Diabetes: डायबिटीज के मरीजों के लिए रामवाण हैं इस आटे की रोटियां, जानें कैसे करता है फंक्शन

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में शुगर के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। लगातार इससे बचने के उपाय ढूंढे जा रहे हैं। वैसे डायबिटीज के मरीज अक्सर अपने खानपान को लेकर भ्रमित रहते हैं। उन्हें समझ में नहीं आता कि क्या खाना और क्या नहीं खाना।
 
डायबिटीज के मरीजों के लिए रामवाण हैं इस आटे की रोटियां

Diabetes: आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में शुगर के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। लगातार इससे बचने के उपाय ढूंढे जा रहे हैं। वैसे डायबिटीज के मरीज अक्सर अपने खानपान को लेकर भ्रमित रहते हैं। उन्हें समझ में नहीं आता कि क्या खाना और क्या नहीं खाना। दरअसल, उन्हें वो चीजें खानी होती है, जिससे उनका शुगर लेवल कम रहे। ऐसे में डायबिटीज के मरीजों के लिए मोटा अनाज एक अच्छा फूड ऑप्शन हो सकता है। इनमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है और इनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जिसके कारण ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिलती है। मोटा अनाज डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होते हैं और इससे बनाई जाने वाली रोटियां ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने नहीं देती हैं। 

जौ का आटा

जौ को बार्ली भी कहा जाता है और इसका आटा सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। डायबिटीज के मरीज बिना किसी टेंशन के जौ के आटे से बनी रोटियां खा सकते हैं। इससे मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है। इसके अलावा जौ का आटा कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी नियंत्रित करता है।

रागी का आटा

रागी का आटा डाइटरी फाइबर से भरपूर होता है और यह डायबिटीज के मरीजों के लिए अच्छा माना जाता है। रागी के आटे से बनी रोटियां खाने से आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है। इससे आप ज्यादा खाना नहीं खाते और आपका वजन नहीं बढ़ता। 

ओट्स का आटा 

ओट्स में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जिससे ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखते हैं। इसके अलावा यह कम कैलोरी का होता है जो आपके वजन कम करने में भी मदद कर सकता है। 100 ग्राम ओट्स में शरीर को 68 कैलोरी और 21 ग्राम फाइबर मिलता है। इसलिए ओट्स के आटे से बनी रोटियां आपके लिए फायदेमंद होती हैं।

ज्वार का आटा

डायबिटीज के मरीजों के लिए ज्वार का आटा एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। इसमें फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और एंटीऑक्सीडेंट भी अधिक होता है। इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है, जिसके सेवन से अचानक शुगर लेवल नहीं बढ़ता।