NDA Topper: आर्मी स्कूल में पढ़ी बेटी बनी टॉपर, पहली बैच की परीक्षा में रचा इतिहास

बेटियां किसी से कम नहीं: यूपीएससी की तैयारी कर रही थीं, एनडीए टॉपर बनीं शनन, परिवार की सैन्य पृष्ठभूमि से जागा देश सेवा का जज्बा

 
Jaipur News, jaipur news in hindi, shanan dhaka, NDA topper shanan dhaka, NDA topper shanan dhaka story, NDA topper, NDA, NDA first batch, Indian army,  Indian army, Jaipur News, jaipur news in hindi, NDA, Jaipur News, News

जयपुर। जयपुर में आर्मी स्कूल में पढ़ने वाली छात्रा शनन ढाका ने महिलाओं के पहले एनडीए (नेशनल डिफेंस अकेडमी) बैच की परीक्षा में पहली रैंक हासिल कर इतिहास रच दिया। शनन मूल रूप से रोहतक के सुडाना गांव की बेटी हैं। उनका चयन लेफ्टिनेंट पद के लिए हुआ है। अपने दादा सूबेदार चंद्रभान ढाका और पिता नायक सूबेदार विजय कुमार ढाका से प्रेरित होकर शनन को सेना में भर्ती होकर देश सेवा की प्रेरणा मिली।

एनडीए में लड़कियों को प्रवेश देने की घोषणा के बाद हुई परीक्षा में देशभर से शनन समेत 19 लड़कियों का चयन हुआ है। इनमें से 10 थल सेना, 6 वायुसेना, 3 नौसेना में सेवाएं देंगी। लिखित परीक्षा पास करने के बाद 5 दिन चले इंटरव्यू में शनन (19) ने आत्मविश्वास बनाए रखा। उन्हें सेना में जाने के लिए अनुकूल माहौल परिवार से मिला। उनकी बड़ी बहन जोनून ढाका मिलिट्री में नर्सिंग अफसर हैं, जबकि छोटी बहन आशी पांचवीं की छात्रा है।

एनडीए परीक्षा में प्रश्न पत्र हल करने के लिए ढाई घंटे का समय मिलता है, लेकिन तैयारी के दौरान शनन ने दो घंटे में पेपर हल करने की कोशिश की, ताकि परीक्षा में किसी तरह की दिक्कत न हो। वह तीन साल पुणे के प्रशिक्षण संस्थान और उसके बाद एक साल भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून में प्रशिक्षण लेंगी। जुलाई-अगस्त में उन्हें ज्वॉइनिंग लेटर मिलेगा। वह सेना की इंटेलिजेंस कोर में काम करना चाहती हैं। उनका परिवार कुछ साल से चंडीगढ़ में रह रहा है।

रोज 10-12 घंटे हल किए पुराने पेपर

शनन ने बताया कि वह यूपीएससी की तैयारी कर रही थीं, लेकिन जब केंद्र सरकार ने एनडीए में महिलाओं को प्रवेश की मंजूरी दी तो उन्होंने भी इसके लिए आवेदन कर दिया। उन्हें एनडीए परीक्षा की तैयारी के लिए महज 40 दिन का ही समय मिला। एनडीए की तैयारी के लिए उन्होंने वेबसाइट से एनडीए परीक्षा के पुराने वर्षों के प्रश्न पत्र डाउनलोड कर हल करना शुरू कर दिया और रोजाना 10-12 घंटे पढ़ाई की।

आर्मी स्कूल में हुई पढ़ाई

पिता सेना में होने की कारण शनन की पढ़ाई आर्मी स्कूल में हुई। उन्होंने 4 साल रुड़की आर्मी स्कूल, तीन साल जयपुर आर्मी स्कूल और 5 साल पंचकूला के चंडी मंदिर आर्मी स्कूल में पढ़ाई की। स्नातक पाठ्यक्रम के लिए उन्होंने पिछले साल दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज में दाखिला लिया था।