एक ही घर से 3 दिन में 3 लोगो की मौत से मचा हड़कंप, तीनो ने की आत्महत्या। मरने वालों में बहु, बेटा और खुद (महिला का ससुर) शामिल। पुलिस जांच में जुटी।
 
एक ही घर से 3 दिन में 3 लोगो की मौत से मचा हड़कंप, तीनो ने की आत्महत्या। मरने वालों में बहु, बेटा और खुद (महिला का ससुर) शामिल। पुलिस जांच में जुटी।

नूंह जिला के गांव बिछोर में एक ही घर से तीन दिन में 3 लोगो द्वारा आत्महत्या करने से हड़कंप मच गया है। पहले बहु, फिर बेटा, आज ससुर रोजदार द्वारा आत्महत्या करने से पूरा गांव और परिवार सकते में है। फिलहाल पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने अल आफ़िया अस्पताल भेज दिया है।

दरअसल बिछोर गांव में शुक्रवार को एक महिला ने आत्महत्या कर ली जबकि शनिवार को उसके जेठ ने पलवल ज़िले के गांव घुड़ावली में नीम के पेड़ से लटककर आत्महत्या करली और रविवार को महिला के ससुर ने गांव के जंगल मे पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली। एक ही घर से नोजवान जेठ और भाबी की दर्दनाक मौत से परिवार का गम कम होने की बजाए और बढ़ गया था क्योकि लड़की पक्ष ने दहेज हत्या और लड़का पक्ष ने आत्महत्या के लिए उकसाने का एक दूसरे के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया था।

आज रविवार को परिवार के मुख्या रोजदार द्वारा आत्महत्या करने से परिवार के गम को और बढ़ा दिया है। तीनों लोगो द्वारा आत्महत्या करने के पीछे क्या कारण रहे है ये राज तो उनके साथ ही दफन हो गए लेकिन गांव और मोहल्ले में कई किस्म की अफवाएं फेल रही है जिनसे दोनों परिवारों का गम घटने की बजाए बढ़ रहा है। तीनो के आत्महत्या करने के पीछे क्या सच्चाई है ये तो पुलिस की तफसीस के बाद ही खुलासा हो सकेगा।


दरअसल लड़की और लड़का पक्ष ने एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए दोनों तरफ से आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कराया है। अब तो समय ही बताएगा कि पुलिस की क्या करवाई होती या फिर दोनों पक्ष की बिरादरी बैठकर उनका आपसी फैंसला करा देती है।

पहले मामले में गांव साकरस निवासी इलयास ने पुलिस कक दी शिकायत में कहा कि उसने अपनी बेटी अमजीदा का षादी दो साल पहले बिछोर गांव निवासी अकरम पुत्र रोजदार के साथ की थी। अपनी हेसियत के मुताबिक उसने काफी दान दहेज दिया था लेकिन बेटी की ससुराल वाले उससे खुष नहीं थे। आरोपी दहेज के रूप में उससे दो लाख नगद और एक कार की डिमांड करते आ रहे थे। उन्होने कई बार पंचायत के माध्यम से भी समझाया लेकिन आरोपी दहेज की डिमांड पर अडे़ रहे आखिरकार बृहस्पतिवार को दहेज के लोभियों ने उसकी बेटी को मार दिया।

जांच अधिकारी जोगेद्र सिंह ने बताया कि मृतक लडकी के पिता की षिकायत पर पति, जेठ और जेठानी सहित चार के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया है। शव का माड़ी खेडा के अल आफिया अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। मामले की जांच कर जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

वही दूसरे मामले में नूँह जिला के गांव बिछौर निवासी युवक हसीन की लाश घुड़ावली गांव के पास नीम के पेड़ से लटकी हुई मिली। उटावड पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए होस्पिटल पहुंचाया। जांच अधिकारी सुभाष ने बताया कि मृतक युवक हसीन के पिता बिछौर जिला नूँह निवासी रुददार ने बताया है कि हसीन 12 मई को गांव से गायब हो गया था।फेसबुक के माध्यम से उसकी लाश लटकी होने की सूचना मिली। रुददार ने बताया कि उसकी पुत्रवधू एमजीदा ने 12 मई को आत्महत्या कर ली थी

। मृतका युवक हसीन की भाभी थी। रुददार ने लिखित शिकायत में कहा है एमजीदा के मायके के गांव साकरस झौंपड़ी थाना फ़िरोजपुर झिरका निवासी इलियास, हमीदा,नसीम, शहनाज ने हसीन को हत्या एवँ बलात्कार के मामले में फंसाने की धमकी दी। इसी भय के कारण हसीन ने आत्महत्या की है।
जांच अधिकारी सुभाष ने बताया कि इस संदर्भ में आरोपियों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया गया है। जांच की जा रही है।