स्कूल-कालेजों में गर्मियों की छुट्टियों के चलते 20 दिन तक ट्रेनें पैक, तत्काल में भी नहीं मिल रही सीट

बता दें कि गर्मी का मौसम आते ही ट्रेनों में यात्रियों का भारी दबाव होता है। गर्मी की वजह से ज्यादातर यात्रियों की पहली पसंद एसी बर्थ की होती है ताकि यात्रा के दौरान किसी प्रकार की परेशानी न हो। मई के मध्य से ही कई राज्यों के स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां हो गई हैं। अकसर छुट्टियों में लोग राज्य के विभिन्न पर्यटन एवं धार्मिक स्थलों में घूमने जाते हैं।

 
shamli,Punjab News,Northern railways,sonipat news,Electric Train,Tapri,सोनीपत, इलेक्ट्रिक ट्रेन, पंजाब

यात्रीगण कृपया ध्यान दें.. यदि आप गर्मी की छुंिट्टयों के दौरान ट्रेन से लंबी दूरी का सफर करने का मन बना रहे हैं तो कंफर्म सीट की उम्मीद छोड़ दें। कारण, कटरा-जम्मूतवी से पठानकोट के रास्ते मुंबई, हावड़ा, दिल्ली और ऋषिकेश जाने वाली ज्यादातर ट्रेनों में आगामी 20 दिनों तक बर्थ फुल हो गई हैं। वेटिग भी 100 के पार है। इसकी वजह है स्कूलों में गर्मियों की छुट्टियां शुरू हो जाती हैं तो वहीं शादी का सीजन भी शुरू हो जाता है। इसलिए ज्यादातर लोग दो महीने पहले ही सीट बुक कर लेते हैं।

बता दें कि गर्मी का मौसम आते ही ट्रेनों में यात्रियों का भारी दबाव होता है। गर्मी की वजह से ज्यादातर यात्रियों की पहली पसंद एसी बर्थ की होती है, ताकि यात्रा के दौरान किसी प्रकार की परेशानी न हो। मई के मध्य से ही कई राज्यों के स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां हो गई हैं। अकसर छुट्टियों में लोग राज्य के विभिन्न पर्यटन एवं धार्मिक स्थलों में घूमने जाते हैं। इस बार भी हजारों की संख्या में दूसरे राज्यों से श्रद्धालुओं के माता वैष्णो देवी एवं अमरनाथ के दर्शन के लिए आने की संभावना है। यही वजह है कि इन दिनों ट्रेनों के एसी व स्लीपर कोच पूरी तरह पैक हो गए हैं।

वहीं, रेलवे की तत्काल सेवा से भी कंफर्म बर्थ मिल पाना मुश्किल है। ट्रेन शुरू होने के 24 घंटे पहले मिलने वाली तत्काल टिकटों की सेवा के लिए लोग रात से ही अपना नंबर लगा रहे हैं। लेकिन, उसके बावजूद उनको कंफर्म टिकट नहीं मिल पा रहा है। अधिकारियों की मानें तो कोरोना संक्रमण के बाद इस बार लोगों को गर्मी में बाहर जाने का मौका मिला है, क्योंकि स्कूल-कालेज गर्मी में बंद हो जाएंगे। दो साल तक लोग कोविड के चलते घरों में कैद रहे। इसलिए गर्मी की छुट्टियों में बाहर जाने वालों की संख्या बढ़ गई है। ज्यादातर यात्री एसी थ्री और एसी 2 की मांग कर रहे हैं। बदलना पड़ रहा प्रोग्राम

पठानकोट सिटी पठानकोट कैंट रेलवे स्टेशन के आरक्षण केंद्र में जम्मू-दिल्ली के बीच दस जून का आरक्षण करवाने पहुंचे आलोक सूद, सुनील यादव निवासी बनारस ने बताया कि दो सप्ताह पहले भी किसी ट्रेन में आरक्षण नहीं मिल रहा है। इसी प्रकार पठानकोट से मूरी जाने वाले समरेंद्र नाथ विश्वास ने कहा कि 5 जून तक सीट नहीं है। पठानकोट से मुंबई जाने को टिकट कराने पहुंचे सतीश कुमार निवासी बलौर ने कहा कि 10 जून तक सीट के लिए वेटिग है। इस कारण उन्हें अब अपना प्रोग्राम जुलाई में तक स्थगित करना पड़ रहा है।

ट्रेनों में सीट की स्थिति

ट्रेन- वेटिंग

जम्मूतवी-अजमेर शरीफ - 7 जून तक

कटरा-दिल्ली जम्मू मेल - 3 जून तक

कटरा-दिल्ली उत्तर संपर्क क्रांति - 10 जून तक

कटरा-ऋषिकेश - 31 मई तक

जम्मूतवी-दिल्ली शालीमार एक्सप्रेस - 31 मई तक

हावड़ा मेल - 10 जून तक

गोल्डन टेंपल - 9 जून तक यह ट्रेनें 22 से 25 तक रहेगी रद

रेलवे द्वारा मंडल के कुछेक स्टेशनों पर चल रहे कार्य की वजह से कटड़ा से पठानकोट कैंट के रास्ते दिल्ली जाने वाली जम्मू मेल एक्सप्रेस को 22, 23 व 24 मई को रद किया गया है। इसी प्रकार पठानकोट से दिल्ली जाने वाली पठानकोट एक्सप्रेस भी 23, 24 व 25 को रद रहेगी। -------------------- एडवांस में बुकिग के चलते ट्रेनें हैं पैक

पठानकोट कमर्शियल ब्रांच के अधिकारी ने बताया कि गर्मियों की छुट्टियां होने के कारण अधिकतर लोगों ने एडवांस में ही ट्रेनों की बुकिग करवा ली है। उन्होंने बताया कि जम्मू से चलकर दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनें फुल हैं। यात्रियों की भीड़ को कम करने के लिए विभाग द्वारा समर स्पेशल चलाने की उम्मीद है। समर स्पेशल चलने के बाद यात्रियों को काफी राहत मिलेगी। -----------------------------

ट्रेनों में खाद्य-पदार्थों को भी टीम कर रही चेक

ट्रेनों में बढ़ती भीड़ को देखते हुए जहां रेलवे आने वाले दिनों में समर स्पेशल ट्रेनें चलाकर भीड़ को कम करने का प्लान तैयार कर रहा है, वहीं, यात्रियों को परोसे जा रहे खाद्य पदार्थों की जांच के लिए भी सेहत विभाग को आदेश जारी किया गया है। आदेश के मुताबिक सभी हेल्थ इंस्पेक्टरों को कहा गया है कि वह ट्रेनों की पैंट्री कार (रसोई भंडार) को चेक करेगें। इसी के तहत पठानकोट की हेल्थ टीम ने कैंट स्टेशन पर कोलकाता से आने वाली हिमगिरी सुपरफास्ट की पैंट्री कार से रिफाइंड तेल और सोयाबीन के सैंपल लिए। जबकि पठानकोट स्टेशन से जम्मूतवी जाने वाली मूरी एक्सप्रेस से मैदे और नमक के सैंपल लिए गए। हेल्थ टीम ने बताया कि उक्त दोनों गाड़ियों के सैंपलों को जम्मूतवी रेलवे की लैबारेटरी में जांच के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट 15 दिनों तक आएगी।