Haryana Eight Thousand Ponds: हरियाणा में इस साल आठ हजार तालाबों के सौंदर्यीकरण का कार्य होगा शुरू, ग्रामीण इलाकों में बनेगी फिरनी

 
हरियाणा में इस साल आठ हजार तालाबों के सौंदर्यीकरण का कार्य होगा शुरू

Haryana Eight Thousand Ponds: हरियाणा के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी तालाबों के सौंदर्यीकरण के लिए पोंड अथॉरिटी को सरकार द्वारा 800 करोड़ रूपए का बजट अलॉट किया गया है। 

उन्होंने कहा कि अब तक छह हजार तालाबों का सौंदर्यीकरण करवाया जा चुका है और दूसरे चरण में अप्रैल 2023 से बाकी सभी आठ हजार तालाबों का भी सौंदर्यीकरण करवाने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। 

रविवार को उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला उचाना विधानसभा क्षेत्र के करीब आधा दर्जन गांवों के दौरे पर थे और ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ग्रामीण विकास मौजूदा गठबंधन सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में विकास परियोजनाओं एवं सार्वजनिक कार्यों के लिए राज्य सरकार द्वारा निरंतर ठोस एवं सार्थक निर्णय लिए जा रहे है और सरकार की विकासपरक नीतियों के सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे है। 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार द्वारा क्रियान्वित अनूठी योजनाओं में प्रदेश के सभी तालाबों का सौंदर्यकरण, ग्राम दर्शन पोर्टल की शुरुआत, बीपीएल परिवारों की पहचान कर राशन कार्ड की योजना, आयुष्मान भारत आदि शामिल है। 

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि शिवधाम योजना के तहत प्रदेश के सभी श्मशान घाटों एवं कब्रिस्तानों की चार दिवारी, शैड, पेयजल व्यवस्था एवं पक्के रास्ते बनाने का फैसला लिया गया है। 

उन्होंने कहा कि उचाना के सभी गांवों में उक्त योजना के तहत सभी शमशाण घाटों एवं कब्रिस्तानों का एस्टीमेट अगले 15 दिनों में भिजवाने के लिए स्थानीय एसडीएम को निर्देश दे दिये गए है। 

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गरीब वर्ग के उत्थान के लिए सरकार की विशेष परिकल्पना है और इस दिशा में सरकार द्वारा सार्थक प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने बताया कि गत समय में एक लाख 20 हजार रूपए की सालाना आमदनी के परिवारों को बीपीएल में शामिल किया जाता था, 

जबकि वर्तमान सरकार ने इस सीमा को बढाकर एक लाख 80 हजार रुपये सालाना किया है, जिसके तहत बीते समय में 27 लाख की बजाय वर्तमान में 31 लाख परिवारों को बीपीएल की सुविधाएं मिल रही है। 

इसी प्रकार परिवार पहचान पत्र के तहत प्रदेशभर में 13 लाख परिवार जुड़ चुके है, जिन्हे सरकारी योजनाओं का सीधा फायदा घर बैठे मिल रहा है। उपमुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि गरीब परिवारों को स्वास्थ्य लाभ देने में आयुष्मान भारत योजना कारगर सिद्ध हो रही है। 

उन्होंने नव निर्वाचित पंचायतों,पंचायत समितियों एवं जिला पार्षदों से आपसी तालमेल के साथ सरकारी योजनाओं को धरातल पर अमलीजामा पहनाने में सरकार व प्रशासन का सहयोग करने की भी अपील की। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उचाना हलका भविष्य में विकसित क्षेत्रों में सुमार होगा और यहां विकास परियोजनाओं में पैसे की कमी आड़े नहीं आएगी।

उचाना दौरे के दौरान रविवार को उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने गांव खरकबुरा, खेडी मसानियां, सेढामाजरा, दरौलीखेडा, सुरबरा, काकाडौद, भगवानपुरा तथा मंगलपुर में जनसभाओं को सम्बोधित किया और जनसमस्याएं सुनी। प्रत्येक गांव में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों द्वारा डिप्टी सीएम का जोरदार स्वागत किया गया। 

उन्होंने ग्रामीणों की मांग पर स्टेडियम, ई-लाइब्रेरी, समुचित पेयजल आपूर्ति, शमशान एवं कब्रिस्तानों में पक्का रास्ता, शैड, पेयजल व्यवस्था, चार दिवारी इत्यादि तमाम आधारभूत सुविधाओं, ग्रामीण पार्कों का निर्माण, नियमानुसार नॉर्मज पूरे करने वाले स्कूलों का अपग्रेडेशन की मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। 

शनिवार को अपने जींद दौरे के दौरान दुष्यंत चौटाला ने गांव नगुरा, छातर में ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। वहीं सोमवार को वे जींद के गांव मालवी, शामलो कलां, बागडू कलां, रितौली में ग्रामीणों से रूबरू होंगे। 

इस अवसर पर हरियाणा खादी एवं ग्रामोद्योग के चेयरमैन राजेंद्र लितानी, जेजेपी जिला प्रधान कृष्ण राठी, उचाना के प्रभारी प्रो. जगदीश सिहाग, हलका प्रधान विश्ववीर, जेजेपी हलका महिला अध्यक्ष सोनिया, जोरा सिंह डूमरखां आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहे।