Suknaya Smriddhi Yojna: अपनी बेटी के नाम केवल 250 रुपये में खुलवाएं ये खाता, मिलेगा सबसे ज्यादा ब्याज
 
 Sukanya Samriddhi Yojana

Suknya Samridhi Yojna: केंद्र सरकार ने नए फाइनेंशियल ईयर की पहली तिमाही के लिए स्मॉल सेविंग स्कीम (Small Saving Schemes) पर ब्याज दरों में कोई चेंज नहीं किया है. इस तरह सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) और पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) जैसी छोटी बचत योजनाओं (Small Saving Schemes) पर पिछले तिमाही की तरह ब्याज मिलना जारी रहेगा. सुकन्या समृद्धि Girl Child के फाइनेंशियल वेलफेयर के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई स्कीम है. आइए जानते हैं इस स्कीम से जुड़ी खास बातेंः

सरकार ने करीब दो साल से स्मॉल सेविंग स्कीम की ब्याज दरों में कोई परिवर्तन नहीं किया है. अभी 12 माह के Fixed Deposit पर 5.5 फीसदी, 5 साल की FD पर 6.7 फीसदी, NSC पर 6.8 फीसदी, पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) पर 7.1 फीसदी और सीनियर सिटिजन की सेविंग स्कीम पर 7.4 फीसदी और सुकन्या समृद्धि योजना पर 7.6 फीसदी का ब्याज मिलता है. इस तरह सभी लघु बचत योजनाओं में सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) पर सबसे ज्यादा इंटरेस्ट मिलता है. 

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत सालाना कम-से-कम 250 रुपये का निवेश करना होता है. वहीं, एक फाइनेंशियल ईयर में मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये का इंवेस्टमेंट किया जा सकता है. वहीं, अकाउंट ओपन होने के बाद अगर किसी भी फाइनेंशियल ईयर में मिनिमम 250 रुपये का निवेश नहीं किया जाता है तो 50 रुपये का जुर्माना लग जाएगा. 

इतनी होनी चाहिए उम्र (SSY Age Limit)

अगर आपकी बच्ची की उम्र 10 साल से कम है, तो उसके नाम पर SSY Account खुलवाया जा सकता है. इस स्कीम के तहत एक बच्ची के नाम पर एक अकाउंट ही खुल सकता है. वहीं, कोई गार्जियन अधिकतम दो बच्चियों के नाम पर अकाउंट खुलवा सकता है. हालांकि, जुड़वां या तीन बच्चियों के जन्म पर आपको इस नियम से छूट मिल जाती है. 

जानिए मेच्योरिटी की अवधि (SSY Maturity)

अकाउंट ओपन होने के 14 साल की अवधि तक अंशदान करना होता है. इस स्कीम के तहत खुलवाया गया अकाउंट 21 साल बाद मेच्योर होता है.

केंद्र सरकार ने नए फाइनेंशियल ईयर की पहली तिमाही के लिए स्मॉल सेविंग स्कीम (Small Saving Schemes) पर ब्याज दरों में कोई चेंज नहीं किया है. इस तरह सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) और पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) जैसी छोटी बचत योजनाओं (Small Saving Schemes) पर पिछले तिमाही की तरह ब्याज मिलना जारी रहेगा. सुकन्या समृद्धि Girl Child के फाइनेंशियल वेलफेयर के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई स्कीम है. आइए जानते हैं इस स्कीम से जुड़ी खास बातेंः

सबसे ज्यादा ब्याज (Sukanya Samriddhi Yojana Interest Rate)

सरकार ने करीब दो साल से स्मॉल सेविंग स्कीम की ब्याज दरों में कोई परिवर्तन नहीं किया है. अभी 12 माह के Fixed Deposit पर 5.5 फीसदी, 5 साल की FD पर 6.7 फीसदी, NSC पर 6.8 फीसदी, पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) पर 7.1 फीसदी और सीनियर सिटिजन की सेविंग स्कीम पर 7.4 फीसदी और सुकन्या समृद्धि योजना पर 7.6 फीसदी का ब्याज मिलता है. इस तरह सभी लघु बचत योजनाओं में सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) पर सबसे ज्यादा इंटरेस्ट मिलता है. 

मिनिमम 250 रुपये का निवेश (SSY Minimum Investment)

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत सालाना कम-से-कम 250 रुपये का निवेश करना होता है. वहीं, एक फाइनेंशियल ईयर में मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये का इंवेस्टमेंट किया जा सकता है. वहीं, अकाउंट ओपन होने के बाद अगर किसी भी फाइनेंशियल ईयर में मिनिमम 250 रुपये का निवेश नहीं किया जाता है तो 50 रुपये का जुर्माना लग जाएगा. 

इतनी होनी चाहिए उम्र (SSY Age Limit)

अगर आपकी बच्ची की उम्र 10 साल से कम है, तो उसके नाम पर SSY Account खुलवाया जा सकता है. इस स्कीम के तहत एक बच्ची के नाम पर एक अकाउंट ही खुल सकता है. वहीं, कोई गार्जियन अधिकतम दो बच्चियों के नाम पर अकाउंट खुलवा सकता है. हालांकि, जुड़वां या तीन बच्चियों के जन्म पर आपको इस नियम से छूट मिल जाती है. 

जानिए मेच्योरिटी की अवधि (SSY Maturity)

अकाउंट ओपन होने के 14 साल की अवधि तक अंशदान करना होता है. इस स्कीम के तहत खुलवाया गया अकाउंट 21 साल बाद मेच्योर होता है