अपराध

जींद: लड़की ने फोन कर लड़के को मिलने बुलाया और घरवालों ने उतार दिया मौत के घाट

Jind: The girl called the boy to meet and the family members put him to death

सफीदों-असंध मार्ग पर डेरा सच्चा सौदा के पास एक युवक की लाश मिली है। युवक की लाश मिलने की खबर पूरे क्षेत्र में आग की तरह से फैल गई। मामले की सूचना सफीदों पुलिस को दी गई। सूचना पाकर डीएसपी साधूराम, सदर थाना प्रभारी कृष्ण कुमार व सिटी थाना प्रभारी महेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे और शव का मुआयना किया। कुछ ही देर में युवक के परिजन व काफी तादाद में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। परिजनों ने युवक की शिनाख्त कर ली।

युवक की पहचान प्रिंसपाल सिंह (24) निवासी डेरा गुजराखीया, असंध (करनाल) के रूप में हुई है। पुलिस के बुलावे पर एफएसएल टीम मौके पर पहुंच चुकी थी। टीम ने मौके से साक्ष्य एकत्रित किए हैं। इस सारे घटनाक्रम को प्रेम प्रसंग व ऑनर किलिंग से जोड़कर देखा जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक डेरा गुजराखीया के प्रिंसपाल ने शाम को अपने दोस्त आकाशदीप को फोन मिलाया। आकाशदीप का फोन व्यस्त आने के कारण प्रिंसपाल उसके घर पर पहुंच गया। प्रिंसपाल ने आकाशदीप को कहा कि उसका जीजा सफीदों आया हुआ है और उसको सफीदों से गांव लेकर आना है। वह आकाशदीप के साथ सफीदों की बजाए गांव रामपुरा पहुंच गया। प्रिसंपाल गांव रामपुरा में अपने एक दोस्त से मिला। प्रिंसपाल, आकाशदीप व अन्य दोस्त गांव की एक दुकान में कुछ देर बैठे और उसके बाद प्रिंसपाल गांव के एक घर में चला गया। कुछ देर बाद दोस्त आकाशदीप ने प्रिंसपाल को फोन मिलाया तो उसने कहा कि वह फंस गया है तथा वह अभी नहीं आ सकता।

Jind: The girl called the boy to meet and the family members put him to death

इसके बाद प्रिंसपाल का फोन स्वीच ऑफ हो गया। इस पर आकाशदीप वापस प्रिंसपाल के घर पर पहुंचा और सारी बात उसके माता-पिता को बताकर अपने घर पर जाकर सो गया। परिजनों ने रात को पुलिस को कोई सूचना नहीं दी और अपने स्तर पर प्रिंसपाल की तलाश करते रहे। सुबह करीब 7 बजे उनको किसी ने बताया कि एक युवक की लाश डेरा सच्चा सौदा के पास सड़क पर पड़ी हुई है। आनन-फानन में परिजन मौके पर पहुंचे और अपने बेटे के शव की शिनाख्त की।

घटनास्थल पर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। उन्होंने बेटे की हत्या करने के आरोप लगाए। बताया जाता है कि मृतक युवक प्रिंसपाल के गांव रामपुरा में किसी युवती के साथ पिछले 2-3 साल से संबंध थे, लेकिन उसके बावजूद उसकी एक साल पहले शादी कहीं ओर हो गई थी। प्रिंसपाल की मौत के बाद उसके परिवार वालों पर गम का पहाड़ टूट पड़ा है। प्रिंसपाल अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था। उसकी दो बहनें है। एक की शादी हो चुकी है तथा छोटी बहन की शादी अगले महीने होने वाली थी। वह अपने पीछे मां-बाप, पत्नी व एक महीने की दूधमुही बच्ची छोड़कर गया है।

प्रिंसपाल का पिता भी पिछले काफी समय से बीमार चल रहे हैं। प्रिंसपाल के सिर पर ही घर की गाड़ी चल रही थी। इस बारे डीएसपी साधू राम ने बताया कि शिकायत मिलने के उपरांत प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। कोई भी दोषी बख्सा नहीं जाएगा। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें अपना काम कर रही हैं।

सफीदों पुलिस को दी शिकायत में मृतक प्रिंसपाल की मां बलजीत कौर ने कहा कि प्रिंसपाल 16 अक्टूबर की शाम 4 बजे घर से यह कहकर गया था कि वह अपने चाचा के लड़के के जन्मदिन पर जा रहा है। इसके बाद जब प्रिंसपाल को रात करीब साढ़े 9 बजे फोन किया तो उसने कहा कि वह 10 मिनट में घर पहुंच जाएगा। वह इसके बाद भी फोन करती रही, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया और फिर बाद में फोन बंद हो गया। रात करीब साढ़े 12 बजे प्रिंसपाल के दोस्त आकाशदीप ने आकर बताया कि वह और प्रिंसपाल दोनों गांव रामपुरा गए थे।

Jind: The girl called the boy to meet and the family members put him to death

आकाशदीप ने बताया कि प्रिंसपाल गांव रामपुरा निवासी अपनी एक दोस्त से मिलने गया था, जहां उसने अपनी दोस्त से फोन पर चेट की और उसके बाद वह उसके घर के अंदर चला गया था। वह घर के बाहर प्रिंसपाल का बाहर इंतजार करने लगा तो थोड़ी देर बाद घर के अंदर से आवाजें सुनाई देने लगी व चीखें आने लगी। आकाशदीप ने बताया कि इसके बाद वह प्रिंसपाल का मोटरसाइकिल लेकर वहां से आ गया और फिर मां बलजीत कौर को बताया कि उसको बचा सको तो बचा लो। इसके बाद उन्होंने इस बारे में पति, देवर, जेठ व परिवार के अन्य सदस्यों को बताया। जिस पर परिवार के चार-पांच सदस्य रामपुरा में गए, जहां पर उन्हें कोई ठोस जवाब नहीं मिला।

बाद में पता चला कि एक लड़के की लाश असंध रोड नजदीक डेरा सच्चा सौदा के पास सड़क के किनारे पड़ी है। इस सूचना के बाद जब उन्होंने वहां पर जाकर देखा तो वह प्रिंसपाल की लाश थी। जिसके शरीर पर चोटें लगी हुई थी। बलजीत कौर ने बताया कि लड़की ने उनके बेटे को टेलीफोन करके मिलने के बहाने बुलाया और फिर उसके परिजनों ने उनके बेटे को मौत के घाट उतार दिया। हत्या करने के बाद प्रिंसपाल की लाश को कार में डालकर सड़क के किनारे गुरुद्वारा सच्चा सौदा के नजदीक फेंक दिया। उन्होंने कहा कि इन सभी ने मेरे बेटे को बेरहमी से पीटकर मारा है। इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने पांचों आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 342 302, 201 व 120बी के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top