Indian Railway: बेटिकट यात्रा करने वाले लोगों पर रेलवे सख्त! पूर्व मध्य रेलवे ने केवल 18 घंटे में की 68 लाख रुपये की वसूली, जानें डिटेल्स
Railway News: पूर्व मध्य रेलवे (East Central Railway) द्वारा चलाए गए चेकिंग अभियान में केवल 18 घंटे की अवधि में रेलवे ने बिना टिकट यात्रा करने वाले लोगों से पूरे 68 लाख रुपये की वसूली की है.
 
Indian Railway: बेटिकट यात्रा करने वाले लोगों पर रेलवे सख्त! पूर्व मध्य रेलवे ने केवल 18 घंटे में की 68 लाख रुपये की वसूली, जानें डिटेल्स

Indian Railways: भारतीय रेलवे को देश के आम लोगों के लिए लाइफलाइन माना जाता है. हर दिन करोड़ों की संख्या में यात्री ट्रेन में सफर करते हैं. ऐसे में यात्रियों की सुविधा और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए रेलवे कई तरह के प्रयास करता है. पिछले कुछ दिनों से रेलवे ने ट्रेन में बिना टिकट के सफर करने वालों के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है. यह अभियान पूर्व मध्य रेल (East Central Railway) ने चलाया हुआ है.

रेलवे ने यह अभियान इसलिए चालाया था क्योंकि कई बार कई ऐसे यात्री ट्रेन में ट्रेवल करते हैं जिनके पास वैलिड टिकट नहीं होता है. ऐसे में सही टिकट लेकर चलने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. इसके साथ ही रेलवे को इस कारण आर्थिक नुकसान भी होता है. ऐसे में पूर्व मध्य रेलवे ने इस तरह के नुकसान को रोकने के लिए समस्तीपुर मंडल में सुबह 05.00 से लेकर राज 11 बजे तक 18 घंटे की स्पेशल टिकट चेकिंग अभियान चलाया.

रेलवे ने वसूला 68 लाख रुपये का जुर्माना
पूर्व मध्य रेलवे (East Central Railway) द्वारा चलाए गए चेकिंग अभियान में केवल 18 घंटे की अवधि में रेलवे ने बिना टिकट यात्रा करने वाले लोगों से पूरे 68 लाख रुपये की वसूली की है. खास बात ये है कि 22 नवंबर 2022 को की गई वसूली इस वित्त वर्ष की एक दिन में जुर्माना का सबसे बड़ा अमाउंट है. इससे पहले भी 8 और 15 नवंबर को पूर्व मध्य रेलवे का समस्तीपुर मंडल में इसकी तरीके का चेकिंग अभियान चलाया गया था.

बिना टिकट यात्रा करने वालों पर रोक लगाने के लिए चलाया गया अभियान
आपको बता दें कि 8 और 15 नवंबर 2022 को समस्तीपुर मंडल में चलाए गए चेकिंग अभियान के बाद कुल 55 लाख रुपये और 61 लाख रुपये बतौर जुर्माना वसूले गए थे. इसके बाद रेलवे ने इन दोनों चेकिंग अभियान के द्वारा जुटाई गई धनराशि के बाद ही 22 नवंबर को एक बार भी चेकिंग अभियान चलाने का फैसला किया. इस अभियान में केवल 18 घंटे के भीतर रेलवे ने कुल 68 लाख रुपये इकट्ठा कर लिए.

 

रेलवे को होता है भारी नुकसान
आपको बता दें कि बिना टिकट के चलने वाले यात्रियों के कारण न सिर्फ बाकी यात्रियों को दिक्कत होती है बल्कि भारतीय रेलवे (Indian Railway News) को करोड़ों का हर साल नुकसान होता है. ऐसे में बिना टिकट यात्रा करने वाले लोगों से रेलवे कई ज्यादा गुना जुर्माना वसूलता है. इस नुकसान वसूली के लिए ही रेलवे समय-समय पर टिकट चेकिंग अभियान चलाता रहता है. इसके साथ रेलवे यह अनुरोध करता रहता है कि वह हमेशा वैलिड टिकट लेकर ही ट्रेन में यात्रा करें. इससे आप असुविधा से बचें और रेलवे को भी आर्थिक नुकसान नहीं होगा.