E-Labour Card : क्या आपका बन चुका है ई-श्रम कार्ड,जानिए कितने लोग उठा रहे है लाभ

केंद्र सरकार द्वारा श्रमिक वर्गों को जोड़ने के लिए लिए ई-श्रम कार्ड योजना चलाई है। जिसके तहत 28 करोड़ लोग इस योजना का लाभ ले रहें है। ई-श्रम कार्ड योजना के माध्यम सरकार संगठित क्षेत्र से जुड़े श्रमिकों को एक प्लेटफॉर्म पर जोड़ने के लिए ई-श्रम कार्ड योजना चला रही है।
 
 For More News Update 👇 http://www.chopaltv.com

E-Labour Card : केंद्र सरकार द्वारा श्रमिक वर्गों को जोड़ने के लिए लिए ई-श्रम कार्ड योजना चलाई है। जिसके तहत 28 करोड़ लोग इस योजना का लाभ ले रहें है। ई-श्रम कार्ड योजना के माध्यम सरकार संगठित क्षेत्र से जुड़े श्रमिकों को एक प्लेटफॉर्म पर जोड़ने के लिए ई-श्रम कार्ड योजना चला रही है। सरकार की इस स्कीम से जुड़ने वाले कामगारों को सरकारी स्कीम का फायदा मिलता,साथ ही मुफ्त बीमा भी सरकार प्रदान करती है। 

ई-श्रम कार्ड के क्या है फायदें
 
देश के गरीब और मजदूर वर्ग के लिए केंद्र सरकार कई स्कीमें चला रही है. देश के गरीब तबके को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए सरकार ने ई-श्रम कार्ड  योजना की शुरुआत की है. इस स्कीम के तहत देश के असंगठित क्षेत्र से जुड़े श्रमिक अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. दिसंबर 2022 में भारत सरकार के ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्टर करने वाले कुल श्रमिकों की संख्या 28 करोड़ के पार चली गई थी. श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद श्रमिकों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिलता है। 

पोर्टल पर रजिस्टर्ड श्रमिकों को मिल रहा बीमा

ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्टर्ड श्रमिकों को सरकार दो लाख रुपये का एक्सीडेंटल इंश्योरेंस दे रही है. ई-श्रम पोर्टल से जुड़ने वाले श्रमिकों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत 2 लाख रुपये तक का बीमा लाभ मिलता है. इसमें बीमा के लिए प्रीमियम देने की जरूरत नहीं पड़ती है. अगर किसी श्रमिक की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है या कोई पूर्ण रूप से दिव्यांग हो जाते हैं, तो 2 लाख रुपये की बीमा राशि मिलती है. वहीं, आंशिक रूप से दिव्यांग होने पर एक लाख रुपये का बीमा मिलता है.


ई-श्रम कार्ड के लिए है आधार कार्ड जरुरी

ई-श्रम पोर्टल में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए श्रमिकों के पास आधार कार्ड चाहिए. आधार से एक्टिव मोबाइल नंबर जुड़ा होना चाहिए. इसके अलावा बैंक अकाउंट भी जरूरी है। अगर जिनके पास आधार लिंक मोबाइल नंबर नहीं है, तो वह निकटतम सीएससी (CSC) केंद्र से संपर्क कर सकते हैं और बॉयोमैट्रिक माध्यम से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. आपका मोबाइल नंबर भी यहीं पर आधार में अपडेट हो जाएगा।  

सरकारी पेंशन वाले को नहीं मिलेगा फायदा

जो सरकारी पेंशन प्राप्त कर रहा है  वह इसका फयदा नहीं उठा सकत। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने इसके जरिए असंगठित क्षेत्र के 38 करोड़ श्रमिकों को जोड़ने का लक्ष्य रखा है. इसका मकसद सरकार की सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का एकीकरण करना है।  वहीं पीएम किसान योजना के लाभार्थी भी ई-श्रम स्कीम के तहत पैसा नहीं ले सकते हैं. कोई भी कामगार जो असंगठित है और 16-59 वर्ष के आयु वर्ग का है, ई श्रम पोर्टल पर पंजीकरण के लिए पात्र है.

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की श्रेणी में दुकान का नौकर/सेल्समैन/हेल्पर, ऑटो चालक, ड्राइवर, पंचर बनाने वाला, चरवाहा, डेयरी वाले, सभी पशुपालक, पेपर हॉकर, जोमैटो व स्विगी, अमेज़न, फ्लिपकार्ट के डिलीवरी बॉय, ईंट भठ्ठे पर काम करने वाले मजदूर आदि शामिल हैं. ये सभी लोग ई-श्रम कार्ड बनवा सकते हैं. पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होने के बाद 10 अंकों का ई-श्रम कार्ड जारी हो जाएगा.

ई-श्रम कार्ड के लिए ऐसे करें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.
फिर रजिस्ट्रेशन के लिए लिंक पेज के एकदम साइड में मौजूद होगा.
फिर 'ई-श्रम पर रजिस्ट्रेशन' पर क्लिक करें.
इसके बाद आपको आधार लिंक्ड मोबाइल नंबर डालना होगा और कैप्चा दर्ज करना होगा.
फिर Send OTP पर क्लिक करें.
इसके बाद OTP दर्ज करें और फिर ई-श्रम के लिए रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा.
फिर आपको अपनी व्यक्तिगत, शैक्षिक और बैंक डिटेल दर्ज करनी होंगी.
फिर आपका जिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा.