PM Modi आज Rojgar Mela में 71 हजार युवाओं को देंगे नियुक्ति पत्र, अलग-अलग पदों पर होगी तैनाती

Employment fair: रोजगार मेले के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी देंगे 71  हजार को नियुक्ति पत्र,जानिए पिछले साल कितने युवाओ को मिली थी नौकरी 
 

CEmployment fair:रोजगार मेले के दौरान पीएम  नरेन्द्र मोदी 10 लाख कर्मियों के लिए आज  करीब 71,000 युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपेंगे। यह जानकारी  प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने गुरुवार को दी। आपको बता दे की पिछले साल आयोजित हुए रोजगार मेले में  पीएम ने 10  लाख लोगों को रोजगार दिया था। वही   इस अवसर पर प्रधानमंत्री युवाओं को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित भी करेंगे।

प्रतिबद्धता पूरी करने की दिशा में काम है 
पीएमओ ने कहा कि रोजगार सृजन को मुख्य प्राथमिकता देने की प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता पूरी करने की दिशा में यह रोजगार मेला महत्वपूर्ण कदम है। रोजगार मेला रोजगार सृजन में उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगा और युवाओं को उनके सशक्तिकरण और राष्ट्रीय विकास में भागीदारी के लिए सार्थक अवसर प्रदान करेगा। पीएमओ ने आगे कहा कि देश भर से चयनित युवाओं को भारत सरकार के तहत जूनियर इंजीनियर, लोको पायलट, तकनीशियन, निरीक्षक, उप निरीक्षक, कांस्टेबल, स्टेनोग्राफर, जूनियर एकाउंटेंट, ग्रामीण डाक सेवक, आयकर निरीक्षक, शिक्षक, नर्स, डाक्टर, सामाजिक सुरक्षा अधिकारी, पीए, एमटीएस जैसे विभिन्न पदों पर तैनाती दी जाएगी।

कर्मयोगी प्रारंभ माड्यूल के बारे में अनुभव होंगे साझा 
इस कार्यक्रम के दौरान नवनियुक्त कर्मी कर्मयोगी प्रारंभ माड्यूल के बारे में अपने अनुभव भी साझा करेंगे। कर्मयोगी प्रारम्भ माडयूल विभिन्न सरकारी विभागों में सभी नवनियुक्त कर्मियों के लिए आनलाइन आरम्भिक पाठ्यक्रम है। इसमें सरकारी सेवकों के लिए आचार-संहिता, कार्यस्थल पर नैतिकता, सत्यनिष्ठा और मानव संसाधन नीतियां शामिल हैं।

पिछले साल 10 लाख लोगों को दिया था रोजगार 

प्रधानमंत्री ने पिछले साल 22 अक्टूबर को 10 लाख लोगों की भर्ती के लिए "रोजगार मेला" शुरू किया था और बेरोजगारी के मुद्दे पर विपक्ष की लगातार आलोचना के बीच पिछले आठ वर्षों में रोजगार सृजित करने के लिए अपनी सरकार के प्रयासों को रेखांकित किया था।

 45  मंत्रियों ने लिया  हिस्सा
 मेले में कुल 45 मंत्रियों ने हिस्सा लिया था जिनमें धर्मेंद्र प्रधान, पीयूष गोयल, हरदीप पुरी, अनुराग ठाकुर और अन्य वरिष्ठ मंत्री शामिल रहे।