IMD Weather Alert: नया पश्चिमी विक्षोभ हो रहा सक्रिय, हरियाणा में 16 मई से झमाझम बारिश की संभावना

Haryana Rain And Weather Alert: हरियाणा में मौसम फिर से करवट लेगा। 16 मई से कई शहरों में बारिश की संभावना जताई जा रही है। हालांकि अभी उमस भरी गर्मी ने किया परेशान। रात का तापमान 27.0 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा। दिन के तापमान में होगी वृद्धि।

 
ली और आसपास के इलाकों में बारिश की संभावना, जानें आने वाले दिनों में कैसा रहेगा मौसम, Weather Forecast: Rain likely in Delhi and adjoining areas, know how the weather will be in the coming days,weather forecast, rain, weather, delhi. imd alert


Haryana Rain And Weather Alert: हरियाणा, दिल्ली व उत्तर प्रदेश के क्षेत्र शुष्क रहेंगे। लेकिन 16 मई से एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बन सकता है। जिससे एक टर्फ रेखा हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश तथा राजस्थान के कुछ इलाकों के गर्जना के साथ तेज हवा तथा बौछारे गिरने की संभावना है। 16 से 18 मई तक यह मौसम का बदलाव देखने को मिलेगा, उस समय लू से आंशिक राहत लोगों को मिल सकती है। लेकिन तब तक गर्मी परेशान करती रहेगी।


मई के आखिरी सप्ताह में रिकार्ड बना सकती है गर्मी
बीते 10 साल में मई माह में अधिकतम तापमान की स्थिति पर गौर किया जाए तो करनाल में वर्ष 24 मई 2013 में रिकार्ड 45.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था। हालांकि 10 में से छह सालों में अधिकतम तापमान ने 44.0 डिग्री सेल्सियस को टच किया है। इस बार की अब तक जो मौसमी परिस्थितियां बनी हुई हैं, उससे संभव है कि तापमान में एक बार फिर तेजी से वृद्धि देखने को मिलेगी।


देशभर में यह बना हुआ है मौसमी सिस्टम
मौसम विभाग के मुताबिक इस समय समुद्री तूफान आसानी पश्चिम मध्य और उससे सटे दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है। उत्तरी पाकिस्तान और आसपास के क्षेत्र पर पश्चिमी विक्षोभ देखा जा सकता है। एक प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मध्य पाकिस्तान के ऊपर बना हुआ है। एक टर्फ रेखा पंजाब से दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश तक और दूसरी टर्फ रेखा विदर्भ से तटीय आंध्र प्रदेश तक फैली हुई है।

[HINDI] सम्पूर्ण भारत का मई 13, 2022 का मौसम पूर्वानुमान
देश भर में बने मौसमी सिस्टम

डीप डिप्रेशन जो एक चक्रवात आसनी का अवशेष है, डिप्रेशन में बदल गया है। अब यह धीरे-धीरे एक गहरे कम दबाव वाले क्षेत्र में बदल जाएगा।

जम्मू कश्मीर और आसपास के क्षेत्र पर पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है।

एक प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मध्य पाकिस्तान के ऊपर बना हुआ है।

एक ट्रफ रेखा उत्तर पश्चिमी राजस्थान से दक्षिण पूर्व मध्य प्रदेश तक फैली हुई है।

एक और निम्न दबाव की रेखा विदर्भ से लेकर डिप्रेशन से जुड़े साइक्लोनिक सर्कुलेशन तक फैली हुई है।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल

पिछले 24 घंटों के दौरान, तटीय आंध्र प्रदेश में मध्यम से भारी बारिश हुई।

अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, असम के त्रिपुरा भागों और सिक्किम में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश हुई।

शेष पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, केरल, कर्नाटक, बिहार के रायलसीमा भागों, हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हुई।

ओडिशा, दक्षिण छत्तीसगढ़, पूर्वी उत्तर प्रदेश, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, दक्षिण कोंकण और गोवा, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु और मराठवाड़ा में हल्की बारिश तथा जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड के एक या दो हिस्सों में हल्की छिटपुट बारिश हुई।

पश्चिमी मध्य प्रदेश के कुछ स्थानों पर और पूर्वी राजस्थान और गुजरात के एक या दो हिस्सों में और राजस्थान के अधिकांश हिस्सों में गर्मी की लहर है।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, तटीय आंध्र प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पूर्वोत्तर भारत, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

पश्चिम बंगाल, पूर्वी बिहार और दक्षिण कर्नाटक में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।

ओडिशा, पश्चिमी हिमालय, झारखंड, कोंकण और गोवा, तेलंगाना और लक्षद्वीप में हल्की बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है।

मराठवाड़ा, दक्षिण छत्तीसगढ़ और विदर्भ के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश संभव है।

राजस्थान के अधिकांश हिस्सों, पश्चिम मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, गुजरात, विदर्भ, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र और हरियाणा, दिल्ली और पूर्वी मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति संभव है।