Kisan Credit Card: खेती के लिए सस्ता किसान क्रेडिट कार्ड है एक बेहतरीन आप्शन, जानिए पूरा प्रोसेस
 
खेती के लिए सस्ता किसान क्रेडिट कार्ड है एक बेहतरीन आप्शन, जानिए पूरा प्रोसेस

Kisan Credit Card: खेती के लिए सस्ता लोन चाहिए तो फटाफट बनवाए किसान क्रेडिट कार्ड, ये है पूरा प्रोसेस किसान क्रेडिट कार्ड के लिए इस तरह भी कर सकते हैं अप्लाई.

KCC

किसान क्रेडिट कार्ड की संख्या के मामले में देश में दूसरे नंबर पर आ पहुंचा महाराष्ट्र. प्रदेश में हुए 6.86 लाख किसानों ने केसीसी पूरी कर ली है. खेती के लिए महंगे कर्ज से बचना चाहते हो तो आप भी लीजिए क्रेडिट कार्ड का लाभ.

केंद्र सरकार चाहती है कि देश के हर किसान के पास किसान क्रेडिट कार्ड (KCC-Kisan Credit Card)होना चाहिए. ताकि उसे खेती करने के लिए पैसे की किसी भी प्र्कार की दिक्कत न हो. किसान क्रेडिट कार्ड की संख्या के मामले में महाराष्ट्र देश में दूसरे नंबर पर आ गया है. जबकि 2020 में तीसरे नंबर पर था. साल 2021 में देश में कुल 73769951 ऑपरेशनल कार्ड ही बने थे, जिसमें 6.86 लाख केसीसी धारक केवल अकेले महाराष्ट्र से हैं. अगर साहूकारों के कर्ज से बचना है तो आप भी केसीसी का लाभ उठाइए. इसे बनवाने का प्रोसेस बहुत ही आसान है.

अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम (PM Kisan Scheme) के लाभार्थी हैं तब तो और भी ज्यादा आसानी से आपका कार्ड बन जाएगा. इसे बनवाकर आप खेती-किसानी के लिए सस्ते दरों पर लोन भी ले सकते हैं. मोदी सरकार ने ज्यादा से ज्यादा किसानों (Farmers) को इस योजना का फायदा पहुंचाने के लिए फरवरी 2020 से एक विशेष अभियान भी चलाया गया था, जिसके तहत  25 फरवरी 2022 तक यानी दो साल में 2.92 करोड़ ही नए किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए हैं. इसमें भी महाराष्ट्र के किसानों की सबसे अच्छी भागीदारी है.

किसान क्रेडिट कार्ड पर जमीन के हिसाब से 3 लाख रुपए तक का कृषि कर्ज भी मिलता है. इस पर ब्याज दर आमतौर पर 9% होती है. केंद्र सरकार किसानों को इस ब्याज दर में 2 प्रतिशत की सब्सिडी भी दे रही है. अगर आपने समय पर मूल धन और ब्याज लौटा दिया तो ब्याज में 3% की और कटौती भी हो जाती है. इस तरह केसीसी पर किसान 3 लाख रुपए तक का लोन महज 4% वार्षिक ब्याज दर पर ही मिल जाता है. मार्केट में कहीं भी इतना सस्ता लोन नहीं भी नहीं मिलेगा. अगर आप मछली पालन और पशुपालन करते हैं तो आप इसी ब्याज रेट पर 2 लाख रुपए का लोन भी ले सकते हैं और ध्यान रहे कि 1.60 लाख रुपए के लोन के लिए किसान को कोई गारंटी भी देने की जरूरत नहीं है. यानी इससे अधिक पैसा ले रहे हैं, तभी बैंक को कोई गारंटी सौंपनी  भी पड़ती है.

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने का प्रोसेस

पीएम किसान स्कीम की वेबसाइट के फार्मर कॉर्नर में किसान क्रेडिट फॉर्म पर मौजूद है. एक पेज के इस फार्म को डाउनलोड करिये  इसमें आधार कार्ड और पैन कार्ड की फोटो कॉपी  भी लगाइए. इसमें आवेदक किसान की एक पासपोर्ट साइज की फोटो भी लगानी होगी. साथ ही एक एफिडेविड भी लगाना है, जिसमें यह लिखा हो कि आपने किसी और बैंक से लोन अभी तक नहीं लिया है और न ही आप का किसी बैंक में बकाया है. यह फार्म अपने नजदीकी बैंक में भी जमा करा सकते है. अगर बैंक आवेदन सही पाता है तो 14 दिन के भीतर आप का कार्ड बन जाएगा. आप कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए भी अप्लाई करवा सकते हैं. व्यक्तिगत तौर पर खेती करने वाले, सामूहिक कृषि करने वाले और पट्टेदार व बटाइदार किसान भी इसके पात्र हैं. महाराष्ट्र में सरकारी बैंकों की भरमार बहुत है. यहां से भी किसान केसीसी कार्ड को आसानी से बना सकते हैं. लेकिन समय पर मूलधन और ब्याज जमा करने पर आप इसका अधिक लाभ भी ले सकते हैं.