1583X262px
अपराध

नामी गैंगस्टर का तिहाड़ जेल में मर्डर, 8 हत्याओं समेत कई केसों में जेल में बंद था अंकित गुर्जर

दिल्ली की तिहाड़ जेल में उस वक्त अफरा तफरी मच गई जब जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर अंकित गुर्जर की हत्या कर दी गई है। बताया जा रहा है कि गैंगस्टर की जेल के बैरक नंबर तीन में हत्या हुई है।

पुलिस का कहना है कि कैदियों के झगड़े में अंकित की मौत हुई जबकि परिवार वालों ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाया है। गैंगस्टर के परिजनों का आरोप है कि जेल अधिकारी मीणा ने कल अंकित के पास मोबाइल पकड़ा था। जिसके बाद मीणा और अंकित की हाथापाई हो गई थी।
हाथापाई के बाद पुलिस उसे ले गई और उसे बहुत पीटा जिससे उसकी मौत हो गई। दूसरी तरफ पुलिस का कहना है कि कैदियों के बीच झगड़ा हो गया था। झगड़े के बाद अंकित की मौत हो गई। अंकित को मई 2020 में स्पेशल सेल ने पकड़ा था।

बताया गया कि कुख्यात गैंगस्टर अंकित गुर्जर बागपत के खैला गांव का रहने वाला था। पूर्व प्रधान विनोद की हत्या के मामले में एक लाख के इनामी रहे अंकित को दिल्ली पुलिस ने हरियाणा में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था।

अंकित गुर्जर 2019 में अपने गांव चांदीनगर से प्रधानी का चुनाव लड़ना चाहता था। इसके लिए उसने अपने प्रतिद्वंदी विनोद की हत्या कर दी थी। इसके बाद पूरे गांव में पोस्टर लगाए दिए थे कि अगर कोई उसके खिलाफ चुनाव लड़ा तो उसकी भी हत्या कर दी जाएगी। चुनाव आने से पहले ही दिल्ली पुलिस ने अंकित को गिरफ्तार किया।


गैंगस्टर अंकित गुर्जर पर उत्तर प्रदेश के कई जिलों में केस दर्ज हैं। साल-2019 में नोएडा सेक्टर-63 में एक कंपनी मैनेजर को अगवा करने का आरोप अंकित गुर्जर पर लगा था। अंकित पर हत्या, रंगदारी, जानलेवा हमला, अपहरण के करीब 25 से ज्यादा मामले दिल्ली-यूपी-हरियाणा में दर्ज थे।

अंकित पर 8 हत्या, रंगदारी, हत्या का प्रयास, अपहरण सहित 2 दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज थे। इससे पहले मई महीने में तिहाड़ जेल के अंदर कैदियों के बीच हुए विवाद में एक कैदी की जमकर पिटाई की गई और तेजधार नुकीले हथियार से वार कर उसकी हत्या कर दी गई थी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top