Agricultural Machinery Subsidy: कंबाइन हार्वेस्टर और ट्रैक्टर खरीदने के लिए इस राज्य में किसानों को 40 प्रतिशत की सब्सिडी

Agricultural Machinery Subsidy: आंध्र प्रदेश सरकार ट्रैक्टर और कंबाइन हॉर्वेस्टर खरीदने पर 40 प्रतिशत तक की सब्सिडी दे रही है. इसके अलावा किसान 50 प्रतिशत राशि बैंक से लोन के तौर पर ले सकते हैं, वहीं किसान समूहों द्वारा 10 प्रतिशत रुपये का खर्च वहन किया जाएगा.

 
कंबाइन हार्वेस्टर और ट्रैक्टर खरीदने के लिए इस राज्य में किसानों को 40 प्रतिशत की सब्सिडी

Agricultural Machinery Subsidy: खरीफ फसलों की बुवाई की शुरुआत हो चुकी है. इन सबके बीच किसानों के लिए खेती-बाड़ी आसान करने के लिए राज्य सरकारों की तरफ से कई तरह के प्रयास किए जा रहे हैं. अब इसी कड़ी में आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा वाईएसआर यंत्र सेवा स्कीम के तहत सस्ती कीमतों पर ट्रैक्टर और कंबाइन हॉर्वेस्टर देने का फैसला किया गया है.

किसान समूहों के खाते में 175 करोड़ की सब्सिडी

इस योजना की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री वाईएस जगमोहन रेड्डी ने 3800 ट्रैक्टरों का 3800 आरबीके स्तर के मशीन सेवा केंद्रों और 320 संयुक्त हार्वेस्टर को 320 क्लस्टर स्तर के सेवा केंद्रों में वितरित किया. इसके लिए सरकार ने किसान समूह के खातों में 175 करोड़ रुपये की सब्सिडी डाली है.

ट्रैक्टर और कंबाइन पर 40 प्रतिशत तक की सब्सिडी

इस दौरान मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि सरकार की तरफ से ट्रैक्टर और कंबाइन हॉर्वेस्टर खरीदने पर 40 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जा रही है. इसके अलावा किसान 50 प्रतिशत राशि बैंक से लोन के तौर पर ले सकते हैं. वहीं, किसान समूहों द्वारा 10 प्रतिशत रुपये का खर्च वहन किया जाएगा.

10,750 वाईएसआर यंत्र सेवा केंद्र स्थापित किए जाएंगे

यह कहते हुए कि सरकार किसान कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है. सीएम ने कहा कि किसान बिरादरी को बीज से बिक्री तक सहायता के लिए 10,750 आरबीके लाए गए, और ट्रैक्टर और हार्वेस्टर जैसे कृषि उपकरण भी उपलब्ध कराए गए. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक आरबीके स्तर पर 2,016 करोड़ रुपये की लागत से 10,750 वाईएसआर यंत्र सेवा केंद्र स्थापित किए जाएंगे और 1,615 हार्वेस्टर क्लस्टर स्तर पर उपलब्ध कराए जाएंगे जहां धान की खेती अधिक होगी