35.6 C
Sirsa
Monday, September 28, 2020

नए कपड़े अगर आप भी बिना धोए पहनते हैं तो हो जाएं सतर्क

Must Read

शहीद भगत सिंह 113वीं जयंती की पूर्व संध्या पर वेबिनार के जरिए युवाओं से जुड़े मुख्यमंत्री मनोहर लाल

शहीद भगत सिंह 113वीं जयंती की पूर्व संध्या पर वेबिनार के जरिए युवाओं से जुड़े मुख्यमंत्री मनोहर लाल मुख्यमंत्री मनोहर...

जीएसटी में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा, 14.50 कराेड़ रुपए की टैक्स चोरी पकड़ी

जीएसटी में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा, 14.50 कराेड़ रुपए की टैक्स चोरी पकड़ी सेंट्रल गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (सीजीएसटी) की...

देश में दुबई, ब्रिटेन से आने वालों ने सबसे ज्यादा कोरोना फैलाया

देश में दुबई, ब्रिटेन से आने वालों ने सबसे ज्यादा कोरोना फैलाया भारत में कोरोना संक्रमण के प्रसार काे लेकर...

नए कपड़े अगर आप भी बिना धोए पहनते हैं तो हो जाएं सतर्क

अक्सर नए कपड़े बाजार से खरीदने के बाद लोग उन्हें तुरंत बिना धोएं ही पहन लेते हैं। पर क्या आप जानते हैं आपकी यह आदत आपकी सेहत को कितना बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है? जी हां कपड़ों को शॉपिंग बैग से सीधे निकालकर पहन लेने से आपकी सेहत बिगड़ सकती है। आइए जानते हैं नए कपड़ों को पहनने से पहले हमें क्यों उन्हें धोकर पहनना चाहिए।

नए कपड़े अगर आप भी बिना धोए पहनते हैं तो हो जाएं सतर्क

नए कपड़े लाते हैं कीटाणुओं को साथ-
विशेषज्ञों की मानें तो जो कपड़े आप बड़े शौक से शॉपिंग करके अपने घर लाते हैं, उनके साथ ढेरों कीटाणु भी कपड़े में चिपककर आपके घर तक पहुंच जाते हैं। शॉपिंग के समय कपड़ों को ट्रायल के दौरान हजारों बार पहना जाता है, जिससे लोगों के पसीने के साथ कीटाणु भी उन कपड़ों के साथ चिपक जाते हैं।

कपड़े पर लगे रसायन से दाद-खाज खुजली-
कपड़ों को पैक करते समय रसायन से कवर करके रखा जाता है, जो आपकी त्वचा के संपर्क में आकर बुरा असर डाल सकते हैं। कपड़ों की प्रोसेसिंग करते समय कई तरह के रसायनों का प्रयोग किया जाता है, जिसे बिना धोए पहनने पर व्यक्ति को दाद, खाज और खुजली जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

नए कपड़े अगर आप भी बिना धोए पहनते हैं तो हो जाएं सतर्क

डाई कलर्स से एलर्जी –
प्राकृतिक धागों का अपना कोई रंग नहीं होता, इसलिए उन्हें सुंदर रंगों में रंगा जाता है। कपड़ों की रंगाई, छपाई और डाई जैसी प्रक्रियाओं में उसपर विभिन्न प्रकार के केमिकल्स लगाए जाते हैं। ज़्यादातर रंगीन कपड़ों में ऐजो डाईस का इस्तेमाल किया जाता है। कपड़ा जितना रंगीन और चटक होगा उसमें उतनी अधिक डाई का इस्तेमाल किया जाएगा। ऐजो डाई के सीधे त्वचा के संपर्क में आने से त्वचा में बहुत अधिक जलन और परेशानी होती है, जिसकी वजह से एलर्जी हो सकती है।

त्वचा रोग को न्योता-
बाजार से कोई भी कपड़ा सीधा घर लाकर पहनने से पहले उस कपड़े को कई लोग पहले ही ट्राई करते समय पहन चुके होते हैं। ऐसे में उनके शरीर का पसीना, धूल-मिट्टी या कोई स्किन इंफेक्शन आपके लिए भी परेशानी का सबब बन सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

शहीद भगत सिंह 113वीं जयंती की पूर्व संध्या पर वेबिनार के जरिए युवाओं से जुड़े मुख्यमंत्री मनोहर लाल

शहीद भगत सिंह 113वीं जयंती की पूर्व संध्या पर वेबिनार के जरिए युवाओं से जुड़े मुख्यमंत्री मनोहर लाल मुख्यमंत्री मनोहर...

जीएसटी में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा, 14.50 कराेड़ रुपए की टैक्स चोरी पकड़ी

जीएसटी में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा, 14.50 कराेड़ रुपए की टैक्स चोरी पकड़ी सेंट्रल गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (सीजीएसटी) की टीम ने हिसार में फर्जी...

देश में दुबई, ब्रिटेन से आने वालों ने सबसे ज्यादा कोरोना फैलाया

देश में दुबई, ब्रिटेन से आने वालों ने सबसे ज्यादा कोरोना फैलाया भारत में कोरोना संक्रमण के प्रसार काे लेकर इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी)...

हरियाणा में संक्रमितों का आंकड़ा 124317 हो गया है, इनमें से 105990 ठीक हो चुके

हरियाणा में संक्रमितों का आंकड़ा 124317 हो गया है, इनमें से 105990 ठीक हो चुके हरियाणा में कोरोना के नए मरीजों की संख्या में लगातार...

EMI ब्याज दरें आरबीआई मौद्रिक समीक्षा बैठक में घटा सकता है 

EMI ब्याज दरें आरबीआई मौद्रिक समीक्षा बैठक में घटा सकता है रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक 29 सितंबर को शुरू हो...

More Articles Like This