जनता के नाम संदेश जारी किया। उद्धव ठाकरे ने कहा था कि अगर उनके विधायक ही नहीं चाहते कि वह पद पर रहे तो वह इस्तीफा देने को तैयार हैं। उद्धव ने यह भी कहा था कि वह सीएम आवास तक छोड़ने को तैयार हैं।

राउत बोले-उद्धव नहीं देंगे इस्तीफा

उधर, शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री हैं और वह मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा नहीं देंगे। राउत ने कहा कि अगर फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने का मौका मिलेगा तो करेंगे। संजय राउत ने स्पष्ट किया कि एकनाथ शिंदे को सीएम बनाने की पेशकश वाली बात बिल्कुल गलत है। संजय राउत ने कहा, 'हम संघर्ष करेंगे।' वह सुबह से ही सीएम आवास पर मौजूद थे। इस बीच एकनाथ शिंदे ने भरत गोगावाले को शिवसेना का नया चीफ विप नियुक्त कर दिया है।

एकनाथ शिंदे के बागी सुर बरकरार

उधर शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे अभी भी अपनी बात पर अड़े हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी और शिवसैनिकों के अस्तित्व के लिए एमवीए मोर्चे से बाहर निकलना जरूरी है। उन्होंने आगे कहा कि पिछले ढाई सालों में एमवीए सरकार ने केवल घटकों को फायदा पहुंचाया और शिवसैनिकों को भारी नुकसान हुआ।