Arthritis Pain In Winters: सर्दियों में बढ़ जाता है जोड़ों का दर्द? राहत पाने के लिए करें ये काम

सर्दियों का मौसम कई लोगों के लिए काफी मुश्किल भरा साबित होता है, खासतौर पर अर्थराइटिस के मरीजों के लिए. एक्सपर्ट्स का कहना है कि ऐसे बहुत से कारण हैं जिनकी वजह से सर्दियों में अर्थराइटिस के मरीजों की दिक्कतें बढ़ जाती हैं. लाइफस्टाइल में थोड़े बदलाव करके सर्दियों के मौसम में होने वाले अर्थराइटिस के दर्द से बचा जा सकता है.

 
Arthritis Pain In Winters: सर्दियों में बढ़ जाता है जोड़ों का दर्द? राहत पाने के लिए करें ये काम

Arthritis Pain In Winters: सर्दियों के मौसम में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिसमें से एक अर्थराइटिस के कारण होने का दर्द है. हालांकि सर्दियों के कारण अर्थराइटिस नहीं होता है लेकिन सर्दियों में अर्थराइटिस के कारण होने वाले दर्द में काफी ज्यादा बढ़ोतरी हो जाती है. इस मामले में एक्सपर्ट्स का कहना है कि ऐसे कई कारक हैं जो गठिया से पीड़ित लोगों के लिए सर्दी के मौसम को मुश्किल बनाते हैं. सर्दियों में अर्थराइटिस की समस्या से पीड़ित लोगों को कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है जिन्हें लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करके आसानी से दूर किया जा सकता है. 

सर्दियों में अर्थराइटिस की समस्या से बचने के लिए जरूरी है कि आप एक्टिव रहें, रेगुलर एक्सरसाइज करें, बॉडी का सही पोस्चर मेनटेन रखें और ज्यादा हैवी एक्सरसाइज करने से बचें.

सर्दियों में अर्थराइटिस बढ़ने का एक कारण रक्त कोशिकाओं का सिकुड़ना हो सकता है. अर्थराइटिस की समस्या से छुटकारा पाना काफी ज्यादा मुश्किल होता है. इसके कारण लोगों को चलने और उठने-बैठने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. 

सर्दियों में तापमान ठंडा होने के कारण घुटनों में मौजूद श्लेष द्रव (Synovial fluid) काफी ज्यादा गाढ़ा हो जाता है जिस कारण जोड़ों में दर्द, अकड़न का सामना करना पड़ता है. 


हड्डियों को मजबूत बनाने और ज्वाइंट्स के बेहतर कामकाज के लिए श्लेष द्रव की  काफी जरूरत होती है. यह एक गाढ़ा तरल पदार्थ है, जो आपके जोड़ों को हिलने-डुलने में मदद करता है और उन्हें आपस में रगड़ने से रोकता है. आम भाषा में इसे ग्रीस भी कहा जाता है.

अगर आपको भी अर्थराइटिस की समस्या है और आप सर्दियों में इस दर्द से राहत पाना चाहते हैं तो हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आपकी यह समस्या बहुत हद तक कम हो जाएगाी.


सर्दियों के मौसम में इन बातों का खास ख्याल रखें अर्थराइटिस के मरीज

गर्म कपड़े पहनें- सर्दियों के मौसम में जरूरी है कि आप गर्म कपड़े पहने और अपने हाथ-पैरों और ज्वाइंट्स को कवर करके रखें ताकि उन्हें गर्माहट मिल सके. 

एक्सरसाइज- सर्दियों में बहुत से लोग आलस के कारण एक्सरसाइज करना छोड़ देते हैं लेकिन अगर आप अर्थराइटिस के मरीज हैं तो जरूरी है कि आप सर्दियों में भी एक्सरसाइज करें. आप धूप में वॉक कर सकते हैं या जिम में एक्टिविटीज भी कर सकते हैं. इससे आपके शरीर की मेटाबॉलिक हीट बढ़ती है. साथ ही, ज्वॉइंट्स भी सही तरीके से काम करते हैं. इसके अलावा आप किसी स्पोर्ट्स एक्टिविटीज में भी शामिल हो सकते हैं ये आपके शरीर और दिमाग के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा.

हेल्दी चीजें खाएं- सर्दियों में अर्थराइटिस की समस्या से छुटकारा पाने के लिए जरूरी है कि आप हेल्दी चीजों जैसे फल, सब्जियों, मछली, नट्स और बीजों का सेवन करें. इसके अलावा रोजाना विटामिन डी सप्लीमेंट्स लेना भी आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. 

इन बातों का रखें ख्याल- हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोई भी एक्टिविटी करते समय अपने जोड़ों का खास ख्याल रखें और इन्हें मूव करते रहें. सही तरीके से बैठने, खड़े होने और चलने से आप आर्थराइटिस के दर्द को कम कर सकते हैं. इसके अलावा ये भी जरूरी है कि आप अपने वजन को बढ़ने ना दें. वजन बढ़ने से आपके शरीर का सारा भार घुटनों में आ जाता है जिससे दर्द की समस्या और भी ज्यादा बढ़ जाता है. 

स्मोकिंग छोड़ें- अगर आप अर्थराइटिस के दर्द से छुटकारा पाना चाहते हैं तो जरूरी है कि स्मोकिंग ना करें. स्मोकिंग के कारण संयोजी ऊतकों के बीच में काफी ज्यादा तनाव बढ़ जाता है जिस कारण अर्थराइटिस का दर्द काफी ज्यादा बढ़ सकता है. 

ज्वाइंट्स के बाहर की स्किन का रखें खास ख्याल- सर्दियों में अर्थराइटिस के दर्द से बचने के लिए जरूरी है कि आप अपने ज्वाइंट्स के बाहर की स्किन का खास ख्याल रखें क्योंकि जब यह स्किन ड्राई होती है तो इससे जोड़ों में जलन का एहसास होता है. ऐसे मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें जिसमें विटामिन A और E हो. इससे दर्द से राहत मिल सकती है.

 
धूप में बैठें- सर्दियों के मौसम में जरूरी है कि आप एक घंटा धूप में जरूर बैठें ताकि आपकी हड्डियों को विटामिन डी मिल सकें. विटामिन डी हड्डियों को मजबूती देने में काफी मदद करता है.

बैलेंस डाइट लें- सर्दियों के मौसम में बैलेंस डाइट जरूर लें. इसके लिए विटामिन डी,विटामिन सी, ओमेगा 3 फैटी एसिड, अदरक, सोयाबीन, मछली, हरी सब्जियां, नट और बीज, भरपूर मात्रा में पानी और कोलेजनयुक्त चीजों को खाने में जरूर शामिल करें.