बड़ी खबरें

देश के सबसे युवा IPS अधिकारी हैं सफीन हसन, लाखों युवाओं के लिए हैं प्रेरणा स्रोत

MY Sirsa,

2017 की यूपीएससी की परीक्षा में वे उतीर्ण होकर, 570वीं रैंक प्राप्त कर देश के सबसे युवा आईपीएस अधिकारी बने सफीन हसन। सफीन हसन गुजरात के पालनपुर के रहने वाले हैं। उनका बचपन बेहद हीं संघर्षपूर्ण रहा। उनके माता-पिता मजदूरी का काम किया करते थे।

माँ दूसरों के घरों में काम करतीं व रेस्टोरेंटों और विवाह समारोहों में रोटी बेलने का काम करतीं तो पिता ठेड के दिनों में चाय और अंडे का ठेला लगाते थे। वे और उनका परिवार बेहद गरीबी में जिंदगी जीने को मजबूर था। उनकी जिंदगी में कई दिन तो ऐसे भी आए जब उन्हें भूखे भी रहना पड़ा। इन सब समस्याओं को झेलते हुए सफीन ने अपनी पढ़ाई जारी रखी।

 

कुछ लोगों ने पढाई में की खूब मदद

सफीन हसन की प्राथमिक शिक्षा पालनपुर के एक छोटे से गांव कणोदर में हुई जिसके बाद उन्होंने पढाई के लिए हाईस्कूल में दाखिला लिया वहाँ के प्रधानाध्यापक ने सफीन की 80 हजार रूपए की फीस माफ कर दी। हाईस्कूल की पढाई पूरी करने के बाद वे इंजीनियरिंग करना चाहते थे इसलिए वे सूरत आ गए और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग में नामांकन लिया। इंजीनियरिंग के पश्चात वे आईपीएस की तैयारी के लिए दिल्ली आ गए। गुजरात के हीं रहने वाले पोलरा परिवार ने उनके दिल्ली की पढाई का पूरा खर्च उठाया।

ऐसे आया आईपीएस बनने का खयाल

सफीन हसन अपने आईपीएस बनने के खयाल के बारे में बताते हैं कि “एक बार मैं अपनी मौसी के साथ एक विद्यालय में गया था। उस समारोह में एक कलेक्टर साहब भी आए थे। उस कलक्टर का आतिथ्य सम्मान देखकर वे आश्चर्यचकित हो गए और मौसी से इसके बारे में पूछ बैठा कि ये कौन हैं जिनका लोग इतना सन्मान कर रहे हैं। मौसी ने जबाब देते हुए कहा कि ये जिले के मुखिया हैं। यह पद देशसेवा के लिए होता है। उसी समय मैंने भी ऐसे हीं एक अधिकारी बनने का संकल्प लिया।”

उन दिनों जब यूपीएससी की परीक्षा शुरू हुई थी तभी सफीन एक दुर्घटना के शिकार हो गए। लिखने वाले उनके हाथ सही रहने के कारण वे परीक्षा दे पाए लेकिन परीक्षा के तुरंत बाद इलाज हेतु उन्हें अस्पताल जाना पड़ा था।

यूपीएससी में हुआ सेलेक्शन , बने एएसपी

2017 की यूपीएससी की परीक्षा में वे उतीर्ण हुए और उन्होंने 570 वीं रैंक प्राप्त किया। इसके बाद वे गुजरात कैडर से आईपीएस की ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद चले गए। वहाँ से ट्रेनिंग पूरी करने के बाद सफीन हसन को जामनगर में असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के तौर पर नियुक्ति मिली। वे पूरे देश में अब तक के सबसे कम उम्र में बनने वाले आईपीएस अधिकारी हैं।

Related posts

गैस सिलेंडर बुक करवाना हुआ आसान, इन WhatsApp नम्बरों के जरिये करें बुक

admin

हरियाणा में आज कोरोना ने तोड़े पिछले सारे रिकॉर्ड, एक दिन में 3100 से ज्यादा केस

admin

गेंहू खरीद को लेकर सिरसा में किसानों ने जिला प्रशासन को सौंपा ज्ञापन।

admin
Share this
error: Content is protected !!
Join Our Group