1583X262px
स्वास्थ्य

सिरसा शहर में नाईट कर्फ्यू को हो रहा पालन, रात को छा जाता है सन्नाटा

My Sirsa News

नाईट कर्फ्यू को लेकर सिरसा के बाजारों में 10 बजने के साथ ही सन्नाटा छा जाता है। रात को करीब 10 बजकर 15 मिनट पर शहर के सुभाष चौक के नजदीक बाजार में अधिकतर दुकानें बंद पड़ी थी चौक पर शहर थाना पुलिस की टीम मौजूद थी। इसी दौरान मोटरसाइकिल पर एक युवक-युवती आए, जिन्हें पुलिस ने रुकने का इशारा किया।

पुलिस जवान ने पूछा कि रात का क‌र्फ्यू होने के बावजूद कहां घूम रहे हो युवक ने बताया कि वह मंदिर से आया है, दुकान से देरी हो गई थी। वो तो ठीक है लेकिन कोरोना से बचने के लिए सरकार ने नाइट क‌र्फ्यू लगाया है क्या इसकी जानकारी नहीं है। युवक बोला सर अभी तो 15 मिनट की ही देरी हुई है। जाओ घर चले जाओ। इसके बाद चौक पर एक कार आई जिसे रोक कर भी पुलिस जवान पूछताछ करने लगे यह सिलसिला देर रात तक चलता रहा।

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सरकार द्वारा लागू किए गए नाइट क‌र्फ्यू की पहली रात से ही बाजार में 10:00 बजे के बाद सन्नाटा पसरा हुआ नजर आया। करीब 9:45 बजे पुलिस की पीसीआर मुख्य बाजारों में से गुजरी और लोगों को दुकानें बंद करने की हिदायत दी। गीता भवन वाली गली में फास्ट फूड चाट पकौड़ी इत्यादि की 20 से अधिक रेहड़िया लगी थी, लेकिन आधा घंटे बाद ही सभी अपना काम समेट कर घरों को चल दिए। मुख्य चौक चौराहों पर रात 10:00 बजे के करीब तक शराब ठेके खुले रहे।.

त्यौहारी सीजन में कोरोना से बचाव को लेकर अधिक सतर्कता बरतने की जरूरत

जिन्हें बाद में पुलिस टीम ने पहुंचकर बंद करवा दिया। शहर में मिठाई विक्रेताओं की दुकानें भी बंद नजर आई। डबवाली रोड पर स्थित सालासर धाम मंदिर के कपाट भी रात सही 10:00 बजे बंद हो गई। इससे पहले मंगलवार को यह मंदिर रात 11 बजे तक खुला रहता था। अंबेडकर चौक व परशुराम चौक के इर्द-गिर्द रोटियों के कई ढाबे खुले थे जब पुलिस टीम वहां पहुंची तो ढाबा संचालकों ने कहा कि वे ग्राहकों को रोटियां पैक कर दे रहे हैं और किसी को यहां नहीं खिलाया जा रहा। अभी होटल बंद कर देंगे।

ताजा खबरें

To Top