Haryana News: हरियाणा के जींद में पुलिस का अजब गजब कारनामा, गिरा दिया गलत मकान, मालिक ने जमकर किया हंगामा !जानिए पूरा मामला
हरियाणा के जींद उचाना में रेलवे की जमीन से कब्जा छुटवाने गई पुलिस ने गलत मकान गिरा दिया है। मकान मालिक ने हंगामा खड़ा कर दिया है। पुलिस ने छह से सात मकानों को तोड़ा। इसी में एक मकान ये भी शामिल था।
 
 Haryana News: हरियाणा के जींद में पुलिस का अजब गजब कारनामा, गिरा दिया गलत मकान, मालिक ने जमकर किया हंगामा !जानिए पूरा मामला

 Haryana News: उचाना रेलवे स्टेशन के पास साथ लगते पुरानी अनाज मंडी में पुलिस टीम जेसीबी लेकर पहुंची। यहां कुछ लोगों द्वारा अवैध रूप से रेलवे की जमीन पर अवैध मकान बनाए हुए थे। रेलवे पुलिस के अधिकारियों व उचाना पुलिस ने वीरवार सुबह निर्माण हटवा दिए।

इस दौरान छह-सात मकानों को भी तोड़ा गया है। साथ ही एक मकान ऐसा भी तोड़ दिया, जो रेलवे की जमीन में नहीं बना हुआ था। इसके बाद यहां हंगामा हो गया। फिलहाल प्रशासन मौके पर मामला सुलझाने में लगा हुआ है।

उचाना में रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म के साथ ही दिल्ली-पटियाला राष्ट्रीय राजमार्ग की ओर कुछ लोगों ने मकान बनाए हुए हैं। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि इसको लेकर कई बार नोटिस दिए गए और अब मुख्यालय द्वारा इसकी स्टेटस रिपोर्ट मांगी गई है। ऐसे में वीरवार सुबह भारी संख्या में पुलिस बल यहां पहुंचा और अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की। हालांकि इस दौरान कुछ लोगों ने विरोध किया, लेकिन मौके पर भारी संख्या में मौजूद पुलिस बल के आगे उनका विरोध नहीं चल सका।

इस दौरान जीआरपी के 90 पुलिसकर्मी व उचाना पुलिस के 35 पुलिसकर्मी मौजूद रहे। प्रशासन की कार्रवाई के चलते यहां भारी संख्या में लोग एकत्रित हो गए। व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस ने किसी भी बाहरी व्यक्ति को कार्रवाई स्थल के आसपास नहीं आने दिया। जीआरपी अधिकारियों के अनुसार रेलवे द्वारा इसकी निशानदेही करवाई गई थी।

इसमें पता चला कि सात-आठ लोगों ने पक्के मकान बनाकर कब्जा किया हुआ है। वहीं कुछ लोगों ने घरों के बाहर चबूतरे बना कर कब्जा किया है। वीरवार को हुई कार्रवाई के दौरान सभी प्रकार के अतिक्रमण व कब्जा को हटा दिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकारी जमीन पर कब्जा करना गैरकानूनी है। यदि किसी अन्य ने भी इस प्रकार से कब्जा किया हुआ है तो वह खुद अतिक्रमण को हटा ले। अन्यथा प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाएगी। वहीं आसपास के लोगों ने बताया कि यह मकान पिछले कई वर्षाें से बने हुए थे।