​​IAS Success Story: राजस्थान के छोटे से गांव की वंदना ने 16 घंटे पढ़ाई कर पास की UPSC परीक्षा,वंदना मीणा बनीं IAS
 
IAS

Success Story, IAS Vandana Meena: मन में कुछ करने का जज्बा हो और इरादे मजबूत हों तो कोई भी राह मुश्किल नहीं होती है. राजस्थान की रहने वाली वंदना मीणा ने अपनी पढ़ाई-लिखाई दिल्ली से की है.

वह बचपन से ही पढ़ाई में काफी होशियार थीं और अपने लक्ष्यों को लेकर बिल्कुल स्पष्ट भी. उनके पिता दिल्ली पुलिस में हैं. वंदना मीणा ने देश की सबसे कठिन परीक्षा (UPSC Exam) पास करके सिर्फ अपने परिवार का ही नहीं, बल्कि पूरे गांव का नाम रोशन किया है. जानिए आईएएस वंदना मीणा की सक्सेस स्टोरी 

 IAS Vandana Meena Family: आईएएस वंदना मीणा राजस्थान के एक छोटे से गांव टोकसी की रहने वाली हैं (Toksi, Rajasthan). शुरुआती कुछ साल गांव में बिताने के बाद वह अपने माता-पिता के साथ दिल्ली शिफ्ट हो गई थीं. उनके पिता पृथ्वीराज मीणा दिल्ली पुलिस (Delhi Police) में हैं और मां संपति देवी होममेकर हैं. वंदना मीणा की बचपन से ही पढ़ाई में काफी रुचि थी और अपनी प्रतिभा के दम पर ही वह आईएएस ऑफिसर बन पाईं (Female IAS Officer).

IAS Vandana Meena Family: आईएएस वंदना मीणा राजस्थान के एक छोटे से गांव टोकसी की रहने वाली हैं (Toksi, Rajasthan). शुरुआती कुछ साल गांव में बिताने के बाद वह अपने माता-पिता के साथ दिल्ली शिफ्ट हो गई थीं. उनके पिता पृथ्वीराज मीणा दिल्ली पुलिस (Delhi Police) में हैं और मां संपति देवी होममेकर हैं.

वंदना मीणा की बचपन से ही पढ़ाई में काफी रुचि थी और अपनी प्रतिभा के दम पर ही वह आईएएस ऑफिसर बन पाईं (Female IAS Officer).

 IAS Vandana Meena Education: आईएएस वंदना मीणा ने सवाई माधोपुर की गंगापुर सिटी के ज्ञान रश्मि सीनियर सेकंडरी स्कूल से प्राइमरी एजुकेशन की शुरुआत की थी. दिल्ली में उन्होंने सेंट कोलंबस स्कूल से पढ़ाई की थी. वंदना ने दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) के आचार्य नरेंद्र जैन कॉलेज से मैथ ऑनर्स की डिग्री हासिल की है. अपने दोनों ही स्कूलों से वह पहली आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) हैं.

IAS Vandana Meena Education: आईएएस वंदना मीणा ने सवाई माधोपुर की गंगापुर सिटी के ज्ञान रश्मि सीनियर सेकंडरी स्कूल से प्राइमरी एजुकेशन की शुरुआत की थी. दिल्ली में उन्होंने सेंट कोलंबस स्कूल से पढ़ाई की थी. वंदना ने दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) के आचार्य नरेंद्र जैन कॉलेज से मैथ ऑनर्स की डिग्री हासिल की है. अपने दोनों ही स्कूलों से वह पहली आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) हैं.

 IAS Vandana Meena UPSC: आईएएस वंदना मीणा का मानना है कि सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता है. इस मुकाम को हासिल करने के लिए परीक्षा के दौरान वह रोज़ाना 15-16 घंटे पढ़ाई करती थीं (UPSC Exam Preparation Tips). साल के बाकी दिनों में भी उन्होंने रोज़ाना 10 घंटे तक पढ़ाई की (UPSC Exam Study Schedule). स्कूल-कॉलेज में भी उन्होंने हमेशा बेहतरीन अंक हासिल किए थे. 

IAS Vandana Meena UPSC: आईएएस वंदना मीणा का मानना है कि सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता है. इस मुकाम को हासिल करने के लिए परीक्षा के दौरान वह रोज़ाना 15-16 घंटे पढ़ाई करती थीं (UPSC Exam Preparation Tips). साल के बाकी दिनों में भी उन्होंने रोज़ाना 10 घंटे तक पढ़ाई की (UPSC Exam Study Schedule). स्कूल-कॉलेज में भी उन्होंने हमेशा बेहतरीन अंक हासिल किए थे.

 IAS Vandana Meena Rank: आईएएस वंदना मीणा ने साल 2021 की यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) में ऑल इंडिया लेवल पर 331वीं रैंक हासिल की थी (IAS Vandana Meena UPSC Rank). यूपीएससी परीक्षा का रिजल्ट (UPSC Result) घोषित हो जाने के बाद वह अपने दोनों स्कूलों में विज़िट करने गई थीं, जहां उनका काफी सम्मान हुआ. वह अपनी गांव की पहली आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) हैं. 

IAS Vandana Meena Rank: आईएएस वंदना मीणा ने साल 2021 की यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) में ऑल इंडिया लेवल पर 331वीं रैंक हासिल की थी (IAS Vandana Meena UPSC Rank). यूपीएससी परीक्षा का रिजल्ट (UPSC Result) घोषित हो जाने के बाद वह अपने दोनों स्कूलों में विज़िट करने गई थीं, जहां उनका काफी सम्मान हुआ. वह अपनी गांव की पहली आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) हैं.

 IAS Vandana Meena: आईएएस वंदना मीणा अपने गांव की लड़कियों के लिए सबसे बड़ी प्रेरणा हैं. यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के बाद वह अपने गांव गई थीं, जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया था. उनके परिजनों ने उनको तौल कर उनके वजन के बराबर फल और मिठाइयां गांव में बांटी थीं. वंदना सोशल मीडिया पर भी एक्टिव रहती हैं. वह अपनी जिंदगी के पन्ने इंस्टाग्राम पर शेयर करती रहती हैं. उनका यूट्यूब पर भी चैनल है.

IAS Vandana Meena: आईएएस वंदना मीणा अपने गांव की लड़कियों के लिए सबसे बड़ी प्रेरणा हैं. यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के बाद वह अपने गांव गई थीं, जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया था. उनके परिजनों ने उनको तौल कर उनके वजन के बराबर फल और मिठाइयां गांव में बांटी थीं.

वंदना सोशल मीडिया पर भी एक्टिव रहती हैं. वह अपनी जिंदगी के पन्ने इंस्टाग्राम पर शेयर करती रहती हैं. उनका यूट्यूब पर भी चैनल है.