Rozgar Mela: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का दावा, हर महीने 16 लाख लोगों को नौकरी दे रही सरकार

Rozgar Mela : एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री ने 71,056 लोगों को नियुक्ति पत्र बांटे और कहा कि सरकार मिशन मोड पर काम कर रही है.  
 
Rozgar Mela: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का दावा, हर महीने 16 लाख लोगों को नौकरी दे रही सरकार 

Railway Minister Ashwini Vaishnav: रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव का दावा है कि केंद्र सरकार हर महीने 16 लाख लोगों को नौकरी दे रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से दी जाने वाली योजनाओं का लाभ हर किसी को दिया जा रहा है. रेलमंत्री ने यह भी कहा कि भारत आर्थिक संकट के बीच अवसरों से भरपूर उर्जा श्रोत के रूप में उभरा है. वैष्णव ने यह सभी बातें अजमेर में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा आयोजित रोजगार मेला के कार्यक्रम में कहीं. 

अधिकारिक बयान के अनुसार, मंगलवार को रोजगार मेला में बोलते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सभी को लाभ देने के लिए अलग-अलग कार्यक्रम चला रही है, जिस कारण सामाजिक जीवन आसान हो चुका है. उन्होंने दावा किया कि हर महीने रोजगार मेला के तहत 16 लाख युवाओं को नौकरी दी जा रही है. रेलमंत्री ने नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट  का मंत्र देते हुए कहा कि अगर युवा यह याद रखें तो उन्हें जीवन में कोई संदेह नहीं होगा. 

आर्थिक संकट के बीच नए श्रोत के रूप में उभरा है भारत 
रेलमंत्री ने कहा कि भारत विश्व स्तर पर आर्थिक संकट के बीच अवसरों से नए श्रोत के रूप में उभरा है. वैष्णव ने कहा कि जो लोग देश की जरूरतों को आगे रखते हैं, उन्हें जीवन में सफलता मिल सकती है. रोजगार मेला के दौरान रेलमंत्री ने कई लोगों को ज्वाइनिंग लेटर भी दिए. 

प्रधानमंत्री ने 71000 लोगों को बांटे ज्वाइनिंग लेटर 
एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री ने 71,056 लोगों को नियुक्ति पत्र दिए. गुजरात और हिमाचल प्रदेश को छोड़कर, जहां आदर्श आचार संहिता प्रभावी है, पूरे देश में 45 स्थानों पर नियुक्ति पत्र दिए गए. इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले महीने एनडीए शासित राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इसी तरह की पहल की गई थी.

मिशन मोड में काम कर रही सरकारः पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज का ये विशाल रोजगार मेला दिखाता है कि सरकार किस तरह सरकारी नौकरी देने के लिए मिशन मोड में काम कर रही है.भारत निर्यात के मामले में विश्व की एक बड़ी शक्ति के रूप में उभरा है और अब विशेषज्ञों का मानना है कि भारत विश्व का मैन्युफैक्चरिंग पावर हाउस भी जल्द बनेगा.