Railways Rule: रेलवे के ये नियम जानकर यात्रा में नहीं होगी दिक्कत, टिकट का भी नहीं होगा झंझट!
 
"BENEFITS","Central Government","Indian Railways","profit","ticket"

नई दिल्ली: सुरक्षा और सहूलियत को ध्यान में रखकर ट्रेन का सफर काफी सुविधाजनक समझा जा रहा है। अगर आप भी अक्‍सर ट्रेन के सफर को प्र‍ियोरिटी देना शुरु कर रहे हैं तो यह जानकारी आपके लिए काफी फायदेमंद होने जा रही है। ट्रेन से यात्रा करने के ल‍िए जरूरी है क‍ि आपको रेलवे (Indian Railway) के नियमों के बारे में जानना अहम होता है।

रेलवे की तरफ से देखा जाे तो यात्र‍ियों की सहूल‍ियत के मद्देनजर व‍िभिन्‍न न‍ियम बनाया जा चुका है। 2022 की शुरुआत में रेलवे बोर्ड ने यात्र‍ियों की सुव‍िधा को लेकर कुछ न‍ियमों में बदलाव कर दिया गया था। आइए जानते हैं रेलवे के उन न‍ियमों के बारे में विस्तार से, ज‍िनके बारे में जानकारी आपके सफर को आरामदायक और कम्‍फर्ट बनना लगभग तय समझा जाता है।

मिडिल बर्थ वालों के ल‍िए होती है व्यवस्था

थ्री टियर कोच में सफर करने के दौरान मिडिल बर्थ वालों को सबसे ज्‍यादा समस्‍या का सामना करना होता है। अक्सर लोअर बर्थ वाला यात्री देर रात तक सीट पर बैठ जाता है। इस कारण मिडिल बर्थ वाला यात्री चाहने के बाद भी आराम नहीं कर सकता है। इसके अलावा कई बार ऐसा हो जाता है क‍ि मिडिल बर्थ वाले यात्री देर रात तक लोअर बर्थ पर बैठ जाता है, इस कारण लोअर वाले को सोने में परेशानी होना शुरु हो जाती है।

ये 8 घंटे होते हैं अहम

आपके साथ कभी ऐसा नहीं हो कि इसके ल‍िए आपको रेलवे के न‍ियमों के बारे में जानकारी होना अहम होता है। रेलवे के न‍ियमानुसार रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक आप मिडिल बर्थ को खोलने के बाद फायदा ले सकते हैं। यद‍ि आपकी लोअर बर्थ है तो रात 10 बजे के बाद म‍िड‍िल बर्थ या अपर बर्थ वाला यात्री आपकी सीट पर नहीं बैठेगा क्योंकि ये नियम में दिया गया है। आप उसे रेलवे के न‍ियम का हवाला देकर अपनी सीट पर जाने के ल‍िए बोल सकते हैं। इसके अलावा यद‍ि द‍िन में मिडिल बर्थ वाला पैसेंजर अपनी सीट खोल रहा है, तो आप उससे मना किया जा सकता है।

टीटीई भी चेक नहीं कर सकता है सीट

यात्रियों की श‍िकायत होना शुरु हो जाती है क‍ि ट्रेन में सोने के बाद टीटीई देर रात टिकट चेक करने को लेकर जगाना शुरु करते हैं। इससे नींद खराब होने लगती है। यात्रियों की इस परेशानी को दूर करने को ध्यान में ऱखकर और सफर को सुविधाजनक बनाने के लिए न‍ियमानुसार टीटीई रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे तक यात्रियों के सोने के दौरान टिकट चेक नहीं कर सकता है। यद‍ि आपकी यात्रा रात 10 बजे के बाद शुरू हो रही है तो रेलवे का यह न‍ियम लागू नहीं किया जाता है।

रात को यात्रा के न‍ियम जानना होता है अहम

यात्र‍ियों की तरफ से देखा जाए तो अक्‍सर रात को सहयात्री के मोबाइल पर तेज आवाज में गाना सुनने या वीड‍ियो देखने की भी श‍िकायतें रेलवे बोर्ड को काफी हद तक मिल जाती है। इसके मद्देजर रेलवे ने रात 10 बजे के बाद ब‍िना ईयर फोन वाले गाने सुनने या वीड‍ियो देखने पर पाबंदी लगाना शुरु कर दिया है। न‍ियमानुसार आप रात 10 बजे के बाद ब‍िना ईयर फोन के न ही गाना सुन पाएंगे और न ही वीड‍ियो देखकर फायदा ले सकते हैं। इतना ही नहीं रात में तेज आवाज में बात करने भी मना किया गया है।