Indian Railway: ये हैं देश के सबसे बड़े और छोटे नाम वाले रेलवे स्टेशन, स्पेलिंग देखकर चकरा जाएगा सिर
Indian Railway Facts: भारतीय रेलवे (Indian Railway) दुनिया का चौथा और एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में कुल 8338 रेलवे स्टेशन है, जो पूरे देश में फैले हुए है. इल रेलवे स्टेशनों की मदद से रोजाना लाखों यात्री ट्रेन में सफर करते हैं. देश में कई बेहद अजीबोगरीब रेलवे स्टेशन हैं. आज हम आपको देश के सबसे बड़े और छोटे नाम वाले रेलवे स्टेशन के बारे में बताएंगे. सबसे बड़े नाम वाले स्टेशन की स्पेलिंग में 28 अंग्रेजी लैटर्स आते हैं, जबकि पूरी वर्णमाला में केवल 26 अक्षर होते हैं.
 
 
ये हैं देश के सबसे बड़े और छोटे नाम वाले रेलवे स्टेशन, स्पेलिंग देखकर चकरा जाएगा सिर

आपको बता दें कि देश का सबसे बड़े नाम वाला रेलवे स्टेशन Venkatanarasimharajuvaripeta है. इसकी स्पेलिंग में कुल 28 अंग्रेजी अक्षर हैं. ये स्टेशन आंध्रप्रदेश में है. ये तमिलनाडु के बॉर्डर से सटा हुआ है. स्थानीय लोग आमतौर पर इसके नाम से पहले उपसर्ग ’श्री’ जोड़ते हैं, जिससे यह और 3 अक्षर लंबा हो जाता है. 

सोशल मीडिया पर इस स्टेशन का खासा चर्चा होती है. अगर आपको कभी मौका मिले तो एक बार यहां जरूर जाइए.

वहीं अगर बात देश के सबसे छोटे रेलवे स्टेशन की करें तो ये ओडिशा में स्थित 'Ib' स्टेशन है. इस स्टेशन का नाम शुरू होते ही खत्म हो जाता है. इसके नाम में केवल दो ही अक्षर हैं. इस लोकप्रिय स्टेशन ने अपना नाम 'Ib' नदी से प्राप्त किया है, जो की महानदी की एक सहायक नदी है. कहा जाता है कि यह भारत का एकमात्र रेलवे स्टेशन है, जिसका नाम सबसे छोटा है.

इसके अलावा देश का सबसे लंबा रेलवे प्लेटफॉर्म यूपी का गोरखपुर रेलवे स्टेशन है. इस प्लेटफॉर्म की लंबाई 4483 फीट यानी 1366.33 मीटर है. गोरखपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म का नाम विश्व के सबसे लंबे प्लेटफार्म के रूप में दर्ज है.

वहीं, भारतीय रेलवे का सबसे पहला रेलवे स्टेशन मुंबई में स्थित बोरीबंदर था. देश की पहली यात्री ट्रेन इसी स्टेशन से पुणे तक चली थी. इसे 'Great Indian Peninsular Railway' द्वारा बनाया गया था. इस स्टेशन को साल 1888 में 'विक्टोरिया टर्मिनस' के रूप में फिर से बनाया गया.