बड़ी खबरें शिक्षा सरकारी योजनाएं सिरसा खबर सिरसा में खास हरियाणा

सिरसा में परिवार पहचान पत्र के सत्यापन के लिए ड्यूटी से अध्यापकों ने किया बहिष्कार, अधिकारी बना रहे दबाव

My Sirsa News

राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ सिरसा व तमाम खंड कार्यकारिणी की एक महत्वपूर्ण मीटिंग राजकीय प्राथमिक पाठशाला नम्बर पांच में संघ के जिला अध्यक्ष बंसी लाल झोरड़ के नेतृत्व में हुई। जिसमें सरकार द्वारा अध्यापकों की परिवार पहचान पत्र में अंकित आय के सत्यापन हेतु लगाई गई ड्यूटी के संदर्भ में विस्तृत चर्चा हुई।

सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया कि अध्यापक समुदाय किसी भी दृष्टि से आय सत्यापन हेतु आधिकारिक रूप से सक्षम नहीं है। इसलिए वे उक्त ड्यूटी का बहिष्कार करते हैं। झोरड़ ने बताया कि जिला में 515 अध्यापकों की परिवार पहचान पत्र के लिए ड्यूटियां लगाई गई हैं। उन्होंने कहा कि राज्य कार्यकारिणी का एक प्रतिनिधिमण्डल मुख्यमंत्री से मिला है। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि ये कार्य स्वेच्छा से कोई शिक्षक करना चाहे तो करे, किसी पर कोई दबाव नहीं है।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस में भी स्वेच्छा से परिवार पहचान पत्र की आय सत्यापन करने की बात कही, परंतु धरातल पर स्थिति उलट है। अधिकारी वर्ग की तरफ से बार-बार अध्यापकों पर फोन के माध्यम से दबाव बनाया जा रहा है। शिक्षक समुदाय सदैव राष्ट्रहित में अपनी अग्रणी भूमिका को सुनिश्चित करता रहा है व आगे भी करता रहेगा।

लेकिन परिवार पहचान पत्र में अंकित आय को सत्यापन करने के लिए धरातल पर कोई मानदंड निश्चित नहीं है व शिक्षक वर्ग उक्त ड्यूटी को निभाने हेतु सक्षम नहीं है।

शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009 में स्पष्ट प्रावधान है कि शिक्षकों से गैर शैक्षणिक कार्य नहीं करवाना है। वे उक्त ड्यूटी का बहिष्कार करते हैं व जिला प्रशासन से मांग करते हैं कि परिवार पहचान पत्र आय सत्यापन के कार्य हेतु अध्यापकों की लगाई गई ड्यूटी को रद्द करते हुए किसी भी अध्यापक की ड्यूटी न लगाई जाए।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र निर्माण में शिक्षक वर्ग किसी भी प्रकार की ड्यूटी देने को सदैव तत्पर रहा है व रहेगा, लेकिन आय सत्यापन के कार्य को नहीं करेगा। इस अवसर पर राज्य उपप्रधान राजकुमार कासनियां, जिला कार्यकारिणी के पदाधिकारीगण रिछपाल मानव, लखविंद्र सिंह रतन, प्रेम बोस, सुनील कड़वासरा, चानन हिंदुस्तानी, हरवंश लाल, ओमप्रकाश मैहता, डीएन व्यास, संदीप सहारण, दलवीर गोदारा एवं खंड कार्यकारिणियों से खंड प्रधान सुरेन्द्र ढ़िल्लो, भगत सिंह न्योल, महावीर न्योल, अजमेर जांगड़ा, विनोद देम्बीवाल, उपप्रधान भूपसिंह, रायसिंह, विजय मानधनिया, सीताराम मौजूद रहे।

Related posts

सिरसा में कोरोना के बढ़ते हुए मामले रूकने का नाम नहीं ले रहे हैं। 4 और नए मामले आए सामने

admin

हिंदू लड़की से विवाह करने के लिए मुस्लिम युवक ने बदला धर्म, हाइकोर्ट ने दी सुरक्षा

admin

रोडवेज कर्मचारियों की ड्यूटी का समय आठ घंटे, करते हैं 12 घंटे काम, कर्मचारियों ने जताया विरोध

admin
Share this
Join Our Group