हरियाणा में दुनियां का सबसे महंगा झोटा, कीमत है 9 करोड़, जानिए क्या है खासियत?

आपने गाड़ियों की कीमत  लाखों-करोड़ों में तो सुनी होगी, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि एक भैंस की कीमत भी करोड़ों में हो सकती है।
 
हरियाणा में दुनियां का सबसे महंगा झोटा


आपने गाड़ियों की कीमत  लाखों-करोड़ों में तो सुनी होगी, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि एक भैंस की कीमत भी करोड़ों में हो सकती है। ये सच है क्योंकि हरियाणा में एक ऐसी भैंस है जिसकी कीमत 9 करोड़ रुपये बताई जाती है. 

हरियाणा में इस भैंसे को पालने वाले किसान का कहना है कि वह इसे अपने बच्चों से भी ज्यादा प्यार करता है। किसान ने अपनी इस अनोखी भैंस का नाम 'युवराज' रखा है।

इस 'युवराज' की देखभाल करनाल का एक किसान करता है और करनाल के ही एक मेले में इसकी कीमत 9 करोड़ रुपये तय की गई है. युवराज को पालने वाले किसान करमबीर का कहना है कि वह अपनी जान से ज्यादा उसकी परवाह करता है और कभी सपने में भी उसे बेचने के बारे में नहीं सोचेगा। इस राजकुमार की उम्र 9 फीट लंबी और छह फीट ऊंची है और इसका वजन 1500 किलो है। इसका वजन इसकी नस्ल के तीन भैंसों या प्रत्येक 75 किलो के 20 व्यक्तियों के बराबर होता है।

नस्ल सुधार

यह भैंस इतनी प्रसिद्ध क्यों है? इस संबंध में भैंस पालने वाले किसान करमबीर का कहना है कि इसके वीर्य (वीर्य) की काफी मांग है। अच्छी नस्ल की भैंस के लिए लोग युवराज के वीर्य की सबसे ऊंची कीमत चुकाने को तैयार हैं. युवराज के वीर्य की एक खुराक को 500 खुराक तक बनाने के लिए पतला किया जाता है। इसकी एक डोज की कीमत 300 रुपए तक है। पिछले 4 साल में युवराज की तरफ से 1.5 लाख भैंसें पैदा हो चुकी हैं। युवराज के पालक माता-पिता करमबीर का कहना है कि पिछले कई सालों में युवराज ने कई लोगों का कारोबार कई गुना बढ़ा दिया है।

भैंस के बच्चे ढाई लाख में बिकते हैं


युवराज की पैदाइशी भैंस भी उन्हीं की तरह सुपर भैंस है। युवराज की एक भैंस 18-20 लीटर दूध देती है। करमबीर का कहना है कि युवराज के पैदा हुए बच्चे का वजन 65-70 किलो है। सामान्य भैंसों का बच्चा 45-50 किलो तक का होता है। युवराज का बच्चा दो साल में बहुत छोटा हो जाता है। इसके बच्चे को खरीदने के लिए देश के अलग-अलग जगहों से लोग आते हैं। युवराज के दो महीने के बच्चे की कीमत 2.5 लाख रुपए है। इन बच्चों से जो भैंसें तैयार होती हैं उनमें दूध की गुणवत्ता अच्छी होती है और ये लंबे समय तक दूध देती हैं।

अब सवाल यह है कि युवराज को किस तरह का खाना खिलाया जाता है, उनका पालन-पोषण कैसे होता है? इसका खाना सुनकर आप भी चौंक जाएंगे। रोजाना करीब 20 किलो दूध और करीब 10 किलो फल खिलाएं। हरा चारा और अनाज खिलाया जाता है। दिन में दो से तीन बार स्नान किया जाता है। सरसों के तेल से अच्छी मालिश की जाती है और लगभग 5 किलोमीटर तक ले जाया जाता है।

देश-विदेश के इस मशहूर राजकुमार का मासिक खर्च 25 हजार रुपये है। किसान कर्मबीर का कहना है कि अगर आज युवराज नहीं होते तो उन्हें कोई नहीं जानता. युवराज को कई पशु मेलों में वेस्ट बुल अवॉर्ड भी मिल चुका है। युवराज न केवल भारत में बल्कि दुनिया में भैंस की नस्ल को बेहतर बनाने में योगदान दे रहे हैं। करमबीर का कहना है कि युवराज के सामने 9 करोड़ या 90 करोड़ की बेशकीमती चीजें भी कुर्बान कर दी जाती हैं.