1583X262px
बड़ी खबरें

देश में क्या होगा सस्ता, क्या होगा महंगा, देखिये जीएसटी काउंसिल की बैठक के फैसले

 

GST Council Meeting- देश में आम जनता कोरोना काल में महंगाई से जूझ रही है। ऐसे में जनता को सरकार से काफी उम्मीदें है। तेल, रसोई गैस और घरेलू इस्तेमाल के दामों में लगातार बढ़ोत्तरी ने आम लोगों की मुश्किलें खड़ी कर दी है।

शुक्रवार को आयोजित जीएसटी काउंसिल की अहम बैठक हुई है जिसमें कई फैसले लिए गए हैं। हालांकि इस बैठक में पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लेने के प्रस्ताव को फिर से टाल दिया गया है।

इसके अलावा कपड़े और जूते खरीदने वाले उपभोक्ताओं को अगले साल से ज्यादा मूल्य चुकाने पड़ सकते हैं। जीएसटी परिषद ने कपड़े और जूते उद्योग के इनवर्टेड शुल्क ढांचे में बदलाव की लंबे समय से चली आ रही मांग को स्वीकार कर लिया है। परिषद ने शुक्रवार को हुई बैठक में एक जनवरी, 2021 से नया शुल्क ढांचा लागू करने की बात कही है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को GST काउंसिल की बैठक (GST Council meeting) के बाद कई अहम फैसलों का ऐलान किया। इसमें कोरोनावायरस से बचाव की दवाओं पर GST से छूट बढ़ाकर 31 दिसंबर 2021 कर दिया गया।

जानिए किन चीजों के GST रेट में बदलाव हुए हैं-
1. अगले एक साल तक जहाज या एयरप्लेन के जरिए एक्सपोर्ट गुड्स के ट्रांसपोर्टेशन पर GST नहीं लगेगा। यह फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि एक्सपोर्टर्स को GST पोर्टल में आई तकनीकी खराबी के कारण इनपुट टैक्स क्रेडिट रिफंड मिलने में दिक्कत हो रही है।
2. रेलवे पार्ट्स और लोकोमोटिव पर GST 12% से बढ़ाकर 18% कर दिया गया।
3. बायोडीजल पर GST 12% से घटाकर 5% कर दिया गया।
4. दिव्यांग जिस तरह की गाड़ियों का इस्तेमाल करते हैं उसमें यूज होने वाले रेट्रो-फिटमेंट किट्स पर GST घटाकर 5% कर दिया गया।
5. इंटीग्रेटेड चाइल्ड डेवलपमेंट सर्विसेज स्कीम में इस्तेमाल होने वाला फोर्टीफाइड राइस केर्नाल्स (Rice kernels) पर GST रेट 18% से घटाकर 5% कर दिया गया।
6. फार्मा डिपार्टमेंट की तरह से जिन 7 दवाओं की सिफारिश की गई उन पर 31 दिसंबर 2021 तक GST रेट 12% से घटाकर 5% कर दिया गया है।
7. Keytruda जैसी कैंसर की दवाओं पर GST रेट 12% से घटाकर 5% कर दिया गया है।
8. जोमैटो और स्विगी जैसे ऐप से खाना ऑर्डर करना महंगा हो गया है। आइसक्रीम खाना भी महंगा होगा। स्विगी और जोमैटो जैसे ऐप पर 5% का टैक्स लगेगा। टैक्स वहां कटेगा, जहां डिलीवरी की जाएगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबरें

To Top