दादा, दीदी और अब छोटी बहन भी बनी IPS, UPSC में मध्य प्रदेश की बेटी ने हासिल की 96वीं रैंक, ऐसे की थी तैयारी

मध्य प्रदेश के भिंड की रहने वाली मिनी शुक्ला ने यूपीएससी 2021 की परीक्षा में 96वीं रैंक हासिल की है. मिनी की बड़ी बहन प्रियंका शुक्ला भी यूपीएससी पास कर चुकी हैं और जबलपुर में पदस्थ हैं.

 
दादा, दीदी और अब छोटी बहन भी बनी IPS, UPSC में मध्य प्रदेश की बेटी ने हासिल की 96वीं रैंक, ऐसे की थी तैयारी

UPSC 2021 का रिजल्ट आ गया है. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की बेटी मिनी शुक्ला ने 96 वीं रैंक हासिल की है. मिनी शुक्ला (IPS Mini Shukla) प्रदेश के भिंड की रहने वाली हैं. सबसे खास बात यह है कि मिनी की बड़ी बहन प्रियंका शुक्ला भी एक आईपीएस ऑफिसर हैं जो जबलपुर में सीएसपी के पद पर पदस्थ हैं. मिनी शुक्ला ने बताया की उन्होंने अपनी बड़ी बहन प्रियंका से ही आईपीएस बनने की प्रेरणा ली है. मिनी का कहना है कि जब उनकी बड़ी बहन प्रियंका आईपीएस बनी थी तब उन्होंने ने भी ठान लिया था कि वो भी एक आईपीएस बनकर समाज की सेवा करेंगी और आज उनका यह सपना पूरा हो गया है. बता दें कि मिनी को मध्यप्रदेश में आईपीएस का कैडर मिला है.

दादा, दीदी, और उसके बाद अब छोटी बहन आईपीएस

मिनी की मां सीमा शुक्ला का कहना है कि उन्हें आज बहुत गर्व महसूस हो रहा है कि उनकी दोनों बेटी आईपीएस बन चुकी हैं. इसके लिए वह ईश्वर का शुक्रिया अदा करती हैं. वह कहती है कि उनके परिवार के ऊपर ईश्वर की बड़ी कृपा है और बुजुर्गों का आशीर्वाद है. आज यह देखकर में बहुत खुश हूं और मैं चाहती हूं कि यह दिन हर मां को देखने के लिए मिले. मिनी की माँ बताती हैं कि दोनो ने आईपीएस बनने के लिए बड़ी मेहनत की है. दिनरात पढ़ाई कर यह मुकाम हासिल किया है. मिनी की पढ़ाई के लिए तो बड़ी बहन प्रियंका ने साथ दिया लेकिन प्रियंका ने अपने मुकाम को पाने के लिए कड़ी मेहनत की.

बड़ी बहन की ट्रेनिंग के दौरान मन में आया आईपीएस बनने का विचार

इधर मिनी की बड़ी बहन प्रियंका शुक्ला का कहना है कि उन्हें आईपीएस बनने की प्रेरणा उनके दादाजी से मिली थी जो एक आईपीएस थे और उन्होंने बचपन से ही आईपीएस बनने का सपना संजो लिया था. प्रियंका बताती है कि वह सेकेंड क्लास में थी. तभी से उनका सपना था कि वो आईपीएस में ही बनेंगी. उन्होंने बताया कि मेरे दादाजी भी आईपीएस थे उन्हें देखकर हमें प्रेरणा मिलती रहती थी. तब मैंने ठाना कि मुझे आईपीएससी बनना है.

मेरी छोटी बहन मिनी मेरी ट्रेनिंग के दौरान जबलपुर भोपाल सहित कई जगह में मेरे साथ रही है, लेकिन पहले मिनी का रुझान आईपीएस बनने का नहीं था लेकिन जब वह मेरे साथ रही और उसने मुझे देखा तब मिनी के मन में भी आया कि उसे भी आईपीएस बनना है. आज उन्हें बहुत खुशी हो रही है कि उनकी छोटी बहन भी अब आईपीएस बन चुकी है.