हरियाणा के 5 दोस्तों ने रचा इतिहास, सुगंधित पौधों की खेती कर कमा रहे हैं 50 हजार रूपए
 
ryeher

हरियाणा के पांच किसान दोस्तों ने सुगंधित पौधों की खेती से दोगुना मुनाफा कमाया है. आखिर कौन से हैं वह सुगंधित पौधे, जानने के लिए पढ़िए इस लेख को विस्तार से.

  Updated on 13 May

Success Story of Five Kisan Farmer

कहते हैं अगर कुछ बड़ा करने का जज्बा और चाहत हो तो कोई काम मुश्किल नहीं होता है. बस जरुरत होती है तो मेहनत,लगन और हिम्मत की. एक ऐसा ही उधाहरण हरियाणा राज्य के पानीपत से सामने आया है. जहां के कुछ किसानों ने मिलकर सुगंधित पौधों की खेती की है. जिसमें सभी किसान भाई एक एकड़ में करीब 50 हजार रूपए की कमाई कर रहे हैं.

आपको बता दें हरियाणा के पानीपत क्षेत्र के पांच किसान दोस्तों ने पारंपरिक तरीके की खेती से घाटा मिलने पर सुगंधित पौधों की खेती की तरह अपना कदम आगे बढ़ाया है. जिसमें उन्होंने बड़ी सफलता हासिल की है.

सुगंधित पौधों की खेती से कितनी हो रही है कमाई

किसान भाईयों का कहना है कि उन्होंने करीब 25 एकड़ खेत में सुगंधित पौधों की खेती की है. जिसमें प्रति एकड़ खेत से करीब 50 हजार रुपए तक की अच्छी बचत कर रहे हैं. इसके अलावा इन पांच दोस्तों से प्रेरित होकर आसपास के सभी किसान भी सुगंधित पौधों की खेती के तरफ अपनी दिलचस्पी दिखाते नजर आ रहे हैं.

कब शुरू की थी सुगंधित पौधों की खेती

सुगंधित पौधों की खेती की शुरुआत इन किसान भाइयों ने करीब पांच साल पहले की थी. जिनके नाम इस प्रकार हैं- ढ़ाबीटेक सिंह, निवासी विनोद, नारायणगढ़ निवासी मिठन लाल सैनी, उझाना निवासी बलिंद्र कुमार, नारायणगढ़ निवासी आशोक, ताराचंद व गढ़ी निवासी राजेश आदि.

इसी बीच विनाद और मिठन लाल सैनी का कहना है कि पहले वह सब्जियों की खेती करते थे लेकिन खेती से अधिक मुनाफा ना मिलने की वजह से काफी घाटे में चले गये थे. उस दौरान एक जानकार से सुगंधित पौधों की खेती के बारे में जाना और उसमें अपनी किस्मत आजमाई.

किन सुगंधित पौधों की खेती कर रहे हैं

बता दें पांचों दोस्तों ने अपने खेत में तुलसी, पुदीना, गुलाब, खसखस व मेंथा की खेती कर रखी है. इसके अलावा अपने खेत में विभिन्न प्रकार के पौधों की खेती भी कर रखी है. इसी बीच किसानों का कहना है कि इन सुगंधित पौधों का तेल भी निकालकर वह बेच रहे हैं, जिससे उन्हें अच्छा मुनाफा हो रहा है.

50 हजार रूपए की हो रही बचत (50 Thousand Rupees Savings)

किसानों का कहना है कि एक एकड़ में सुंगधित पौधे की खेती के लिए करीब 20 हजार रुपये की लागत लगती है, जिसमें उन्हें करीब 70 हजार रुपये का मुनाफा प्राप्त हुआ है. यह सभी किसान भाई अपनी आमदनी से सारे खर्च निकालकर प्रति एकड़ से करीब 50 हजार रुपये की बचत कर लेते हैं.