खुशखबरी! पति पत्नी दोनो को सरकार हर महीने देगी 6000, जानिए क्या है ये नियम
 
पीएम  किसान योजना

PM Kisan Samman Nidhi Update: किसानों को मजबूत बनाने के लिए सरकार अनेकों प्रकार की योजनाएं लाई है. ज्यादा से ज्यादा किसानों तक सरकार की ये मदद पहुंच सकें इसके लिए भी समय-समय पर रुपरेखा तैयार की जाती है. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Yojana) भी इसी तरह की योजना है. इस योजना के तहत किसानों को सालाना 6 हजार रुपये दी जाती है.

पीएम किसान योजना के नियमों के मुताबिक पति-पत्नी दोनों पीएम किसान सम्मान निधि योजना (पीएम किसान बेनिफिट) का लाभ नहीं ले सकते हैं। अगर कोई ऐसा करता है तो सरकार उसे फर्जी करार देते हुए उससे वापस ले लेगी। इसके अलावा कई ऐसे प्रावधान हैं जो किसानों को अपात्र बनाते हैं। अगर अपात्र किसान योजना का लाभ उठाते है 


तो उन्हें पूरी किश्त सरकार को लौटानी होगी। इस योजना के नियमों के अनुसार यदि किसान परिवार में कोई टैक्स देता है तो इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। यानी अगर पति-पत्नी में से किसी ने पिछले साल आयकर का भुगतान किया है तो उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

नियम के अनुसार, यदि कोई किसान अपनी  भूमि का उपयोगखेती के  कार्य के लिए नहीं बल्कि अन्य कार्यों के लिए कर रहा है या दूसरों के खेतों में खेती का काम करता है, और खेत उसका नहीं है।  ऐसे किसान भी इस योजना का लाभ लेने के हकदार नहीं हैं।  अगर कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन खेत उसके नाम पर नहीं बल्कि उसके पिता या दादा के नाम पर है, तो उसे भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

  नहीं मिलेगा लाभ

  यदि कोई जमीन का मालिक है, लेकिन वह सरकारी कर्मचारी है या रिटायर्ड, वर्तमान या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री है, तो ऐसे लोग भी किसान योजना के लाभ के लिए अपात्र हैं।  पेशेवर पंजीकृत डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट या उनके परिवार के सदस्य भी अपात्र की सूची में आते हैं।  आयकर देने वाले परिवारों को भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।