प्राइवेट जॉबर्स के खाते में सरकार डालेगी साढे 6 करोड़ रुपए, चेक करें बैलेंस
 
fhdvfhd
EPFO: प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले करोड़ों लोगों को जल्द ही कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ (EPFO) की ओर से तोहफा मिलने वाला है। सरकार जल्द ही पीएफ खाते में ब्याज का पैसा ट्रांसफर कर सकती है।
Sun, 15 May 2022

HR Breaking News : नई दिल्ली : EPFO News: प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले करोड़ों लोगों को जल्द ही कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ (EPFO) की ओर से तोहफा मिलने वाला है। 
अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीएफ पर ब्याज दर (PF interest rate) कम होने के कारण इसे दिसंबर से पहले जमा किया जा सकता है। अभी वित्त मंत्रालय की मुहर लगने में ही देरी हो रही है। 


चूंकि, इस समय 43 साल में पीएफ पर सबसे कम ब्याज मिल रहा है, इसलिए जल्द ही इसे वित्त मंत्रालय से मंजूरी मिलने की उम्मीद है। वित्त मंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद ईपीएफओ मेंबर्स के पीएफ खाते में कभी भी ब्याज जमा किया जा सकता है।

-- अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल दें। इसके बाद ईपीएफओ के संदेश के जरिए पीएफ की डिटेल मिल जाएगी। यहां भी आपका यूएएन, पैन और आधार लिंक होना जरूरी ही। 
-- ऐसे ऑनलाइन चेक कर सकते हैं पीएफ का बैलेंस ईपीएफओ की वेबसाइट पर लॉग इन करें। epfindia.gov.in पर ई-पासबुक पर क्लिक करें।


-- ई-पासबुक पर क्लिक करने पर एक नए पेज passbook.epfindia.gov.in पर आ जाएंगे।

-- यहां आपको अपना यूजर नाम (UAN नंबर), पासवर्ड और कैप्चा भरना होगा।
-- सभी डिटेल्स भरने के बाद एक नए पेज पर आ जाएंगे और यहां मेंबर आईडी का चुनाव करना होगा।


 

30 जून से पहले मिल सकता है ब्याज का पैसा


रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार अगले महीने की समाप्ति से पहले यानी 30 जून से पहले कभी भी पीएफ खाताधारकों को ब्याज का पैसा ट्रांसफर कर सकती है। खबर यह भी है कि EPFO दशहरे के त्योहारी सीजन से पहले ब्याज का पैसा क्रेडिट कर सकता है।

हालांकि, इस बारे में ईपीएफओ की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है और न ही सरकार ने अभी तक कोई घोषणा की है। आम तौर पर पीएफ ब्याज साल के अंत में जमा किया जाता है। इस बार कम ब्याज की वजह से उम्मीद है कि ईपीएफओ क्रेडिट के लिए दिसंबर तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा, सरकार पहले ही ब्याज का पैसा ट्रांसफर कर सकती है। इससे EPFO ​​के साढ़े 6 करोड़ से ज्यादा सब्सक्राइबर्स को फायदा होगा।