Success Story: सिर्फ 19 साल में अरबपति बना ये शख्स, कॉलेज छोड़कर की करोड़ों की कमाई, जानिए इनकी सफलता राज

भारत के सबसे अमीरो में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के आंत्रेपेन्‍योर्स बन गए हैं कैवल्य वोहरा और आदित पालिचा.

 
Startup Co Founder: सफल होने के लिए मेहनत के साथ साथ एक्सपरीमेंट भी करने पड़ते हैं और ऐसा नहीं है कि अगर कुछ किया और उसमें फेल हो गए तो फिर सबकुछ छोड़ दें. हमें जब तक प्रयास करते रहना चाहिए जबतक कि सफलता न मिले. क्योंकि हर असफलता से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है. आज हम ऐसे ही एक स्टार्ट-अप फाउंडर की बात कर रहे हैं जिन्होंने ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने की उम्र में 7300 करोड़ रुपये की कंपनी खड़ी कर दी है.   हम बात कर रहे हैं Zepto के को-फाउंडर्स कैवल्य वोहरा और आदित पालिचा की. दोनों युवा आंत्रेपेन्‍योर हुरुन इंडिया फ्यूचर यूनिकॉर्न इंडेक्स 2022 में सबसे कम उम्र के स्टार्ट-अप फाउंडर भी हैं. कैवल्‍य और आदित को भारत के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में शामिल करना देश के स्टार्टअप्स के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता है.  साल 2021 में कैवल्य और आदित ने Zepto की शुरूआत की. यह किराने की डिलीवरी की ऐप है. इसक कंसप्‍ट है 'जेप्‍टोसेकेंड' यानी बेहद तेज किराने के सामान की डिलीवरी करना. 10 मिनट में ग्रॉसरी डिलीवरी ने पूरा खेल ही बदल दिया. Zepto ने नवंबर 2021 में फंडिंग के जरिए 486 करोड़ रुपये जुटाए. वहीं दिसंबर में एक और फंडिंग राउंड में 810 करोड़ रुपये और जुटाए. इस साल मई तक कंपनी का इवेल्‍यूएशन 7300 करोड़ रुपये तक पहुंच गया. अब Zepto 10 बड़े शहरों में 3000 से ज्‍यादा प्रोडक्‍ट्स डिलीवर कर रहा है.   कैवल्य वोहरा और आदित पालिचा, IIFL Wealth Hurun India Rich List 2022 में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के आंत्रेपेन्‍योर्स बन गए हैं. 19 साल की उम्र में, कैवल्या सबसे अमीर भारतीयों की लिस्‍ट में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के युवा बन गए हैं. हुरुन लिस्‍ट में कैवल्य 1,000 करोड़ की संपत्ति के साथ 1036वें स्थान पर है वहीं 1,200 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ आदित पालिचा इस लिस्ट में 950वें नंबर पर हैं. कैवल्‍य बेंगलुरू में पैदा हुए और अपनी स्‍कूली पढ़ाई दुबई से पूरी की. इसके बाद उन्‍होंने स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन में दाखिला लिया मगर 2020 में अपने दोस्‍त आदित के साथ स्‍टार्टअप करने के लिए कॉलेज छोड़ दिया.

Startup Co Founder: सफल होने के लिए मेहनत के साथ कुछ एक्सपैरिमेंट भी जरूरी है अगर आपने एक बार प्रयास किया और उसमे आप फैल हो जाते हो तो आपको वः कार्य छोड़ना नहीं बल्कि उसे दोगुने उत्साह के साथ करना चाहिए तभी सफलता संभव है। क्योंकि हर असफलता से कुछ  न कुछ सिखने को मिलता है 

zepto के फाउंडर्स केवल्य और आदित पालिका की। ये दोनों भारत के सबसे छोटे अमीरो में से एक है हम बात कर रहे हैं  . कैवल्‍य और आदित को भारत के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में शामिल करना देश के स्टार्टअप्स के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता है.

कैवल्य और आदित ने इस (zepto ) की शुरुआत 2021 में की थी . आपको बता दे की zepto एक  डिलीवरी एप्प है  इसक कंसप्‍ट है 'जेप्‍टोसेकेंड' यानी बेहद तेज किराने के सामान की डिलीवरी करना. ग्रॉसरी डिलीवरी ने पूरा खेल ही बदल दिया. Zepto ने नवंबर 2021 में फंडिंग के जरिए 486 करोड़ रुपये जुटाए. वहीं दिसंबर में एक और फंडिंग राउंड में 810 करोड़ रुपये और जुटाए. इस साल मई तक कंपनी का इवेल्‍यूएशन 7300 करोड़ रुपये तक पहुंच गया. और आज यह zepto 10  बड़े शहरो में अपनी 3000 से भी ज्यादा प्रोडक्ट डिलीवर कर रहा है 

 सिर्फ 19साल की कम उम्र में दोनों ने भारत में सबसे अमीरो की लिस्ट में आ गए जिसमे केवल्य 1000 करोड़ की सम्पति के साथ देश के १०३६वे स्थान पर रहे व्ही आदित 1200 करोड़ की सम्पति के साथ देश के 950 वे स्थान पर है।केवल्य और आदित भारत के सबसे कम उम्र के अरबपति बनगए है कैवल्य बेंगलुरु में पले बड़े हुए और वही पर इनकी पढ़ाई हुई  पर इनका पढ़ाई में मन नहीं लगा और इन्होने कुछ अलग करने की सोची और सफलता हासिल की