Success Story: आलू- प्याज बेचने वाले की बेटी ने किया BPSC क्रैक, तीसरे अटेम्‍प्‍ट में मिली 307वीं रैंक

जूही ने अपनी सफलता के लिए अपने बड़े भाई को प्रेरणा स्त्रोत बताते हुए अपने पिता द्वारा कदम कदम पर हिम्मत बढ़ाने वाला बताया. रिजल्ट की खबर सुनते ही जूही के पिता अनिरुद्ध प्रसाद गुप्ता भावुक होकर रोने लगे. उन्हें कहा कि उन्‍हें अपनी बेटी पर बहुत गर्व है.

 
juhi

Success Story: सारण जिले के मढौरा खुर्द की रहने वाली जूही कुमारी ने 66वीं बीपीएससी परीक्षा पास कर की है. बिहार लोक सेवा आयोग भर्ती का रिजल्ट जारी होने के बाद से ही परिवार में खुशियों का उजाला छा गया है. जूही कुमारी तीन बहन और एक भाई में सबसे छोटी हैं.

जूही के पिता आलू प्याज के थोक विक्रेता हैं. वह मढौरा में आलू प्याज बेचकर अपनी सबसे छोटी बेटी को पढ़ाने का हर सम्भव प्रयास करते हैं और कदम कदम पर सहारा देकर उत्साह बढ़ाने का काम करते हैं.

j

रिजल्ट की खबर सुनते ही जूही के पिता अनिरुद्ध प्रसाद गुप्ता भावुक होकर रोने लगे. उन्हें कहा कि उन्‍हें अपनी बेटी पर बहुत गर्व है. जूही की इंटरमीडिएट तक पढ़ाई मढौरा में हुई जबकि ग्रेजुएशन छपरा से हुई है. वह दो बार मेन्‍स की परीक्षा में असफल होने के बाद तीसरे अटेम्‍प्‍ट में सफल हुई हैं. जूही ने परीक्षा में 307वीं रैंक हासिल की है.

जूही ने अपनी सफलता के लिए अपने बड़े भाई को प्रेरणा स्त्रोत बताते हुए अपने पिता द्वारा कदम कदम पर हिम्मत बढ़ाने वाला बताया. लगातार BPSC में असफलता के बावजूद उनके पिता ने जूही की हिम्मत को टूटने नही दिया जिसका रिजल्‍ट आज BPSC में जूही की सफलता है.