Jharkhand News: IAS पूजा सिंघल के WhatsApp से सबको हिला देने वाला खुलासा, झारखंड में उठा सियासी तूफान

Jharkhand IAS Pooja Singhal भ्रष्‍टाचार के संगीन मामलों में गिरफ्तार की गई आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल की राज्‍य की एक बड़ी महिला से वाट्सएप चैट ने काला धन अवैध कमाई और पैसे के खुले खेल को नया मोड़ दे दिया है। अगले एक-दो दिन में बड़े खुलासे होंगे।

 
Jharkhand News: IAS पूजा सिंघल के WhatsApp से सबको हिला देने वाला खुलासा, झारखंड में उठा सियासी तूफान

Jharkhand News गरीबों की हकमारी से शुरू हुआ मनरेगा घोटाला अब सफेदपोशों तक पहुंच रहा है। अधिकारियों से शुरू हुई कहानी कहीं न कहीं सामाजिक कार्यकर्ताओं व नेताओं के इर्द-गिर्द पहुंच रही है। यही कारण है कि ईडी की तफ्तीश मनरेगा घोटाले तक ही सीमित नहीं रह गई है, जबकि इसके सिरे राज्य में दूसरे घपले घोटाले तक पहुंच गए हैं। अब ईडी के निशाने पर झारखंड सरकार के खान व उद्योग विभाग का भ्रष्टाचार है, जिससे संबद्ध पदाधिकारियों पर जांच का घेरा कसता जा रहा है।

सूचना है कि पूजा सिंघल की राज्य की एक बड़ी महिला से वाट्सएप चैट ने ईडी की अनुसंधान टीम को खान एवं उद्योग विभाग में घुसने का रास्ता दिखा दिया है। जिस बड़ी महिला से पूजा सिंघल ने वाट्सएप चैट की है, उस महिला की भी खनन के क्षेत्र में जबरदस्त नियंत्रण है और वहां एक-एक पत्ता भी उसी महिला के इशारे पर डोलता है। अब खनन विभाग में हर माह हो रहे करोड़ों रुपये के वारे-न्यारे ईडी के निशाने पर हैं, जिसकी जड़ें खुदनी शुरू हो गई है। शुरूआत खनन पदाधिकारियों से हुई है, जिन्हें ईडी ने पूछताछ के लिए रांची बुलाया है।

गिरफ्तार आइएस पूजा सिंघल के खिलाफ मनी लांड्रिंग के तहत अनुसंधान कर रहा प्रवर्तन निदेशालय सोमवार (16 मई) को तीन जिलों के जिला खनन पदाधिकारी से पूछताछ करेगा। इसके लिए उन्हें समन किया गया है। जिन्हें समन किया गया है, उनमें साहिबगंज के जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार, दुमका के जिला खनन पदाधिकारी कृष्णचंद्र किस्कू और पलामू के जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार शामिल हैं। पहले फेज में इन तीनों जिलों के जिला खनन पदाधिकारी से पूछताछ होनी है। इसके बाद अन्य जिलों के खनन पदाधिकारियों से भी ईडी की टीम पूछताछ करेगी। इनसे माइनिंग लीज आवंटन व अवैध खनन के मामले में पूछताछ होनी है। इसके एवज में इन्हें कितने रुपये मिले और ये रुपये कहां-कहां तक पहुंचे।

अवैध खनन के पैसे ऊपर तक पहुंचे

रिमांड पर आइएएस पूजा सिंघल व उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट से पूछताछ में ईडी को यह जानकारी मिली है कि अवैध खनन के पैसे ऊपर तक पहुंचते थे। ऊपर में कहां तक पहुंचते थे, इसकी जानकारी ईडी को मिल गई है। आइएएस पूजा सिंघल झारखंड राज्य खनिज विकास निगम के प्रबंध निदेशक के पद पर भी रह चुकी हैं। इस अवधि में भारी मात्रा में अवैध रुपयों के लेन-देन की जानकारी ईडी को मिली है, जिसके सत्यापन के लिए ही जिला खनन पदाधिकारियों से पूछताछ होनी है।

भाजपा ने भी मुख्यमंत्री व उनके परिवार पर लगाया है अवैध खनन का आरोप

झारखंड में मुख्य विपक्षी दल भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व उनके परिवार के सदस्यों पर अवैध उत्खनन का लगातार आरोप लगाया जाता रहा है। हाल के दिनों में साहिबगंज में गंगा में स्टोन चिप्स ले जा रही कार्गो जहाज के डूबने के बाद पूरा इलाका चर्चा में है। विपक्ष ने सत्ता पक्ष पर अवैध उत्खनन का आरोप लगाया है।