Punjab पुलिस ने 8 वर्षीय बच्चे पर दर्ज किया केस, हथियार के साथ इंटरनेट मीडिया पर अपलोड की थी फोटो
अमृतसर में 8 साल के बच्चे की हथियार सहित फोटो फेसबुक अकाउंट पर डालने वाला परिवार मुश्किल में फंस गया है। पुलिस ने बच्चे उसके पिता और एक अन्य व्यक्ति पर केस दर्ज किया है। बच्चे को नामजद किए जाने के बाद पुलिस कार्रवाई पर सवाल उठ रहे हैं।
 
 
Punjab

Punjab: इंटरनेट मीडिया पर हथियारों के प्रदर्शन पर सख्ती बरत रही पंजाब पुलिस की एक कार्रवाई हर तरफ से सवाल उठ रहे हैं। दरअसल, मामला ही कुछ ऐसा है। यहां के थाना कत्थू नंगल की पुलिस ने हथियार सहित बच्चे की फोटो इंटरनेट मीडिया पर अपलोड करने के आरोप में तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसमें 8 साल के बच्चे का नाम भी शामिल है।

पुलिस ने भूपिंदर सिंह,  उसके बेटे और एक अन्य बिक्रमजीत सिंह के रूप में बताई है। आरोपितों ने परिवार के एक 8 साल के बच्चे की हथियार सहित फोटो अपने फेसबुक अकाउंट पर डाली हैl सब इंस्पेक्टर जसविंदर सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और आरोपितों के बारे में पता लगाया जा रहा है।

पंजाब में अब तक 900 से अधिक लाइसेंस रद

बता दें कि पंजाब पुलिस ने राज्य में हथियारों के लाइसेंस की समीक्षा का अभियान शुरू किया है, जो 90 दिनों तक चलेगा। अभियान के पहले दिन गत मंगलवार को फर्जी पता देकर हथियारों के लाइसेंस बनवाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की गई। विभिन्न जिलों में 899 लाइसेंस रद हुए, जबकि 324 लाइसेंस निलंबित कर दिए गए।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने कुछ दिन पहले हथियारों के लाइसेंस की समीक्षा करने के निर्देश दिए थे। यह काम तीन माह में पूरा करने के लिए कहा गया था। पंजाब में करीब चार लाख लाइसेंसी हथियार हैं। इन सभी की समीक्षा की जाएगी।

लगातार दो हत्याओं के बाद जागी पुलिस

अमृतसर में चार नवंबर को शिवसेना टकसाली के नेता सुधीर सूरी और 10 नवंबर को डेरा प्रेमी प्रदीप कटारिया की हत्या के बाद सरकार ने यह कदम उठाया था। लगातार बढ़ रहे आपराधिक मामलों में जांच के दौरान यह बात सामने आ रही है कि ऐसी घटनाओं में अवैध के साथ-साथ लाइसेंसी हथियारों का भी प्रयोग हो रहा है। सूरी की हत्या में भी लाइसेंसी हथियार का इस्तेमाल किया गया था।